Create
Notifications

सानिया मिर्ज़ा के सलाहकार रह चुके पूर्व दिग्गज भारतीय टेनिस खिलाड़ी अख़्तर अली का निधन

मध्य में अख़्तर अली (Akhtar Ali) - तस्वीर साभार: India TV
मध्य में अख़्तर अली (Akhtar Ali) - तस्वीर साभार: India TV
Irshad
ANALYST
Modified 07 Feb 2021
न्यूज़

लिएंडर पेस (Leander Paes), विजय अमृतराज (Vijay Amritraj), रमेश कृष्णन (Ramesh Krishnan) और आनंद अमृतराज (Anand Amritraj) के साथ-साथ कई खिलाड़ियों को कोचिंग दे चुके अख़्तर अली (Akhtar Ali) का रविवार की अहले सुबह निधन हो गया। 81 वर्षीय अख्तर जूनियर राष्ट्रीय चैंपियन और भारत की डेविस कप टीमों में नियमित रूप से खेलने वाले खिलाड़ी थे।

ख़बरों के मुताबिक़ ये भारतीय खिलाड़ी पार्किंसंस रोग और डिमेंशिया सहित कई बीमारियों से ग्रसित थे। हाल ही में दो सप्ताह पहले उन्हें कोलकाता के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उनके प्रोस्टेट कैंसर की भी पुष्टि हुई थी। लेकिन अख़्तर अली की ज़्यादा उम्र होने की वजह से डॉक्टरों ने इलाज की सलाह नहीं दी।

अख़्तर अली को उनके प्रदर्शन और भारत में टेनिस के क्षेत्र में अहम योदगान देने के लिए अर्जुन पुरस्कार से भी नवाज़ा गया था।

उन्होंने 1955 में जूनियर राष्ट्रीय खिताब जीतने के बाद भारतीय टेनिस में अपनी एक अलग पहचान बना ली थी।

अख्तर अली जूनियर विंबलडन के सेमीफाइनल में भी जगह बनाने वाले खिलाड़ियों की फ़ेहरिस्त में शामिल हैं। इसके अलावा उन्होंने 1958 से 1964 तक डेविस कप में भारत का प्रतिनिधित्व भी किया था।

अख़्तर अली आगे चलकर भारतीय डेविस कप टीम के कप्तान भी रह चुके थे और कई सालों तक वह भारतीय टेनिस टीम के कोच भी रहे।

अपने कोचिंग के के दौरान ही अख्तर अली ने ओलंपिक कांस्य-पदक विजेता लिएंडर पेस (Leander Paes) के करियर को आगे बढ़ाने में भी मदद की थी। पेस के अलावा उन्होंने कई दिग्गज भारतीय खिलाड़ियों को भी कोचिंग दी , जिसमें विजय अमृतराज ( Vijay Amritraj), रमेश कृष्णन (Ramesh Krishnan) और आनंद अमृतराज (Anand Amritraj) जैसे बड़े नाम भी शामिल हैं।

भारतीय स्टार महिला खिलाड़ी सानिया मिर्ज़ा (Sania Mirza) के शुरुआती सालों में वह उनके सलाहकार भी रह चुके हैं।

अख़्तर अली ने अपने पीछे भी टेनिस की विरासत छोड़ी थी, उनके सुपुत्र अली ज़िशान अली 1988 सियोल ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व भी कर चुके हैं और मौजूदा समय में वह भारतीय डेविस कप टीम के कोच भी हैं।

अख़्तर अली के निधन की ख़बरें सुनकर कई दिग्गज खिलाड़ियों ने भी उन्हें श्रद्धांजलि दी और इसे टेनिस जगत के लिए क्षति बताया।

भारत सरकार में पूर्व खेल मंत्री रहे और ओलंपिक पदक विजेता राज्यवर्धन सिंह राठोर (Rajyavardhan Singh Rathore) ने भी अख़्तर अली के निधन को गहरा आघात बताया।

एक और भारतीय टेनिस खिलाड़ी सोमदेव देववर्मन (Somdev Devvarman) ने भी उनके लिए अपनी संवेदना ज़ाहिर की।

Published 07 Feb 2021
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now