Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

WWE Money in the Bank का मतलब और मुकाबले के नियम

  • इस साल कौन जीतेगा ब्रीफकेस?
न्यूज़
Modified 20 Dec 2019, 18:39 IST

Enter caption

मनी इन द बैंक पीवीवी एक ऐसा इवेंट होता है जो किसी भी सुपरस्टार की किस्मत बदल सकता है। साल 2019 का मनी इन द बैंक 19 मई (भारत में 20 मई) को देखा जाएगा। कुछ सालों से मनी इन बैंक लैडर मैच विमेंस का भी हो रहा है। इस बार डबल चैंपियन बैकी लिंच अपने टाइटल को डिफेंड करने वाली हैं। जबकि यूनिवर्सल चैंपियनशिप मैच में सैथ रॉलिंस का सामना एजे स्टाइल्स से होगा।

आपको बता दें कि मनी इन द बैंक पीपीवी की शुरुआत 2010 में हुई थी। हालांकि WWE में पहला MITB लैडर मैच रैसलमेनिया 21 में लड़ा गया था। साल 2010 में WWE ने इसे पीपीवी की शक्ल दे दी। पिछले साल हुए मनी इन द बैंक पीपीवी में ब्रॉन स्ट्रोमैन को जीत मिली थी, लेकिन उनका कैश इन इतना सफल नहीं रहा।जबकि विमेंस में एलेक्सा ब्लिस की जीत हुई थीं और उन्होंने उसी रात टाइटल भी अपने नाम किया था।

मनी इन द बैंक साल के सबसे खास पीपीवी में से एक होता है, क्योंकि इसमें होने वाले लैडर मैच को जीतने वाले रैसलर को टाइटल जीतने का एक मौका मिल जाता है। जो सुपरस्टार MITB ब्रीफकेस जीतेगा, वो उसे कभी भी कैश इन कर चैंपियन बन सकता है। इस ब्रीफकेस में चैंपियनशिप के लिए कॉन्ट्रैक्ट होता है। इस मैच में सभी सुपरस्टार्स रिंग में होते हैं और ऊपर ब्रीफकेस लटका होता है। सभी सुपरस्टार्स के बीच में से किसी भी तरह जो कोई भी रैसलर इस ब्रीफकेस को हासिल कर लेता है वो विजेता होता है। ब्रीफकेस को जीतने के बाद सुपरस्टार के पास उस समय से लेकर सिर्फ एक साल का वक्त होता है जिसके भीतर वो इसे चैंपियनशिप के लिए कैश इन किसी भी वक्त कहीं भी कर सकता है।

ऐजे, मिज, डैनियल ब्रायन, डॉल्फ जिगलर, सैथ रॉलिंस जैसे सुपरस्टार्स ने ब्रीफकेस को कैश इन करके खिताब अपने नाम किया है। रैसलमेनिया 31 में सैथ रॉलिंस ने ब्रॉक और रोमन के मैच में ब्रीफकेस कैश करके टाइटल अपने नाम किया था। ये पल आज तक का सबसे बेहतर कैश इन माना जाता है। खैर, अब देखना होगा कि इस साल कौन मिस्टर और मिस मनी इन द बैंक होते हैं।

WWE News in Hindi, RAW, SmackDown के सभी मैच के लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज़ स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं

 


 

Published 24 Apr 2019, 11:00 IST
Advertisement
Fetching more content...