Create

5 WWE Superstars जिन्हें अपना फिनिशिंग मूव बदलने के बाद काफी ज्यादा सफलता मिली

WWE सुपरस्टार्स के पास अपना-अपना फिनिशिंग मूव होता है
WWE सुपरस्टार्स के पास अपना-अपना फिनिशिंग मूव होता है

फिनिशिंग मूव भी थीम सॉन्ग की तरह ही होता है और यह किसी WWE सुपरस्टार की पहचान बन सकता है। सालों से हम फिनिशिंग मूव में काफी विविधता देखते आए हैं और साथ ही आपने कई सुपरस्टार्स को पूर्व दिग्गजों की फिनिशिंग मूव इस्तेमाल करके उन्हें ट्रिब्यूट देते भी देखा है।

एक नजर उन 5 बड़े सुपरस्टार्स पर जो अपना फिनिशिंग मूव बदलने के बाद WWE में काफी आगे पहुंचे हैं।

#5 डेनियल ब्रायन- रनिंग नी डेब्यू के बाद बदल गया WWE सफर

WWE में डेनियल ब्रायन ने काफी ज्यादा सफलता हासिल की
WWE में डेनियल ब्रायन ने काफी ज्यादा सफलता हासिल की

2013 से 2014 के बीच WWE में डेनियल ब्रायन (Daniel Bryan) के सफर को 21वीं सदी के सबसे बेहतरीन में से एक माना जाएगा। 2011 के आखिर और 2012 की शुरुआत में ब्रायन वर्ल्ड हैवीवेट चैंपियन बन चुके थे, लेकिन WrestleMania 28 में शेमस के खिलाफ 28 सेकेंड में टाइटल गंवाने के कारण अचानक मामला उल्टा हो गया। WWE के अधिकतर फैंस गुस्सा थे कि आखिर कंपनी ब्रायन को इस तरह क्यों ट्रीट कर रही है।

WrestleMania 29 के बाद जॉन सीना WWE चैंपियन थे और उन्होंने SummerSlam में ब्रायन को अपना विपक्षी चुना था। उस समय तक ब्रायन काफी चर्चा में थे, लेकिन इसके बाद वह कंपनी के सबसे अहम सुपरस्टार्स में से एक हो गए थे। उन्होंने अपने रनिंग नी मूव को SummerSlam 2013 में पहली बार इस्तेमाल किया और सीना को हराकर पहली बार WWE चैंपियनशिप जीती थी।

भले ही ब्रायन ने थोड़े ही समय बाद रैंडी ऑर्टन के खिलाफ Money in the Bank कैश इन में अपनी चैंपियनशिप गंवा दी थी, लेकिन उनके रनिंग नी ने सिग्नेचर मूव का रूप ले लिया था। SummerSlam के बाद वह लगातार आगे ही बढ़ते गए और इसी का नतीजा है कि उन्होंने WrestleMania 30 के मेन इवेंट में एक बार फिर वर्ल्ड चैंपियनशिप को हासिल किया था।

#4 ट्रिपल एच- पेडिग्री अपनाने से पहले WWE ने उन्हें दिया था दूसरा फिनिशर

ट्रिपल एच
ट्रिपल एच

ट्रिपल एच ने पेडिग्री का इतना इस्तेमाल कर दिया है कि उन्हें किसी अन्य मूव का इस्तेमाल करने के बारे में सोचना भी अजीब लगेगा। इस मूव ने ट्रिपल एच को सबसे सफल सुपरस्टार्स में से एक बनाने का काम किया है। WCW में वह पेडिग्री का इस्तेमाल करते थे, लेकिन 1995 में WWE में आने के बाद उन्हें दूसरा मूव दिया गया था।

"जब मैं पहली बार WWE में आया तो उन्होंने मुझे थोड़ा अलग फिनिशर दिया था जो RKO का एक वर्जन था। मैं इससे सहज नहीं था और वापस पेडिग्री पर गया क्योंकि इसे मैं लंबे समय से इस्तेमाल कर रहा था।"

#3 स्टनर के इस्तेमाल से काफी आगे गए स्टोन कोल्ड

स्टोन कोल्ड
स्टोन कोल्ड

स्टोन कोल्ड स्टीव ऑस्टिन अबतक के सबसे सर्वश्रेष्ठ रेसलर में से एक हैं। 1998 से 2003 तक वह टॉप पर रहे थे। स्टीव ऑस्टिन ने 1996 में अपना WWE डेब्यू किया था और उन्हें अपना गिमिक बिल्कुल पसंद नहीं आया था। सोलो जाने के बाद ऑस्टिन ने स्टनर को अपनी फिनिशिंग मूव बनाया और इसके साथ ही उनकी पॉपुलरिटी में काफी ज्यादा इजाफा देखने को मिला। WWE इतिहास में यह सबसे बेहतरीन फिनिशिंग मूव्स में से माना जाता है।

#2 2008 में क्रिस जैरिको ने हासिल की WWE में सबसे अधिक सफलता

क्रिस जैरिको
क्रिस जैरिको

क्रिस जैरिको का WWE में पहला रन अच्छा रहा था, लेकिन फिर उन्होंने दो साल का विराम लिया था। 2007 में जब उन्होंने दोबारा WWE में वापसी की तो यह उनके लिए सबसे बेहतरीन साल साबित हुआ। वापसी पर अपने पहले मैच में ही उन्होंने The Codebreaker का डेब्यू किया। इससे पहले वह दूसरी फिनिशिंग मूव का इस्तेमाल करते थे, लेकिन इस नई मूव ने सनसनी फैला दी। जैरिको अब भले ही WWE का हिस्सा नहीं हैं, लेकिन रेसलिंग इंडस्ट्री में उनका जो योगदान है उसकी जितनी तारीफ की जाए उतनी कम है।

#1 सैथ रॉलिंस- WWE ने उन्हें The Stomp के इस्तेमाल की दी छूट

सैथ रॉलिंस
सैथ रॉलिंस

सैथ रॉलिंस का कर्ब स्टॉम्प फिनिशर काफी पॉपुलर था, लेकिन 2015 में WWE ने अचानक उन्हें इस मूव को छोड़ने का आदेश दिया था। इसके पीछे पीजी रेटिंग और WWE की सुरक्षा को कारण बताया गया था। दो साल तक रॉलिंस ने अपने मेंटर ट्रिपल एच की पेडिग्री मूव का इस्तेमाल किया था। 2018 की शुरुआत में रॉलिंस ने कर्ब स्टॉम्प को दोबारा इंट्रोड्यूस किया और इस बार WWE ने इसे स्टॉम्प का नाम दिया।

फिनिशिंग मूव बदलने के साथ ही रॉलिंस की किस्मत भी बदल गई और उन्होंने Royal Rumble 2019 में जीत हासिल की थी। इसके अलावा उसी साल वह दो बार Universal Champion भी बने थे। रॉलिंस इस समय अपने करियर का सबसे शानदार काम कर रहे हैं और वो हर स्टोरीलाइन को काफी दिलचस्प भी बनाते हैं।

Quick Links

Edited by मयंक मेहता
Be the first one to comment