COOKIE CONSENT
Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

WWE के लिए WrestleMania 35 सबसे बड़ी चुनौती और उससे भी बड़ा मौका

SENIOR ANALYST
फ़ीचर
1.61K   //    11 Jan 2019, 14:04 IST

Enter caption

रैसलमेनिया एक ऐसा इवेंट है, जहां पर WWE और रैसलरों की पूरे साल भर की मेहनत का हिसाब होता है। बहुत सारे रैसलर होते हैं, जिन्हें अच्छा काम करने के बाद भी एक छोटा मैच मिलता है क्योंकि इतने सारे रैसलरों को इस सबसे बड़े इवेंट के लिए अच्छा मैच देना क्रिएटिव टीम के लिए बड़ी चुनौती होती है।

अब रॉयल रंबल खत्म होने के बाद रोड टू रैसलमेनिया की शुरुआत हो जाएगी। अभी से बहुत सारे फैंस जहन में अपनी तरह से रैसलमेनिया का मैच कार्ड भी बनाकर बैठ गए होंगे। किसी ने सोचा होगा कि यूनिवर्सल चैंपियनशिप मैच रैसलमेनिया को हैडलाइन करेगा तो काफी सारे लोग विमेंस रैसलरों के मेन इवेंट मैच में लड़ने के बारे में सोच रहे होंगे।

रैसलमेनिया 35 पिछले कई सालों में WWE के लिए सबसे चुनौतीपूर्ण मेनिया हो सकता है। हमारे द्वारा ऐसा कहने के पीछे कई सारी वजहें हैं। इसके अलावा ये रैसलमेनिया कंपनी की साख को बहुत बढ़ा सकता है। यानी WWE के लिए कामयाबी और चुनौती दोनों ही सामने हैं, कंपनी अच्छे फैसलों के जरिए अपनी राह आसान कर सकती है।

AEW का जिन्न

थोड़े समय पहले All Elite Wrestling के बनने की खबरें सामने आई। इस हफ्ते पता चला कि क्रिस जैरिको जैसे दिग्गज ने भी AEW का दामन थाम लिया है। इंडिपेंडेंट रैसलिंग के कई सारे सुपरस्टार इस कंपनी के साथ कॉन्ट्रैक्ट साइन कर चुके हैं। AEW के पीछे टोनी खान जैसे अरबपति का हाथ है। मतलब कंपनी के पास पैसा है और अच्छे रैसलर इस कंपनी का हिस्सा बन चुके हैं। भले ही AEW, WWE को बड़े स्तर पर चैलेंज ना कर पाए, लेकिन ये कंपनी का सिरदर्द जरूर बढ़ा सकती है। क्योंकि पिछले साल हुए All In इवेंट को देखकर बात आसानी से समझी जा सकती है। उस इवेंट को कोडी और यंग बक्स ने करवाया, जिसे हर तरफ से वाहवाही मिली।

चुनौती में ही छिपी है कामयाबी

लगातार गिरती हुई टीआरपी, मार्केट में नया चैलेंजर, WWE प्रोडक्ट को लेकर फैंस की कम होती हुई दिलचस्पी, ये कुछ चीज़ें हैं जिनको दिमाग में रखकर कंपनी आगे बढ़ रही है। दिसंबर महीने में विंस मैकमैहन ने बताया कि अब फैंस को ध्यान रखकर ही नई मैच और स्टोरीलाइन तैयार की जाएगी। इस कड़ी में WWE के लिए सबसे बड़ी परीक्षा रैसलमेनिया 35 होगा। अगर रैसलमेनिया फ्लॉप रहा, तो कंपनी की मुसीबतें बहुत बढ़ जाएंगी (AEW और उसके इवेंट्स को लेकर फैंस की उत्सुकता बढ़ेगी), लेकिन अगर कंपनी यहां फैंस का दिल जीतने में कामयाब रही तो उसकी राह आसान होगी।

जो इतिहास में कभी नहीं हुआ वो रैसलमेनिया 35 में होना रहेगा फायदेमंद

एटिट्यूड एरा से लेकर कुछ साल पहले तक विमेंस रैसलिंग को फैंस देखना पसंद नहीं करते थे। लेकिन अब सूरत-ए-हाल बदल चुके हैं। 2-3 सालों से विमेंस रैसलिंग को लोग काफी पसंद कर रहे हैं। रोंडा राउज़ी, शार्लेट, बैकी लिंच, पेज, साशा बैंक्स जैसी महिला रैसलरों ने रॉ, स्मैकडाउन के अलावा पे-पर-व्यू को हैडलाइन किया है। ये विमेंस रैसलिंग के बढ़ते कद की ओर इशारा करता है।

अब कमी सिर्फ रैसलमेनिया को हैडलाइन करने की है। अब तक हुई 34 रैसलमेनिया के किसी भी मेन इवेंट में महिला रैसलरों ने मैच नहीं लड़ना है। लेकिन रैसलमेनिया 35 WWE और पूरी दुनिया की महिला रैसलरों के लिए मील का पत्थर साबित हो सकता है।

रोमन रेंस कैंसर की वजह से अब WWE से दूर हैं। वो कंपनी का अभी हिस्सा होते तो शायद मेन इवेंट में वही लड़ते। लेकिन रोमन रेंस की गैरमौजूदगी WWE को इतिहास बनाने में मदद कर सकती है। रैसलिंग फैंस ब्रॉक लैसनर, जॉन सीना जैसे फैंस को मेन इवेंट में नहीं देखना चाहेंगे। जिस तरह से विमेंस रैसलरों ने पिछले सालों में प्रदर्शन किया है, हर कोई उन्हें ही मेन इवेंट में देखना चाहेगा।

विमेंस रैसलरों द्वारा रैसलमेनिया हैडलाइन करने की खबर पूरे वर्ल्ड में सुर्खियां बटोरेगी। ये WWE की अच्छी रेपुटेशन और और भी अच्छा बनाएगी। इस वजह से बाकी रैसलिंग ब्रांडों पर दबाव बनेगा।

Tags:
Advertisement
Advertisement
Fetching more content...