Create

3 कारण जो बताते हैं क्यों WWE को रैसलमेनिया 35 के बाद ब्रॉक लैसनर पर निर्भरता कम कर देनी चाहिए

brock lesnar

ब्रॉक लैसनर ने जब रैसलमेनिया 28 के बाद WWE रिंग में वापसी की, तो पूरा रैसलिंग जगत एक बार के लिए स्तब्ध रह गया। WWE फैन्स को अपनी आँखों पर विश्वास नहीं हुआ। WWE प्रशंसकों समेत पूरी दुनिया सोचने पर मजबूर हो गयी थी कि क्या एक बार फिर ब्रॉक लैसनर इस रिंग पर राज करने वाले हैं।

WWE से बाहर भी 'द बीस्ट' ने रैसलिंग की दुनिया में अच्छा खासा नाम कमाया है। इस दौरान वो UFC चैंपियन, NJPW चैंपियन भी रहे हैं। रैसलमेनिया 29 से लेकर 34 तक ऐसी कोई रैसलमेनिया नहीं रही है, ब्रॉक लैसनर जिसका हिस्सा न रहे हो।

रैसलमेनिया 35 में लैसनर को सैथ रॉलिंस के खिलाफ WWE यूनिवर्सल चैंपियनशिप डिफेंड करनी है। लेकिन क्या अब वह समय आ गया है, जब WWE को लैसनर के ऊपर निर्भर रहने की जरुरत नहीं है। आइये डालते हैं प्रकाश ऐसे तीन कारणों पर, जो दर्शाते हैं कि रैसलमेनिया 35 के बाद WWE को ब्रॉक लैसनर पर निर्भर नहीं रहना चाहिए।

WWE कितना बिजनेस कर रहा है, लैसनर को नहीं इसकी परवाह

brock lesnar

WWE ने ही उन्हें रैसलिंग की दुनिया में लोकप्रियता हासिल करवाई है। विंस मैकमैहन ने ही उन्हें 21वीं सदी का सबसे बड़ा सुपरस्टार बनने में मदद की है। WWE से बाहर जाने के बाद उन्होंने अन्य रैसलिंग कंपनियों को अपनी लोकप्रियता का फायदा पहुँचाया है।

जब लैसनर ने WWE में वापसी की थी, उन्होंने साफ तौर पर कहा था कि वो यहाँ केवल पैसे के लिए आये हैं। यहाँ तक कि ब्रॉक लैसनर ने पिछले वर्ष रैसलमेनिया में मैच की समाप्ति के बाद चैंपियनशिप बेल्ट, विंस मैकमैहन की तरफ फेंक दर्शाया था कि उन्हें इससे कोई फर्क नहीं पड़ता।

youtube-cover

समरस्लैम 2016 में जब रैंडी ऑर्टन का चेहरा खून से लथपथ हो गया। मैच के बाद जांच में पाया गया कि लैसनर ने रैंडी ऑर्टन को जानबूझकर चोट पहुंचाई थी।

WWE News in Hindi, RAW, SmackDown के सभी मैच के लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज़ स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं

WWE यूनिवर्सल टाइटल बन गया है मजाक

brock lesnar universal champion

ब्रॉक लैसनर का कॉन्ट्रैक्ट उन्हें WWE में विशेष दर्जा देता है।बहुत सी ऐसी चीजें हैं, जो अन्य रैसलर नहीं कर सकते, वह 'द बीस्ट' कर सकता है। ब्रॉक लैसनर बहुत कम ही WWE रिंग में नजर आते हैं। इस बात का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि ब्रॉक लैसनर ने 2018 में केवल आठ मैच लड़े थे।

इसी कारण WWE यूनिवर्सल चैंपियनशिप एक भद्दा मजाक बन चुकी है। WWE यूनिवर्सल चैंपियनशिप कई कई कई महीनों में एक बार WWE रिंग में दिखाई पड़ती है। रैसलिंग फैन भी ब्रॉक लैसनर के प्रति WWE की इस रणनीति से तंग आ चुके हैं।

कयास लगाये जा रहे हैं कि रैसलमेनिया 35 में सैथ रॉलिंस एक बेहतरीन अंदाज में लैसनर से यूनिवर्सल चैंपियनशिप जीतने वाले हैं। जिससे प्रति सप्ताह हमें और WWE फैन्स को इस चैंपियनशिप के दर्शन हो सकेंगे।

रेटिंग्स में लगातार हो रही कटौती

vince mcmahon

ब्रॉक लैसनर को WWE से बाहर भेजने का सबसे बड़ा कारण यह है कि WWE की रेटिंग्स सबसे निचले स्तर पर जा पहुंची हैं। पिछले वर्ष इस ख़राब दौर से बाहर निकलने के लिए WWE ने कई NXT सुपरस्टार्स का मेन रोस्टर डेब्यू करवाया था। दुखद बात यह रही कि WWE की यह रणनीति औंधे मुँह नीचे जा गिरी।

ब्रॉक लैसनर जो WWE की सबसे बड़ी चैंपियनशिप अपने नाम किये हुए हैं, इसका कंपनी को कोई ख़ास फायदा तो नहीं बल्कि नुकसान ही झेलना पड़ रहा है। यदि रैसलमेनिया 35 के बाद भी लैसनर ही चैंपियन बने रहते हैं, यह संभव ही WWE के लिए बहुत बड़े घाटे का सौदा साबित होगा।

लैसनर से ध्यान हटाकर, विंस मैकमैहन और ट्रिपल एच को नए प्रतिभावान रैसलरों की ओर अधिक ध्यान देने की आवश्यकता है। जिससे आने वाले समय में WWE की लैसनर पर निर्भरता कम हो जाएगी।

Quick Links

Edited by Ankit
Be the first one to comment