Create
Notifications

3 कारण जो बताते हैं कि रोमन रेंस के लिए यूनिवर्सल टाइटल किसी 'शाप' से कम नहीं है

रोमन रेंस
रोमन रेंस
Ankit

WWE द्वारा 25 जुलाई 2016 को फैंस के सामने यूनिवर्सल टाइटल को लाया गया और ऐलान किया कि 2 सुपरस्टार्स समरस्लैम में लड़ेंगे। रोमन रेंस भी इस रेस में शामिल थे लेकिन फिन बैलर ने उन्हें हराया और नंबर वन कंटेंडर बने।

ये भी पढ़ें-रोमन रेंस के कारण ब्रॉन स्ट्रोमैन से कुछ दिनों बाद छिन जाएगा यूनिवर्सल टाइटल?

फिन बैलर ने सबसे पहले इस टाइटल को जीता लेकिन चोट के कारण अलगी रात उन्हें खिताब को वापस करना पड़ा। फिर से एक मैच को रखा गया जिसमें बिग कैस, रोमन रेंस, केविन ओवेंस और सैथ रॉलिंस शामिल थे। उम्मीद थी कि रोमन रेंस जीत जाएंगे लेकिन ट्रिपल एच ने दस्तक देकर सभी मंसूबों पर पानी फेर दिया।

ट्रिपल एच ने पहले रोमन रेंस और फिर सैथ रॉलिंस को मारकर केविन ओवेंस को चैंपिनय बनाया। जिसके बाद मान लिया गया था कि रोमन रेंस और यूनिवर्सल टाइटल एक दूसरे लिए नहीं बने हैं। हालांकि यहां हम आपको ऐसे तीन कारण बता रहे हैं जो साफ बताते हैं कि रोमन रेंस के लिए यूनिवर्सल टाइटल किसी शाप से कम नहीं है।

रेसलमेनिया में नहीं जीत सके टाइटल

रेसलमेनिया 34 की तस्वीर
रेसलमेनिया 34 की तस्वीर

रेसलमेनिया 34 के दौरान रोमन रेंस के पास मौका था कि वो ब्रॉक लैसनर को हराकर यूनिवर्सल टाइटल जीते। गोल्डबर्ग को रेसलमेनिया 33 में हराकर लैसनर ने टाइटल जीता था जिसके बाद उन्हें कोई नहीं ढेर कर पाया था।

रेसलमेनिया 34 की कहानी को रेसलमेनिया 31 के बिल्ड अप की तरह देखा जा रहा था, जहां रेंस जीत के करीब थे लेकिन रॉलिंस ने कैश इन कर सब बर्बाद कर दिया था। रोमन रेंस और लैसनर का मैच काफी अच्छा चल रहा था, जबरदस्त रोमांच के साथ लगभग तय था कि रोमन रेंस नए चैंपियन बनेंगे और ब्रॉक लैसनर को ग्रैंड स्टेज में हराने वाले सुपरस्टार्स भी। हालांकि अंतिम पलों में नतीजे को बदल दिया और जीत लैसनर की हुई। ये पहला मौका था जब रोमन रेंस के हाथ आते आते टाइटल छूट गया।

WWE और रेसलिंग से जुड़ी तमाम बड़ी खबरों के साथ-साथ अपडेट्स, लाइव रिजल्ट्स को https://www.facebook.com/SKWrestlingHindi/ पर पाएं

ल्यूकीमिया के कारण टाइटल को छोड़ना पड़ा

रोमन रेंस ने बीमारी का ऐलान किया था
रोमन रेंस ने बीमारी का ऐलान किया था

समरस्लैम 2018 में वो पल आ गया जिसका इंतजार रोमन रेंस सालों से कर रहे थे। रोमन रेंस ने समरस्लैम में ब्रॉक लैसनर को हराकर पहली बार यूनिवर्सल टाइटल को जीता। लेकिन कहते ही की वक्त बुरा हो तो कुछ भी हो सकता है।

समरस्लैम के कुछ महीनों बाद 22 अक्टूबर 2018 को रोमन रेंस ने ऐलान किया कि उनको ल्यूकीमिया बीमारी है जिसके कारण वो लड़ नहीं पाएंगे। रोमन रेंस ने टाइटल को छोड़ दिया था और चले गए थे। जिसके बाद रेंस और यूनिवर्सल टाइटल को एक दूसरे लिए शाप माना जा रहा है। रोमन रेंस ने 25 फरवरी 2019 को वापसी करते हुआ कहा कि वो ठीक हैं और लड़ सकते हैं।

रेसलमेनिया 36 से नाम वापस लिया

रोमन रेंस और गोल्डबर्ग
रोमन रेंस और गोल्डबर्ग

2018 के बाद रेसलमेनिया 36 में रोमन रेंस को यूनिवर्सल टाइटल के लिए गोल्डबर्ग के खिलाफ मैच दिया गया। मैच बुक हो चुका था और तैयारियां लगभग पूरी थी। ये तय था कि गोल्डबर्ग को हारकर रोमन रेंस ना सिर्फ टाइटल जीतेंगे जबकि एक विरासत का अंत करेंगे। मगर शाप तो शाप होता है।

रेसलमेनिया 36 टैम्पा में होने वाली थी लेकिन दुनियाभर में फैली कोरोना वायरस की महामारी के कारण रेसलमेनिया को परफॉर्मेंस सेंटर में करना पड़ा। रोमन रेंस ने अपना नाम वापस लिया और माना गया की सेहत के चलते उन्होंने ये किया। रोमन रेंस की जगह स्ट्रोमैन को मौका मिला और उन्होंने जीत दर्ज की। हालांकि अब साफ है कि उन्होंने रेसलमेनिया से नाम वापस इसलिए लिया था क्योंकि उनकी पत्नी प्रेग्नेंट हैं।

ये कहना गलत नहीं होगा कि यूनिवर्सल टाइटल और रोमन रेंस की शायद एक दूसरे के लिए नहीं बने हैं। क्योंकि कई मोके मिलने के बाद रेंस जीत का स्वाद अच्छे से नहीं चख पाएं।

Edited by Ankit

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...