Create

छत्रसाल विवाद: पुलिस ने की सुशील कुमार पर 1 लाख रुपए के इनाम की घोषणा

सुशील कुमार
सुशील कुमार

भारत के ओलंपिक मेडलिस्‍ट पहलवान सुशील कुमार की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही हैं। छत्रसाल स्‍टेडियम विवाद में कथित तौर पर शामिल दो बार के ओलंपिक मेडलिस्‍ट सुशील कुमार को गिरफ्तार करने के लिए राज्‍य पुलिस ने 1 लाख रुपए इनाम की घोषणा की है। हाल ही में दिल्‍ली कोर्ट ने सुशील कुमार के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी किया था। दिल्‍ली पुलिस ने स्‍टार पहलवान को गिरफ्तार कराने वाले को इनाम देने की घोषणा की है, जो मंगलवार से लागू होगा।

भारतीय रेसलिंग जगत के दिग्‍गज पहलवान सुशील कुमार एक विवाद में शामिल पाए गए, जो राष्‍ट्रीय राजधानी के छत्रसाल स्‍टेडियम के करीब हुआ। सुशील कुमार के नाम पर छत्रसाल विवाद मामले में एफआईआर दर्ज हुई और तब से वह फरार हैं। दरअसल, छत्रसाल विवाद में 23 साल के एक पहलवान की मृत्‍यु हो गई थी।

छत्रसाल विवाद मामले में नया मोड़ यह आया है कि दिल्‍ली पुलिस ने रेसलर को गिरफ्तार कराने वाले को इनाम देने का फैसला किया है। जहां दिल्‍ली पुलिस ने सुशील कुमार को गिरफ्तार करने के लिए 1 लाख रुपए इनाम देने का फैसला किया, वहीं राज्य की कानून प्रवर्तन एजेंसी ने उसके सहयोगी अजय कुमार पर 50,000 रुपये का इनाम भी घोषित किया है। सुशील कुमार के करीबी अजय एक फिजिकल एजुकेशन टीचर हैं।

हाथ नहीं आए सुशील कुमार

राज्‍य पुलिस की कई टीमों ने सुशील कुमार को पकड़ने का प्रयास किया और दिल्‍ली, हरियाणा, पंजाब, उत्‍तराखंड व उत्‍तर प्रदेशन में कई जगहों पर छापेमारी भी की। इससे पहले दिल्‍ली कोर्ट ने सुशील कुमार और छत्रसाल विवाद में शामिल अन्‍य 6 लोगों के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी किया था।

एक वरिष्‍ठ पुलिस अधिकारी के हवाले से कहा गया, 'हमने दिल्‍ली सरकार को भी पत्र भेजा है, जिसमें उनके अधिकारियों को जानकारी दी है कि सुशील कुमार और उनके सहायक फिजिकल एजुकेशन टीचर अजय कुमार के नाम पीड़‍ितों ने लिए हैं। उनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाएगी।'

रिपोर्ट के मुताबिक, पहलवान को एक नोटिस भेजा गया, लेकिन उन्‍होंने अपना फोन स्विच ऑफ कर रखा है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक तब से शीर्ष पहलवान को पकड़ा नहीं जा पाया है। पुलिस सूत्रों ने बताया, 'हमने उसके दोस्तों के आवासों पर भी छापेमारी की और अब उसकी गिरफ्तारी के लिए सूचना देने वाले को इनाम देने का फैसला किया है और एक फाइल वरिष्ठ अधिकारियों के सामने रखी गई है।'

छत्रसाल विवाद के पीड़‍ितों का आरोप है कि सुशील कुमार मौके पर मौजूद थे जब अनियंत्रित लड़ाई हुई। विवाद में 23 साल के एक पहलवान की जान चली गई। मॉडल टाउन पुलिस स्टेशन में भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया था।

Quick Links

Edited by Vivek Goel
Be the first one to comment