Create

विनेश फोगाट ने स्‍वास्‍थ्‍य जोखिम का हवाला देकर नेशनल कैंप से नाम वापस लिया, डब्‍ल्‍यूएफआई नाखुश

विनेश फोगाट
विनेश फोगाट

टोक्‍यो ओलंपिक्‍स के लिए क्‍वालीफाई करने वाली एकमात्र भारतीय महिला पहलवान विनेश फोगाट ने कोविड-19 महामारी के बीच स्‍वास्‍थ्‍य जोखिम का हवाला देते हुए नेशनल कैंप से अपना नाम वापस ले लिया है। विनेश फोगाट के इस फैसले से राष्‍ट्रीय संघ खुश नहीं है। बता दें कि ओलंपिक के लिए क्‍वालीफाई कर चुके और क्‍वालीफाई करने के उम्‍मीदवारों के लिए 1 सितंबर से सोनीपत और लखनऊ में नेशनल कैंप आयोजित किया जा रहा है। विनेश फोगाट सहित महिलाएं लखनऊ में जबकि पुरुष सोनीपत में अभ्‍यास करेंगे।

हालांकि, विनेश फोगाट ने कहा कि वह लखनऊ की यात्रा करने में सहज महसूस नहीं कर रही हैं क्‍योंकि महामारी के बीच उन्‍हें अपने स्‍वास्‍थ्‍य की चिंता सता रही है। विनेश फोगाट ने पीटीआई से बात करते हुए कहा, 'मैं नेशनल कैंप में हिस्‍सा नहीं लेने वाली हूं। मैं कोच ओम प्रकाश के साथ रोजाना ट्रेनिंग कर रही हूं, जो उसी योजना का पालन कर रहे हैं जो मेरे निजी कोच वोलर अकोस हर सप्‍ताह भेजते हैं। लखनऊ यात्रा करने के लिए स्थिति अच्‍छी नहीं है।'

विनेश फोगाट नहीं उठाना चाहती कोई जोखिम

2019 विश्‍व चैंपियनशिप की ब्रॉन्‍ज मेडलिस्‍ट विनेश फोगाट ने कहा कि वो आसानी से बीमार पड़ सकती हैं, इसलिए वह अपने स्‍वास्‍थ्‍य के साथ कोई जोखिम उठाना नहीं चाहती हैं। विनेश फोगाट ने कहा, 'मेरा पेट काफी संवेदनशील है। आप लखनऊ में साई सेंटर से बाहर नहीं जा सकते, तो आप अपने लिए जरूरत की चीजें नहीं ला सकते। लखनऊ में कोविड-19 के मामले बढ़ रहे हैं, लेकिन हरियाणा सुरक्षित है। इसलिए मैं यहां ज्‍यादा सहज हूं।'

विनेश फोगाट के कारण से नाखुश है डब्‍ल्‍यूएफआई

एशियाई गेम्‍स की गोल्‍ड मेडलिस्‍ट विनेश फोगाट ने जो वजह बताई है, उससे भारतीय कुश्‍ती संघ (डब्‍ल्‍यूएफआई) खुश नहीं है। डब्‍ल्‍यूएफआई के सहायक सचिव विनोद तोमर ने कहा, 'चयन समिति फैसला करेगा कि विनेश फोगाट कैंप में हिस्‍सा ले या नहीं। यह कैंप खिलाड़‍ियों के लिए है। हम ओलंपिक्‍स के लिए तैयारी शुरू करना चाहते हैं। हम कोई अपने फायदे के लिए दुकान नहीं चला रहे हैं। यह कैंप खिलाड़‍ियों के लिए है और जब वो ऐसे संदेह जताते हैं, तो हैरानी होती है।'

यह पूछने पर कि सुशील कुमार को राष्‍ट्रीय शिविर की जगह छत्रसाल स्‍टेडियम में रूककर ट्रेनिंग करने की मंजूरी मिलेगी तो तोमर ने जवाब दिया कि उनका मामला अलग है।

तोमर ने कहा, 'हम जानते हैं कि छत्रसाल में शानदार सुविधा है। वहां जिम, मैट और सुशील के साथ ट्रेनिंग करने के लिए पर्याप्‍त साझेदार हैं। हमें नहीं पता कि विनेश फोगाट किस अखाड़ा में ट्रेनिंग कर रही हैं। वहां किस प्रकार की सुविधा है। साई ने टॉप्‍स के साथ इन खिलाड़‍ियों की मदद की है। उन्‍हें इसके बारे में सोचना चाहिए।'

बता दें कि महिलाओं का कैंप 50 किग्रा, 53 किग्रा, 57 किग्रा, 62 किग्रा और 68 किग्रा वर्ग में शुरू होगा, लेकिन डब्‍ल्‍यूएफआई इसमें 76 किग्रा को भी शामिल कर सकता है। ओलंपिक वजन वर्ग में 76 किग्रा भी शामिल है। तोमर ने कहा, 'हम इस पर विचार कर रहे हैं। मगर विनेश फोगाट के वर्ग 53 किग्रा वाली पहलवानों को भी कैंप में चाहते हैं। हम 2024 पर ध्‍यान दे रहे हैं।'

Quick Links

Edited by निशांत द्रविड़
Be the first one to comment