इंडियन वेल्स : टेलर फ्रिट्ज ने राफेल नडाल को हराकर जीता खिताब, तोड़ा जीत का सिलसिला

नडाल पर जीत के बाद खुशी का इजहार करते 24 साल के टेलर फ्रिट्ज।
नडाल पर जीत के बाद खुशी का इजहार करते 24 साल के टेलर फ्रिट्ज।

अमेरिका के टेलर फ्रिट्ज ने इंडियन वेल्स मास्टर्स के फाइनल में पूर्व विश्व नंबर 1 और चौथी वरीयता प्राप्त राफेल नडाल को हराकर खिताब अपने नाम कर लिया है। 20वीं वरीयता प्राप्त फ्रिट्ज ने सिर्फ खिताब नहीं जीता बल्कि इस सीजन नडाल को उनकी पहली हार भी दिलाई है। फ्रिट्ज ने नडाल को 2 घंटे से भी ज्यादा लंबे चले मैच में 6-3, 7-6 से मात दी। नडाल ने इस सीजन लगातार 20 मैच जीते थे लेकिन 24 साल के फ्रिट्ज ने उनकी जीत के रथ को रोक दिया।

रोमाचंक सेकेंड सेट में अटकी सांसे

एक समय पहले सेट में फ्रिट्ज ने 4-0 की बढ़त ले ली थी। लेकिन नडाल ने वापसी करते हुए 3 गेम जरूर जीते। फ्रिट्ज ने पहला सेट 6-3 से अपने नाम किया। दूसरे सेट में फ्रिट्ज ने पहला गेम और नडाल ने दूसरा गेम जीता। स्कोर 1-1 से बराबर हुआ। तीसरे गेम में नडाल ने फ्रिट्ज की सर्विक ब्रेक की और 2-1 की लीड ले ली। इसके बाद दोनों खिलाड़ियों के बीच बेहद कड़ा मुकाबला देखने को मिला। एक-एक अंक के लिए लंबी रैलियां खेली गईं। स्कोर 4-4 होने के बाद नडाल ने फीजियो की मदद भी ली क्योंकि वह अपनी मांसपेशियों में खिंचाव महसूस कर रहे थे।

चोट के बावजूद जीता मैच

टेलर फ्रिट्ज ने करियर का पहला एटीपी 1000 मास्टर्स खिताब जीता है।
टेलर फ्रिट्ज ने करियर का पहला एटीपी 1000 मास्टर्स खिताब जीता है।

दूसरे सेट के दसवें गेम में फ्रिट्ज 5-4 से आगे थे और उनके पास एक चैंपियनशिप प्वाइंट था, लेकिन नडाल ने बेहतरीन वापसी की और स्कोर 5-5 कर लिया। दोनों ने एक-एक गेम और जीता और 6-6 के स्कोर के साथ सेट टाइब्रेक में गया। यहां फ्रिट्ज ने आखिरकार 7-5 से बाजी मारी और सेट 7-6 से जीतते हुए चैंपियनशिप अपने नाम कर ली।

फ्रिट्ज साल 21 साल बाद इंडियन वेल्स का खिताब जीतने वाले पहले अमेरिकी पुरुष सिंगल्स खिलाड़ी हैं। आखिरी बार 2001 में अमेरिका के आंद्रे आगासी ने ये खिताब जीता था। मैच से पहले खबरें आ रही थीं कि फ्रिट्ज ने प्रैक्टिस सेशन के दौरान पैर को चोटिल कर लिया है, लेकिन फ्रिट्ज के पूरे खेल में ऐसी कोई कमी नहीं दिखी। खिताब के साथ ही फ्रिट्ज को ईनामी राशि के रूप में 1.2 मिलियन अमेरिकी डॉलर की राशि भी मिली।

दर्शकों का भरपूर समर्थन

मैच में तेज हवाओं ने दोनों खिलाड़ियों के खेल को प्रभावित किया। गेंद का रुख कई बार सिर्फ हवाओं की वजह से बदलता रहा। एरिना में मौजूद दर्शकों ने अपने घरेलू खिलाड़ी फ्रिट्ज का साथ तो दिया ही लेकिन स्पेन के राफेल नडाल को दर्शकों का और भी ज्यादा समर्थन मिला। पीठ में खिंचाव और मांसपेशियों में दिक्कत के बावजूद नडाल ने दूसरे सेट में पूरे मैच का समा बांध दिया और फ्रिट्ज को कड़ी चुनौती दी। नडाल ने मैच के बाद फैंस और दर्शकों को धन्यवाद भी कहा। मैच के बाद फ्रिट्ज ने कहा कि उन्हें जीत पर यकीन नहीं हो रहा और काफी भावुक भी हुए। फ्रिट्ज पिछले साल टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में पहुंचे थे और इस बार अपना पहला करियर एटीपी 1000 मास्टर्स टूर्नामेंट जीतने में कामयाब रहे।

App download animated image Get the free App now