Create

WWE Crown Jewel: 4 बड़े कारणों से 'किंग ऑफ द रिंग' विजेता बने ज़ेवियर वुड्स

WWE किंग ऑफ द रिंग विजेता क्यों बने ज़ेवियर वुड्स?
WWE किंग ऑफ द रिंग विजेता क्यों बने ज़ेवियर वुड्स?
reaction-emoji
Neeraj sharma

WWE क्राउन ज्वेल (Crown Jewel) 2021 पीपीवी में एक तरफ रोमन रेंस (Roman Reigns), ब्रॉक लैसनर (Brock Lesnar), ऐज (Edge) और गोल्डबर्ग (Goldberg) समेत कई दिग्गज सुपरस्टार्स के धमाकेदार मैच देखने को मिले। इस बीच 'किंग ऑफ द रिंग' टूर्नामेंट के फाइनल पर भी सभी की नजरें टिकी हुई थीं।

फिन बैलर और ज़ेवियर वुड्स कठिन चुनौतियों को पार कर फाइनल में पहुंचे थे, लेकिन अंत में द न्यू डे के मेंबर ने जीत दर्ज कर क्राउन को अपने सिर सजाया है। वुड्स की जीत को ध्यान में रखते हुए इस आर्टिकल में आइए जानते हैं ज़ेवियर वुड्स के 'किंग ऑफ द रिंग' विजेता बनने के 4 बड़े कारणों के बारे में।

WWE में ज़ेवियर वुड्स ने भी सिंगल्स सुपरस्टार के तौर पर बड़ी उपलब्धि हासिल की

साल 2014 में बिग ई, कोफी किंग्सटन और ज़ेवियर वुड्स को साथ लाकर द न्यू डे नाम की टीम की शुरुआत की गई थी। आज ये टीम WWE में 11 बार की टैग टीम चैंपियन बन चुकी है और अब बिग ई के अलग होने से वुड्स और किंग्सटन टीम की लैगेसी को आगे बढ़ा रहे हैं।

मगर आपको याद दिला दें कि इस टीम के गठन से पहले ही कोफी और बिग ई सिंगल्स टाइटल्स भी जीत चुके थे। यहां तक कि टीम के 2 मेंबर्स (कोफी और बिग ई) आगे चलकर WWE चैंपियन भी बने। बिग ई मौजूदा WWE चैंपियन हैं, वहीं किंग्सटन ने WrestleMania 35 में डेनियल ब्रायन को हराकर कंपनी का टॉप टाइटल अपने नाम किया था।

मगर ज़ेवियर वुड्स को कभी एक सिंगल्स रेसलर के तौर पर खुद को साबित करने का अवसर नहीं मिल पाया। हालांकि वर्ल्ड चैंपियनशिप बेल्ट अभी उनसे बहुत दूर नजर आती है, लेकिन Crown Jewel 2021 में उनके पास 'किंग' की उपाधि हासिल करने का मौका था।

इस मौके को उन्होंने खाली नहीं जाने दिया और अब द न्यू डे के तीनों मेंबर्स सिंगल्स रेसलर के तौर पर कोई ना कोई बड़ी उपलब्धि अपने नाम कर चुके हैं। 'किंग ऑफ द रिंग' विनर बनने के बाद संभव है कि WWE वुड्स को सिंगल्स पुश देने पर भी विचार कर सकती है।

ज़ेवियर वुड्स के बचपन का सपना पूरा हुआ

Fulfilling a life long dream is cool but have you ever seen your 4 year old excited that you did it? https://t.co/wHwhraMrfE

'किंग ऑफ द रिंग' टूर्नामेंट का आयोजन पहली बार साल 1985 में हुआ था। शायद आप ना जानते हों कि WWE सुपरस्टार ज़ेवियर वुड्स ने बचपन में 'किंग ऑफ द रिंग' विनर बनने का सपना देखा था। उन्होंने क्वार्टरफाइनल और सेमीफाइनल में क्रमशः रिकोशे और जिंदर महल को हराकर फाइनल में प्रवेश पाया था। अब फाइनल में उन्होंने फिन बैलर को हराकर क्राउन तो जीता ही और अपने बचपन के सपने को भी पूरा कर लिया है। अब देखना दिलचस्प होगा कि क्या WWE, बिग ई और कॉफी किंग्सटन की तरह उन्हें भी बड़ा सिंगल्स पुश देती है या नहीं।

ज़ेवियर वुड्स ने इस टूर्नामेंट को सबसे ज्यादा प्रोमोट किया था

अगर आपने गौर किया हो तो ज़ेवियर वुड्स शुरुआत से ही 'किंग ऑफ द रिंग' टूर्नामेंट को हाइप करते आ रहे थे। उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल का नाम बदल कर उसमें 'फ्यूचर किंग ऑफ द रिंग' को जोड़ दिया था। वहीं अब किंग बनने के बाद उन्होंने नाम में से 'फ्यूचर' को हटा दिया है।

इसके अलावा ट्विटर हो या इंस्टाग्राम, वो टूर्नामेंट के शुरू होने के बाद से ही लगातार इससे जुड़ी पोस्ट शेयर करते रहे। 'किंग ऑफ द रिंग' के ब्रैकेट में शामिल अन्य सुपरस्टार्स की ओर से टूर्नामेंट को इतना हाइप नहीं किया गया। मगर वुड्स के जरिए टूर्नामेंट को इतना प्रोमोट करना दर्शा रहा था कि WWE उन्हें ही जीत के लिए बुक कर सकती है।

WWE ने फैंस की मांग को पूरा किया

टूर्नामेंट के पहले राउंड में सिजेरो और सेमीफाइनल में सैमी जेन के रूप में 2 टॉप सुपरस्टार्स की हार के बाद उम्मीद की जाने लगी थी कि फिन बैलर क्राउन को जीत सकते हैं। मगर फैंस वुड्स की जीत की मांग कर रहे थे। चूंकि उनके पार्टनर्स बिग ई और कोफी किंग्सटन पहले ही सिंगल्स रेसलर के तौर पर काफी सफलता प्राप्त कर चुके थे, इसलिए लोग वुड्स को भी सिंगल्स सुपरस्टार के तौर पर आगे बढ़ते देखना चाहते थे। WWE ने बैलर की स्टार पावर को नजरअंदाज कर वुड्स को जीत के लिए बुक कर फैंस की मांग को पूरा किया है।

Edited by Neeraj sharma
reaction-emoji

Comments

Quick Links

More from Sportskeeda
Fetching more content...