Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

Rio 2016 में हिस्सा ले रहीं भारतीय महिला रेसलरों का विश्लेषण

EXPERT COLUMNIST
Modified 16 Aug 2016, 16:55 IST
Advertisement
एक ऐसा खेल जिसमें भारतीय एथलीट विश्व स्तर के हैं और मेडल की उम्मीदें भी हैं, रियो ओलंपिक्स में रेसलिंग बस शुरू ही होने वाला है। 8 मजबूत रेसलरों के साथ भारत रियो गया है और कम-से-कम दो पदक के आने की उम्मीद है। ओलंपिक्स में रेसलिंग इवेंट में पिछले दो ओलंपिक में भारत का प्रदर्शन अच्छा रहा है और अभी तक तीन पदक आये हैं। 2008 बीजिंग ओलंपिक्स में सुशिल कुमार ने जहाँ कांस्य पदक जीता था, वहीँ 2012 लंदन ओलंपिक्स में उन्होंने रजत पदक जीता। 2012 में ही योगेश्वर दत्त ने कांस्य पदक जीता था। सभी समस्याओं को पीछे छोड़ते हुए नरसिंह यादव पदक की आस में रियो पहुँच गए हैं। उनके अलावा संभवतः अपने आखिरी ओलंपिक में हिस्सा ले रहे योगेश्वर दत्त से भी पदक की उम्मीदें हैं। इनके अलावा रियो ओलंपिक्स में तीन भारतीय महिला रेसलर भी हिस्सा ले रही हैं और पहली बार ओलंपिक्स में एक से ज्यादा भारतीय महिला रेसलर हिस्सा ले रही हैं। भारतीय महिलाओं ने अभी तक विश्व स्तर पर काफी बढ़िया प्रदर्शन किया है लेकिन अभी तक कोई ओलंपिक पदक नहीं जीत पाई हैं। इस बार विनेश फोगट, साक्षी मालिक और बबिता कुमारी की तिकड़ी महिला रेसलिंग में भारत के लिए पदक जीतकर इतिहास रचने के लिए तैयार हैं। आइये नज़र डालते हैं इन तीनों और इनके मेडल जीतने के उम्मीदों पर:  # विनेश फोगट Screenshot (526) 21 साल की ये रेसलर जब भी मैट पर उतरती हैं तो काफी खतरनाक दिखती हैं और उनके हमले काफी शानदार रहते हैं। भारत की तरफ से विनेश 48kg वर्ग में उतर रही हैं और महिला रेसलिंग में पदक की सबसे बड़े दावेदारों में एक है। पहले विश्व क्वालिफिकेशन में वो वजन में 400g ज्यादा होने के कारण ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने से चूक गईं थी। लेकिन दूसरे विश्व क्वालिफिकेशन में उन्होंने स्वर्ण पदक जीतकर रियो के लिए क्वालीफाई किया। इस दौरान उन्होंने 2014 वर्ल्ड चैंपियनशिप की रजत पदक विजेता इवोना मत्कोव्सका को हराया था। JSW स्पोर्ट्स एक्सीलेंस प्रोग्राम की एथलीट विनेश ने इंग्लैंड की याना रटिगन को हराकर 2014 कॉमनवेल्थ खेलों का स्वर्ण पदक जीता था और उसके बाद से पीछे मुड़कर नहीं देखा है। उन्होंने उसी साल एशियाई खेलों में कांस्य पदक जीता था। दोहा में हुए एशियाई रेसलिंग चैंपियनशिप में उन्होंने रजत पदक भी जीत लिया। पिछले साल के अंत में हुए प्रो-रेसलिंग लीग में विनेश सबसे शानदार रेसलरों में शामिल थीं और लगभग हर लड़ाई को तकनिकी तौर पर जीतते हुए  वो अपराजित रहीं थी। उसके बाद नेशनल चैंपियनशिप में भी उन्होंने सभी मैच जीते। विनेश अपने पहले ओलंपिक में हिस्सा ले रही हैं लेकिन उनमें काबिलियत है कि वो भारत के लिए पदक लेकर आयें।
1 / 3 NEXT
Published 16 Aug 2016, 16:55 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit