Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

प्रो वॅालीबॅाल लीग के साथ जुड़ी पीवी सिंधू

CONTRIBUTOR
न्यूज़
67   //    Timeless

Enter caption
Enter caption

रियो ओलंपिक सिल्वर मेडलिस्ट और वर्तमान में विश्व की नंबर 2 बैडमिंटन खिलाड़ी पी.वी. सिंधु ने प्रो वॉलीबॉल लीग के प्रचारक के तौर पर भारत में इस खेल को सहयोग देने का बीड़ा उठाया है। प्रो वॉलीबॉल लीग ने वॉलीबॉल के महान अमेरिकी खिलाड़ी और 2 बार के ओलंपिक मेडलिस्ट डेविड ली को भी लिया है, जो लीग के उद्घाटन संस्करण का हिस्सा होंगे। दोनों सितारों ने लीग के प्रमोशनल वीडियो के लिये शूटिंग की और उनके साथ भारत के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी थे। यह लीग फरवरी 2019 में खेली जाएगी।

सिंधु का वॉलीबॉल के प्रति आकर्षित होना स्वाभाविक है, क्योंकि उनके माता-पिता बड़े स्तर पर इस खेल को खेल चुके हैं। उनके पिता रामाना उस भारतीय वॉलीबॉल टीम के सदस्य थे, जिसने 1986 के सियोल एशियन गेम्स में कांस्य पदक जीता था। इस खेल में उनके योगदान के लिये उन्हें वर्ष 2000 में अर्जुन अवार्ड मिला था। सिंधु की माता विजया ने भी राष्ट्रीय स्तर पर यह खेल खेला है और रेल्वे का प्रतिनिधित्व किया है।

सिंधु ने कहा, ‘‘मैं यही सुनकर बड़ी हुई हूँ कि मेरे माता-पिता वॉलीबॉल खेलते थे और उन्होंने विभिन्न आयोजनों में अपनी टीमों और देश का प्रतिनिधित्व किया है। यह बहुत ऊर्जा वाला और देखने लायक खेल है। प्रो वॉलीबॉल लीग से इस खेल को बढ़ावा मिलेगा और डेविड ली के आने से सभी खिलाड़ियों को उनके अनुभव से सीखने का मौका मिलेग

दो बार के ओलंपिक मेडलिस्ट और विश्व कप जीतने वाले अमेरिकन खिलाड़ी डेविड ली का नाम हर वॉलीबॉल प्रेमी जानता है। उन्होंने सात देशों में पेशेवर तौर पर यह खेल खेला है और कई चैम्पियनशिप जीती हैं। उनकी लंबाई 6 फीट 8 इंच है और एल्पाइन में जन्मा यह खिलाड़ी अपनी ब्लॉकिंग क्षमता के लिये प्रसिद्ध है। ली ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि लीग से इस खेल को देश में बढ़ावा मिलेगा और खिलाड़ियों की कुशलता निखरेगी। मैंने पूरी दुनिया में प्रोफेशनल वॉलीबॉल खेला है और मैं वाकई में भारत से नई चुनौती चाहता हूँ।’’

प्रो वॉलीबॉल लीग में भारत के शीर्ष खिलाड़ी भाग लेंगे, जैसे मोहन उकरापंडियन, रणजीत सिंह, अखिन जस, दीपेश सिन्हा, गुरिंदर सिंह और प्रभागर्न, आदि। मोहन वर्तमान में भारतीय वॉलीबॉल टीम के कप्तान हैं और एशिया के सर्वश्रेष्ठ सेटर्स में से एक हैं तथा लगभग एक दशक से भारतीय टीम का हिस्सा हैं।

मोहन ने कहा, ‘‘मैं प्रो वॉलीबॉल लीग के आयोजकों और वॉलीबॉल फेडरेशन ऑफ इंडिया को भारत में इस प्रोफेशनल लीग की व्यवस्था करने के लिये धन्यवाद देता हूँ। यह सभी खिलाड़ियों के लिए एक शानदार मंच होने जा रहा है जहां उन्‍हें विश्व की शीर्ष प्रतिभाओं के साथ खेलने का मौका मिलेगा।’’ वॉलीबॉल 220 देशों में खेला जाता है और सच्चे अर्थों में वैश्विक टीम स्पोर्ट के संदर्भ में इसका स्‍थान फुटबॉल के बाद आता है, इसके लगभग एक बिलियन प्रशंसक हैं।

जॉय भट्टाचार्ज्‍या, सीईओ, प्रो वॉलीबॉल लीग ने कहा, “गेम की स्‍पीड और आंखों को भाने वाला बेहतरीन ऐक्‍शन वॉलीबॉल को एक आदर्श टेलीविजन स्‍पोर्ट बनायेगा। भारत में वॉलीबॉल को लेकर असीम सामर्थ्‍य है और इस लीग की मदद से, हमारा उद्देश्‍य वास्‍तव में इस गेम को एक परफेक्‍ट मंच प्रदान करना और इसे पहले से कहीं अधिक बेहतर बनाना है।”


 

Advertisement
Advertisement
Fetching more content...