Create
Notifications

रोमन रेंस के दुश्मनों को तगड़ा झटका, "ड्रग्स" लेने के मामले में आया नया मोड़

PANKAJ

फिल्ममेकर जॉन ब्रावो ने अपनी वो वीडियो रिलीज कर दी जिसमें पहले ये क्लेम किया गया था कि रोमन रेंस और उनके साथ 15 और रैसलर्स रिचर्ड रौड्रीगेज स्टेरॉयड स्कैंडल में थे। रोमन रेंस के लिए राहत भरी खबर आई हैं। इस वीडियो में रोमन रेंस के खिलाफ एक भी सबूत नहीं पाया गया हैं। और मौजूदा रोस्टर में किसी भी WWE सुपरस्टार के खिलाफ कोई भी सबूत इस वीडियो में नहीं हैं।

पूर्व जिम ऑनर रिचर्ड रौड्रीगेज के ऊपर स्टेरॉयड स्कैंडल में फंसे थे। इस समय वो जेल में हैं। उनके ऊपर आरोप था कि वो अपने क्लाइंट को स्टेरॉयड देते थे। उनकी क्लाइंट लिस्ट में WWE सुपरस्टार और इंटरकॉन्टिनेंटल चैंपियन रोमन रेंस भी शामिल थे।

इंटरव्यू के दौरान रौड्रीगेज ने कहा था कि हमारे दो आदमी रोमन रेंस इसके लिए मिले थे और उऩ्हें इसके बारे में बताया था। रौड्रीगेज के ऊपर आरोप ये है कि फरवरी 2017 से पहले दस मिलियन डॉलर के स्टेरॉयड उऩ्होंने बेचा था। रोमन रेंस पर भी इसके लिए आरोप लगे थे। जिसकी जांच चल रही थी।

जॉन ब्रावो ने पहले ये कहा था कि उनकी वीडियो में रोमन रेंस और WWE के कुछ अन्य सुपरस्टार है जो इस मामले में लिप्त थे। फिलहाल अब जब यह वीडियो रिलीज हुई तो इसमें रोमन रेंस के खिलाफ कोई सबूत नहीं है। वो इस मामले में नहीं थे।

इसे भी पढ़ें: इलायस ने WrestleMania में अपने रोल के बारे में बताया

रिचर्ड रौड्रीगेज ने रोमन रेंस, लैसनर और ऑस्टिन जैसे सुपरस्टार्स को अपना क्लाइंट बताया था। लेकिन अब कोई सबूत नहीं हैं। शेमस और जिंदर महल पर भी उन्होंने इसका आरोप लगाया था। लेकिन ऐसा कुछ नहीं था।

वैसे रोमन रेंस के ऊपर जब आरोप लग गए थे तब उऩ्हें 30 दिन के लिए सस्पेंड किए गए थे। ये जून 2016 की बात हैं। सैथ रॉलिंस इसके बाद WWE चैंपियन बने थे। उस वक्त रोमन रेंस के बाहर होने के कारण सैथ रॉलिंस को बड़ा पुश दिया गया था।

रोमन रेंस ने भी इस बात पर बयान देते हुए कहा कि,"मैंने कभी रिचर्ड रौड्रीगेज के बारे में कभी नहीं सुना। लेकिन मैंने अपनी लगती से बहुत सीखा और दो साल पहले इसके लिए पेनाल्टी भी मैंने दी। मैंने WWE के ग्यारह टेस्ट पास किए। ड्रग टेस्ट में पूरी तरह पास था"।

अब रोमन रेंस का मामला फिलहाल क्लीयर हो गया है। क्योंकि वीडियो में कोई सबूत नहीं हैं।


Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...