Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

3 फायदे जो विंस मैकमैहन द्वारा लाए गए वाइल्ड कार्ड नियम से हो सकते हैं

टॉप 5 / टॉप 10
1.32K   //    07 May 2019, 16:00 IST

<p src=" />

इस हफ्ते का रॉ का एपिसोड काफी शानदार हुआ। शो की शुरुआत विंस मैकमैहन द्वारा कुछ धमाकेदार घोषणा से हुई। इस पर पूरा WWE यूनिवर्स हैरान रह गया।

जैसे ही WWE के चेयरमैन ने बात करना शुरू किया तभी वहां रोमन रेंस आ गए। रोमन रेंस की रॉ में होने की बात पहले ही सामने आ गयी थी लेकिन स्मैकडाउन सुपरस्टार को रॉ में देखकर विंस मैकमैहन खुश नहीं हुए। इसके बाद वहां डेनियल ब्रायन आ गए जिस पर विंस मैकमैहन वापस नाराज़ हुए और फिर वहां WWE चैंपियन कोफी किंग्सटन के आने के बाद मिस्टर मैकमैहन को बेहद ग़ुस्सा आया।

मैकमैहन ने इसके बाद दो बड़े मैचों का एलान कर दिया। ये रैसलमेनिया के रीमैच थे, जिसमें रोमन रेंस का सामना ड्रू मैकइंटायर से और कोफी किंग्स्टन का मुकाबला डेनियल ब्रायन से हुआ। इसके साथ-साथ विंस मैकमैहन ने वाइल्ड कार्ड नियम की भी घोषणा की, जिसमें 4 स्मैकडाउन और रॉ सुपरस्टार हर हफ्ते दूसरे ब्रैंड में जा सकेंगे।

इसे भी पढ़ें: रोमन रेंस के Raw में वापसी करने की 5 सबसे बड़ी वजह

इसका मतलब हर हफ्ते दोनों ब्रैंड के 4 सुपरस्टार्स दूसरे ब्रैंड का हिस्सा बन सकते हैं। ये नियम काफी कुछ बदलाव लेकर आ सकता है। यहां पर हम इस शानदार निर्णय के तीन फायदे के बारे में बात करते हैं।

#3 अनिश्चितता बनी रहेगी 

अगर हम पहले से किसी चीज़ के बारे में जानकारी होती है तो उसे देखना उबाऊ हो जाता है। विंस मैकमैहन ये बात जानते हैं और वो नहीं चाहते कि WWE यूनिवर्स को बोर होना पड़े। इसलिए इस नियम से काफी अनिश्चितता हो सकती है क्योंकि किसी भी ब्रैंड का कोई भी स्टार खिताब के लिए चुनौती दे सकता है।

अगर किसी को लगता था कि रोमन रेंस लम्बे समय तक यूनिवर्सल चैंपियन नहीं बन सकते तो इसमें अब उन्हें बदलाव करने की ज़रूरत है। अब हम हर हफ्ते किसी ना किसी स्टार को एक ब्रैंड से दूसरे ब्रैंड जाते देख सकते हैं। इससे उत्सुकता और बढ़ेगी। 

ब्रैंड के अलग होने के बाद WWE दर्शकों को ज्यादा रोमांच नहीं दे पाई क्योंकि दोनों ब्रैंड के मैच और उसके नतीजे सभी को पता होते थे। लेकिन इस वाइल्ड कार्ड नियम की मदद से दोनों ब्रैंड में अब क्या होगा इसका सटीक अंदाजा लगाना मुश्किल है।

1 / 3 NEXT
Tags:
Advertisement
Advertisement
Fetching more content...