कलाई में चोट के बावजूद मीराबाई चानू ने विश्व चैंपियनशिप में जीता सिल्वर मेडल

मीराबाई ने साल 2017 में विश्व चैंपियनशिप गोल्ड जीता था।
मीराबाई ने साल 2017 में विश्व चैंपियनशिप गोल्ड जीता था

भारत की मीराबाई चानू ने कोलंबिया में हो रही विश्व वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप में शानदार प्रदर्शन करते हुए सिल्वर मेडल हासिल किया है। चानू ने टोक्यो ओलंपिक की गोल्ड मेडल विजेता चीन की हो जीहुई को मात दी जिन्हें तीसरा स्थान मिला। टोक्यो ओलंपिक में सिल्वर हासिल करने वाली चानू ने कुल 200 किलोग्राम भार उठाकर ये मुकाम हासिल किया।

बोगोटा में हो रही इस प्रतियोगिता के 49 किलोग्राम भार वर्ग में चानू मेडल की प्रबल दावेदार पहले से ही मानी जा रही थीं। चानू ने स्नैच में पहले प्रयास में 85 किलोग्राम भार उठाया लेकिन दूसरे प्रयास में 87 किलो वजन उठाने में नाकामयाब रहीं। तीसरे प्रयास में चानू ने सफलता से 87 किलो वेट उठाया। क्लीन एंड जर्क में चानू ने कुल 113 किलो का भार उठाया। उनका कुल भार 200 किलो का रहा।

पहले स्थान पर रहीं चीन की जियांग हुईहुआ ने कुल 206 किलो भार उठाने में कामयाबी हासिल की। जियांग ने स्नैच में 93 किलो जबकि क्लीन एंड जर्क में मीराबाई चानू के बराबर ही 113 भार उठाया। टोक्यो ओलंपिक गोल्ड मेडल विजेता चीन की होउ झीहुई ने 198 किलो भार के साथ कांस्य पदक जीता।

मीराबाई चानू का ये दूसरा विश्व चैंपियनशिप मेडल है। साल 2017 में उन्होंने गोल्ड मेडल जीता था। पिछले साल ओलंपिक खेलों में सिल्वर मेडल जीतने वाली चानू ने इसी साल जुलाई में कॉमनवेल्थ गेम्स में भी गोल्ड मेडल हासिल किया। प्रतियोगिता का आयोजन इस साल चीन में होना था लेकिन कोविड-19 को लेकर सख्त रूख अपनाने के कारण चीन में प्रतियागिता आयोजित न होकर कोलंबिया को मेजबान चुना गया।

भारत की ओर से चानू समेत कुल 4 वेटलिफ्टर इस प्रतियोगिता का हिस्सा बन रहे हैं। महिलाओं की 59 किलो वेट कैटेगरी में बिंदियारानी देवी हिस्सा लेंगी। वहीं कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में रिकॉर्ड बनाकर गोल्ड जीतने वाले अचिंता श्यूली 73 किलो भार वर्ग में जबकि कांस्य जीतने वाले गुरदीप सिंह 109+किलो वेट कैटेगरी में देश का प्रतिनिधित्व करेंगे।

Edited by Prashant Kumar
App download animated image Get the free App now