Create

सुशील कुमार के लिए दरवाजे बंद, रेसलिंग के फाइनल ओलंपिक क्‍वालीफायर में अमित धनकर को चुना गया

सुशील कुमार
सुशील कुमार

पूर्व एशियाई चैंपियन अमित धनकर (74 किग्रा) ने गुरुवार को आगामी विश्‍व ओलंपिक क्‍वालीफाइंग टूर्नामेंट में राष्‍ट्रीय गोल्‍ड मेडलिस्‍ट संदीप मन की जगह ली है, जिससे अनुभवी सुशील कुमार को राह समाप्‍त होने का संकेत मिल गया है। यह टूर्नामेंट बुल्‍गारिया के सोफिया में 6-9 मई के तब आयोजित होगा, जो टोक्‍यो ओलंपिक्‍स के पहले आखिरी क्‍वलीफाइंग इवेंट है। देश के दिग्‍गज एथलीट्स में से एक सुशील कुमार ने 2012 लंदन ओलंपिक्‍स में सिल्‍वर मेडल जीता था। 2008 बीजिंग ओलंपिक्‍स में उन्‍होंने ब्रॉन्‍ज मेडल जीता था।

चयन नहीं होने पर 37 साल के सुशील कुमार ने पीटीआई से बातचीत में कहा, 'इस चरण में जिंदा रहना ज्‍यादा महत्‍वपूर्ण है। मैंने डब्‍ल्‍यूएफआई से इस बारे में बात नहीं की है, जल्‍द ही उनसे बात करूंगा।' भारतीय रेसलिंग संघ (डब्‍ल्‍यूएफआई) ने चयन समिति की बैठक के बाद टीम का चयन किया। संघ ने प्रेस विज्ञप्ति जारी करके यह बात बताई। धनकर के अलावा फ्री स्‍टाइल टीम में सत्‍यव्रत कादियान (97 किग्रा) और सुमित (125 किग्रा) को भी शामिल किया गया है।

डब्‍ल्‍यूएफआई ने जारी विज्ञप्ति में कहा, 'फ्रीस्‍टाइल में समिति ने 74 किग्रा में बदलाए किए हैं। संदीम मन को एशियाई क्‍वालीफायर और एशियाई चैंपियनशिप के लिए चुना गया, लेकिन उनका प्रदर्शन संतुष्टिदायक नहीं रहा। इसलिए समिति ने फैसला किया है कि अमित धनकर को मौका दिया जाए, जिन्‍होंने 16 मार्च को आयोजित चयन ट्रायल्‍स में दूसरा स्‍थान हासिल किया था।'

ग्रीको रोमन टीम में भी हुए बदलाव

ग्रीको रोमन टीम में सचिन राणा (60 किग्रा), आशू ( 67 किग्रा), गुरप्री सिंह (77 किग्रा), सुनील (87 किग्रा), दीपांशू (97 किग्रा) और नवीन कुमार (130 किग्रा) हैं। विज्ञप्ति में कहा गया, 'ग्रीको रोमन स्‍टाइल में समिति ने 60 किग्रा और 97 किग्रा में बदलाव किए हैं। इस वर्ग श्रेणी में चयनित हुए पहलवान- ज्ञानेंद्र और रवि ने दोनों स्‍पर्धाओं (एशियाई क्‍वालीफायर्स और एशियाई चैंपियनशिप) में खराब प्रदर्शन किया। इसलिए समिति ने सचिन राणा और दीपांशू को मौका दिया, जो चयन ट्रायल्‍स में दूसरे स्‍थान पर आए थे।'

सीमा (50 किग्रा), निशा (68 किग्रा) और पूजा (76 किग्रा) को भारतीय महिला टीम में जगह मिली। विज्ञप्ति में कहा गया, 'समिति को इन वर्ग श्रेणी में किसी प्रकार के बदलाव की उम्‍मीद नहीं लगी क्‍योंकि इन सभी पहलवानों ने क्‍वालीफाइंग प्रतियोगिता या एशियाई चैंपियनशिप में मेडल सुरक्षित किए।'

Quick Links

Edited by Vivek Goel
Be the first one to comment