Create
Notifications

"मैं जिंदर महल के कारण एक प्रो रैसलर नहीं बन पाया "

Ankit
visit

अर्जन भुल्लर MMA में भारतीय मूल के पहले फाइटर थे जिन्होंने UFC की फाइट UFC 2015 में जीती थी। हाल ही में The Sun in the UK को भुल्लर ने इंटरव्यू दिया जिसमें उन्होंने बताया कि जिंदर महल ने उन्हें सुझाव दिया था कि वो वर्ल्ड प्रो रैसलिंग से दूर रहे और अपने काम पर ध्यान लगाए। WWE को कई बार देखा गया है कि वो MMA फाइटर्स को कंपनी में लाने की कोशिश में लगे रहते है। हालांकि WWE में कदम रखना काफी मुश्किल होता है। अर्जन भुल्लर ने साल 2012 लंदन समर ओलंपिक में कनाडा को प्रतिनिधित्व किया था। जहां उन्होंने फ्री स्टाइल रैसलिंग में हिस्सा लिया था। अपने इंटरव्यू के दौरान भुल्लर ने कहा कि वो उसके बाद अपना करियर MMA और WWE में बनाने वाले थे। जिसके बाद वो प्रो रैसलिंग के एक मेंबर से मिले जिन्होंने उन्हें सुझाव दिया। "सही माइनों में, मैं जिंदर से मिला और उनसे मैंने शेड्यूल पूछा और सुझाव लिया कि क्या इस बिजनेस में आना ठीक होगा। जिसके बाद मैंने सोचा कि जिंदर काफी व्यस्त रहते है जिसके कारण वो घर पर समय कम देते हैं। हालांकि मैं एक पारिवारिक इंसान हूं और इसलिए मैंने UFC को अपने करियर के लिए चुन लिया। " इसे भी पढ़ें: 4 कारण जो साबित करते हैं कि जिंदर महल ने एक हील चैंपियन के तौर पर शानदार काम किया जिंदर महल ने WWE में अपना नाम बना लिया है और अब मॉर्डन डे महाराजा के नाम से जाने जाते हैं। वहीं अर्जन भुल्लर अब अपनी अगली फाइट की तैयारियों में जुटे हैं। ये फाइट ऑक्टागन में मार्च 2018 में होने वाली है।


Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now