Create

4 ड्रीम मैच जो WWE में Brock Lesnar और Roman Reigns के टीम बनाने के बाद देखने को मिल सकते हैं

क्या इस दशक के सबसे बड़े दुश्मन दिखेंगे एक साथ
क्या इस दशक के सबसे बड़े दुश्मन दिखेंगे एक साथ
reaction-emoji
Prajwal Tripathi

Roman Reigns & Brock Lesnar: WWE इतिहास के पन्नों में ब्रॉक लैसनर (Brock Lesnar) और रोमन रेंस (Roman Reigns) की दुश्मनी का अध्याय सुनहरे अक्षरों में लिखा जाएगा। इस दशक में दोनों मेगास्टर्स कई बार एक दूसरे के आमने सामने आ चुके हैं लेकिन कोई भी पीछे हटने को तैयार नहीं है।

भले ही WWE यूनिवर्स का ध्यान इस तरफ ना गया हो लेकिन लैसनर और रेंस का एक साथ टैग टीम बनना अन्य सुपरस्टार्स के लिए बहुत ही भयानक साबित हो सकता है। वैसे भी WWE पहले भी दो बड़े दुश्मनों की जोड़ी बनाने में माहिर है।

इस लिस्ट में हम ब्रॉक लैसनर और रोमन रेंस की टैग टीम के विरुद्ध 4 WWE ड्रीम मैच के बारे में चर्चा करेंगे।

#4 ब्रॉक लैसनर - रोमन रेंस Vs सैथ रॉलिंस - डीन एंब्रोज

पूर्व टैग टीम चैंपियंस
पूर्व टैग टीम चैंपियंस

डीन एंब्रोज (AEW में जॉन मोक्सली) का WWE में वापसी करना अब किसी सपने के पूरे होने जैसा ही है लेकिन कभी ना कभी यह जरूर होगा। रोमन रेंस और ब्रॉक लैसनर की टीम के खिलाफ सैथ रॉलिंस - डीन एंब्रोज का ड्रीम मैच बहुत ही शानदार हो सकता है। इस मैच में किसी की भी जीत का अनुमान लगाना मुश्किल होगा।

लैसनर और रेंस अगर अच्छे से टीमअप करें तब आसानी से यह मैच जीत सकते हैं लेकिन डीन और सैथ को कमजोर आंकना गलत साबित हो सकता है। रॉलिंस और एंब्रोज टैग टीम चैंपियन रह चुके हैं और उनके प्रतिद्वंदी की मैच के दौरान तालमेल में किसी भी प्रकार की कमी उन्हें मैच जीतने में मदद कर सकती है।

#3 ब्रॉक लैसनर - रोमन रेंस Vs पूर्व WWE टैग टीम चैंपियन द न्यू डे

न्यू डे के मेंबर बिग ई बोच मूव के कारण चोटिल हैं
न्यू डे के मेंबर बिग ई बोच मूव के कारण चोटिल हैं

11 बार के चैंपियन न्यू डे मॉडर्न समय की सबसे दिग्गज टैग टीम है जिनका 483 दिन का चैम्पियनशिप रन बहुत ही प्रभावी था। उनका फैंस के साथ कनेक्शन और एक दूसरे के साथ तालमेल उन्हें जबरदस्त टैग टीम बनाता है।

.पावर ऑफ पॉजिटिविटी का मुकाबला दो बड़े हेवीवेट्स से होना निश्चित ही यादगार हो सकता है।अपने-अपने डिवीजन में दोनों ही बहुत ही बेहतरीन हैं। वुड्स और कोफी बहुत ही फुर्तीले हैं वही बिग-ई इस टीम के पावरहाउस हैं लेकिन रेंस और ब्रॉक के पास निश्चित ही शारीरिक बढ़त है।दोनों ही टीमें एक दूसरे की कमी का फायदा उठाकर इस ड्रीम मैच में जीत दर्ज करने का प्रयास कर सकती हैं।

#2 ब्रॉक लैसनर - रोमन रेंस Vs द उसोज

रोमन रेंस के ब्लडलाइन का हिस्सा हैं द उसोज
रोमन रेंस के ब्लडलाइन का हिस्सा हैं द उसोज

यह मैच निश्चित ही टैग टीम डिवीजन का ड्रीम मैच साबित हो सकता है। WWE दोस्त या भाइयों को एक दूसरे से लड़ाने के लिए माहिर हैं चाहे वो सिंगल्स मैच हो, टैग टीम मैच हो या बैटल रॉयल। रोमन रेंस के लिए यह मैच बहुत ही मुश्किल साबित हो सकता है क्योंकि रोमन और उसोज का ब्लडलाइन संबंध है।

द उसोज का एक दूसरे के साथ तालमेल बहुत ही बेहतर है और इतने वक्त से टैग टीम डिवीजन का हिस्सा होने के कारण उन्हें इसका फायदा मिल सकता है। उनकी सुपरकिक,उनका स्प्लैश बड़े-बड़े धुरंधरों को चित कर सकता है। हालांकि फिर भी इस मैच में जीत के लिए रेंस और लैसनर ही बड़े दावेदार होंगे। दोनों का रिंग में दमदार प्रदर्शन और खतरनाक फिनिशिंग मूव उन्हें जीत दिला सकता है।

#1 ब्रॉक लैसनर - रोमन रेंस Vs टीम ब्रिंग इट (द रॉक-जॉन सीना)

क्या टीम ब्रिंग इट फिर से दिखेगी एक साथ ?
क्या टीम ब्रिंग इट फिर से दिखेगी एक साथ ?

इससे बड़ा टैग टीम मुकाबला रेसलिंग इंडस्ट्री में नहीं हो सकता है। यह मैच 4 वर्ल्ड चैंपियंस का नहीं बल्कि प्रोफेशनल रेसलिंग के 4 सबसे बड़े टाइटन्स के बीच होगा। जहां एक और रोमन रेंस और ब्रॉक लैसनर हैं वही दूसरी ओर द रॉक और जॉन सीना हैं।

द रॉक और जॉन सीना पहले भी एक दूसरे के साथ टीम-अप कर चुके हैं। Survivor Series 2011 में दोनों पहली बार मिज और आर ट्रुथ के खिलाफ नजर आए,वहीं दोनों ने WrestleMania 32 में वायट फैमिली का सामना किया था। द रॉक और जॉन सीना को एक साथ टैग टीम में काम करने का फायदा मिल सकता है।

रोमन रेंस और ब्रॉक लैसनर अभी तक एक दूसरे के खिलाफ लड़ते हुए नजर आए हैं। रॉक और सीना के विरुद्ध दोनों को एक टीम के रूप में लड़ना होगा। रोमन रेंस और ब्रॉक लैसनर की टीम को इस बात की बढ़त प्राप्त है कि द रॉक और जॉन सीना पार्ट टाइम रेसलिंग करते है जबकि रेंस और ब्रॉक अभी भी पे-पर-व्यू को मेन इवेंट कर रहे है।

WWE और रेसलिंग से जुड़ी तमाम बड़ी खबरों के साथ-साथ अपडेट्स, लाइव रिजल्ट्स को हमारे Facebook page पर पाएं।


Edited by मयंक मेहता
reaction-emoji

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...