भारत की अंकिता रैना ITF टेनिस महिला ओपन के फाइनल में, 15 साल की ब्रेंडा से होगा सामना

ऋतुजा के खिलाफ शॉट रिटर्न करती हुई अंकिता रैना।
ऋतुजा के खिलाफ शॉट रिटर्न करती हुई अंकिता रैना

भारत की टॉप महिला टेनिस खिलाड़ी अंकिता रैना बेंगलुरु में खेले जा रहे ITF टेनिस ओपन के फाइनल में पहुंच गई हैं। चौथी वरीयता प्राप्त अंकिता ने सेमीफाइनल में भारत की ही ऋतुजा भोंसले को आसानी से 6-1, 6-1 से मात दी। 30 साल की अंकिता 23वीं बार किसी ITF इवेंट के फाइनल में पहुंची हैं जिनमें से 11 बार वह खिताब जीत चुकी हैं। आखिरी बार अंकिता ने पिछले साल जोधपुर में हुए ITF टूर्नामेंट को जीता था।

मैच के बाद अंकिता ने अपनी तैयारी पर खुशी जाहिर की। उन्होंने कहा,

हर मुकाबला अलग होता है और आपको मानसिक एवं शारीरिक, दोनों रूप से खुद को सर्वश्रेष्ठ स्थिति में रखना होता है। कई बार आप 100 फीसदी फिट महसूस नहीं करते लेकिन ऐसे में भी आपको अपने दिमाग को मजबूत बनाते हुए शरीर को पूरा जोर लगाने पर मजबूर करना होता है। मैंने काफी स्ट्रेटेजी बनाकर खेला और जैसा मेरे कोच ने समझाया, उसी तरह प्रदर्शन की कोशिश की।

खिताबी मुकाबले में अंकिता का सामना विश्व नंबर 163 और टूर्नामेंट में टॉप सीड चेक रिपब्लिक की ब्रेंडा फ्रुहवितरोवा से होगा। ब्रेंडा ने दूसरे सेमीफाइनल में पांचवी वरीयता प्राप्त स्लोवेनिया की डेलिला जाकुपोविच को 7-6, 6-2 से हराया। ब्रेंडा इस साल जनवरी में महज 15 साल की उम्र में ब्रेंडा ने ऑस्ट्रेलियन ओपन के मेन ड्रॉ में जगह बनाते हुए सनसनी फैलाई थी। अब अंकिता के सामने इस युवा खिलाड़ी को मात देने की कड़ी चुनौती होगी। अंकिता ने इस टूर्नामेंट में अभी तक अपने से ऊंची रैंकिंग की खिलाड़ी के खिलाफ मैच नहीं खेला है। अंकिता मैच जीत खिताब पाने के लिए काफी उत्साहित हैं। उन्होंने इसको लेकर कहा,

मैं ब्रेंडा के खिलाफ करियर में पहली बार खेलूंगी। अपने कोच के साथ रणनीति तैयार करने पर ध्यान देना होगा। मैं अब फाइनल खेलने के लिए काफी उत्साहित हूं और भारत के लिए एक और ट्रॉफी पाने के लिए बेताब भी हूं।

प्रतियोगिता के महिला डबल्स फाइनल में टॉप सीड पुर्तगाल की मतिल्डे-फ्रांसिस्का की जोड़ी ने खिताब जीता। दोनों ने ब्रिटेन की ईडेन सिल्वा और ग्रीस की वैलेंटिनी को 5-7, 6-0, 10-3 से हराया।

Edited by Prashant Kumar
App download animated image Get the free App now