Create

3 कारणों से भारत को WTC फाइनल जीतने का प्रबल दावेदार कहा जा सकता है

भारतीय टेस्ट टीम
भारतीय टेस्ट टीम
reaction-emoji
Prashant Kumar

आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के पहले संस्करण के फाइनल के लिए अब बस कुछ सप्ताह का ही समय रह गया है। इस फाइनल मुकाबले में भारतीय टीम के साथ-साथ न्यूजीलैंड की टीम ने भी अपनी जगह बनाई है। यह दोनों ही टीमों ने विपक्षी टीमों के खिलाफ उम्दा प्रदर्शन करते हुए यहां तक पहुंची हैं। ऐसे में दोनों ही टीमें इस बड़े मुकाबले को जीतने के लिए कोई कमी नहीं रखना चाहेंगी। दोनों टीमों के बीच यह फाइनल मुकाबला अगले महीन साउथैम्पटन में 18 जून से 22 जून के बीच खेला जायेगा।

बात की जाए भारतीय टीम की तो भारत ने अभी तक इस चैंपियनशिप के तहत जितनी भी टेस्ट सीरीज खेली हैं, उनका प्रदर्शन बहुत ही सराहनीय रहा है। इस दौरान ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज जीतने में कामयाबी हासिल की। भारतीय टीम इस बड़े मुकाबले तथा उसके बाद इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज खेलने के लिए 2 जून को रवाना होगी।

यह भी पढ़ें: 3 बल्लेबाज जिन्होंने IPL में सबसे ज्यादा बार एक ओवर में 3 या उससे अधिक छक्के लगाए हैं

हालांकि न्यूजीलैंड की टीम पहले ही वहां पहुँच कर अभ्यास शुरू कर चुकी है और उनके पास वहां की परिस्थितियों में ढलने का ज्यादा मौका होगा। इसके बावजूद भारतीय टीम को कम नहीं आंका जा सकता है। इस आर्टिकल में हम उन 3 बड़े कारणों को बताने जा रहे हैं, जिनकी वजह से भारत को प्रबल दावेदार माना जा सकता है।

3 कारणों से भारत को WTC फाइनल जीतने का प्रबल दावेदार कहा जा सकता है

#3 भारतीय टीम का हालिया जबरदस्त प्रदर्शन

ऑस्ट्रेलिया को उसी के घर में हारने के बाद भारतीय टीम जश्न मनाते हुए
ऑस्ट्रेलिया को उसी के घर में हारने के बाद भारतीय टीम जश्न मनाते हुए

भारतीय टेस्ट टीम के हालिया फॉर्म को देखें तो टीम इस समय जबरदस्त लय में है। भारत ने ऑस्ट्रेलिया में अपने कई प्रमुख खिलाड़ियों के बगैर सीरीज जीत हासिल की थी, जो टीम की काबिलियत को साफ़ तौर पर दर्शाता है। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज के पहले टेस्ट में दूसरी पारी में मात्र 36 रन पर ऑलआउट होने तथा मैच हारने के बाद बाक़ी मैचों में शानदार प्रदर्शन कर पूरी तरह से अपना दबदबा बनाये रखते हुए सीरीज जीती थी।

इसके बाद टीम ने इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू टेस्ट सीरीज में पहला मैच हारने के बाद जबरदस्त तरीके से वापसी करते हुए 3-1 से सीरीज जीती। सभी भारतीय खिलाड़ियों ने अलग-अलग मैचों में अपना शानदार प्रदर्शन दिखाया है और यही कारण है कि फाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ टीम को प्रबल दावेदार कहा जा सकता है।

#2 अनुभवी गेंदबाजी आक्रमण

विराट कोहली ने अपनी कप्तानी में तेज गेंदबाजी का स्तर बहुत ऊंचा कर दिया है
विराट कोहली ने अपनी कप्तानी में तेज गेंदबाजी का स्तर बहुत ऊंचा कर दिया है

आज से कुछ समय पहले भारतीय टीम को विदेशों में अपनी गेंदबाजी के कारण संघर्ष करना पड़ता था क्योंकि भारत के पास मुश्किल से एक-दो तेज गेंदबाज हुआ करते थे, जो विदेश में जाकर अच्छा कर सकें। हालांकि अब विराट कोहली ने अपनी कप्तानी में तेज गेंदबाजी को बढ़ावा दिया है और टीम के पास अब कई विकल्प मौजूद हैं। टीम में इशांत, शमी, बुमराह, सिराज और शार्दुल ठाकुर के रूप में बेहतरीन विकल्प हैं।

इसके अलावा स्पिन गेंदबाजों में अश्विन, जडेजा, सुन्दर और अक्षर भी हैं। भारत के प्रमुख गेंदबाजों को बहुत अनुभव है और इनमें से कुछ गेंदबाजों को छोड़कर सभी ने इंग्लैंड में खेला भी है। न्यूजीलैंड के कम अनुभवी बल्लेबाजों के सामने भारतीय गेंदबाज अपने अनुभव का फायदा उठाकर उन्हें बड़ा स्कोर बनाने से रोकने में कामयाब हो सकते हैं।

#1 मजबूत बल्लेबाजी

भारतीय बल्लेबाजी ने अभी तक अच्छा प्रदर्शन किया है
भारतीय बल्लेबाजी ने अभी तक अच्छा प्रदर्शन किया है

भारतीय टीम जब अगले महीने फाइनल मुकाबले में उतरेगी तो उसके पास न्यूजीलैंड के गेंदबाजों का सामना करने के लिए एक मजबूत बल्लेबाजी क्रम मौजूद है। भारत के पास कई ऐसे खिलाड़ी हैं, जो निचले क्रम में भी शानदार बल्लेबाजी की क्षमता रखते हैं। वहीं मुख्य बल्लेबाजों में रोहित, पुजारा, कोहली, रहाणे और पंत के रूप में ऐसे बल्लेबाज हैं, जो किसी भी गेंदबाजी आक्रमण के सामने अच्छा कर सकते हैं। इनमें से ज्यादातर खिलाड़ियों का हालिया फॉर्म भी अच्छा रहा है।

Edited by Prashant Kumar
reaction-emoji

Comments

Quick Links

More from Sportskeeda
Fetching more content...