2023 में भारत करेगा एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप की मेजबानी, दिल्ली में होगा आयोजन

नई दिल्ली इससे पहले कुल 6 बार एशियाई चैंपियनशिप की मेजबानी कर चुका है।
नई दिल्ली इससे पहले कुल 6 बार एशियाई चैंपियनशिप की मेजबानी कर चुका है।

देश की राजधानी नई दिल्ली को 2023 एशियाई कुश्ती (रेसलिंग) चैंपियनशिप के लिए मेजबान के रूप में चुना गया है। विश्व में एमेच्योर कुश्ती की गवर्निंग बॉडी UWW यानी United World Wrestling ने प्रतियोगिता की तारीख का ऐलान करते हुए नई दिल्ली को आयोजन की जिम्मेदारी सौंपी है। टूर्नामेंट का आयोजन 28 मार्च 2023 से 2 अप्रैल 2023 के बीच होगा। नई दिल्ली में 2020 में भी इस प्रतियोगिता का सफलतापूर्वक आयोजन किया गया था।

2023 के संस्करण में महिलाओं और पुरुषों की फ्री स्टाइल, और पुरुषों की ग्रीको-रोमन पहलवानी में अलग-अलग कैटेगरी में मुकाबले होंगे। प्रतियोगिता के जरिए सितंबर 2023 में होने वाली विश्व चैंपियनशिप के लिए पहलवानों की वरीयता तय करने में सुविधा होगी। एशियाई रेसलिंग चैंपियनशिप का आयोजन AAWC यानी Asian Associated Wrestling Committee की देखरेख में किया जाता है।

2023 का ये संस्करण इस लिहाज से खास है क्योंकि टूर्नामेंट के जरिए जो खिलाड़ी विश्व चैंपियनशिप में खेलने का मौका पाएंगे, उन्हें विश्व चैंपियनशिप में भाग लेते हुए पेरिस ओलंपिक 2024 के लिए कोटा हासिल करने का मौका मिलेगा। 2022 का संस्करण अप्रैल के महीने में मंगोलिया की राजधानी उलनबातोर में आयोजित हुआ था। भारतीय दल ने 1 गोल्ड, 5 सिल्वर और 11 ब्रॉन्ज समेत कुल 17 पदक जीते थे और पांचवा स्थान हासिल किया था। भारत को ये इकलौता गोल्ड टोक्यो ओलंपिक सिल्वर मेडलिस्ट रवि दाहिया ने दिलाया था।

नई दिल्ली में इससे पहले 1991, 2003, 2010, 2013, 2017 और 2020, कुल 6 बार एशियाई चैंपियनशिप आयोजित हो चुकी है और यह 7वीं बार होगा कि देश की राजधानी को प्रतियोगिता का होस्ट बनने का मौका मिलेगा। 2020 में आखिरी बार जब नई दिल्ली ने मेजबानी की थी तो भारतीय दल ने 5 गोल्ड समेत कुल 20 पदक जीत तीसरा स्थान हासिल किया था। खास बात ये है कि साल 1979 में पहली बार एशियाई चैंपियनशिप का आयोजन भारत में ही हुआ था और तब जालंधर ने इसकी मेजबानी की थी।

App download animated image Get the free App now