3 कम प्रसिद्ध खिलाड़ी जिन्होंने टीम को जिताने के लिए आखिरी गेंद पर छक्का लगाया 

चमारा कपुगेदरा
चमारा कपुगेदरा

किकेट में जब कोई बल्लेबाज छक्का लगाता है तो उसे एक अलग तरह का ही विश्वास आता है। इस मामले में भारतीय बल्लेबाज वीरेंदर सहवाग का नाम सबसे पहले लिया जा सकता है। सहवाग चाहे 9 रन बनाकर खेल रहें हो या 299 पर, वो छक्का मारने में कभी भी हिचकिचाते नहीं थे और कुछ इसी तरह के अंदाज के लिए वेस्टइंडीज़ के क्रिस गेल का नाम भी प्रसिद्द है। क्रिकेट में कई बार देखा गया जब जानेमाने खिलाड़ियों ने आखिरी गेंद पर छक्का मारकर टीम को जीत दिलाई।

चेतन शर्मा के खिलाफ जावेद मियांदाद द्वारा शारजाह में आखिरी गेंद पर लगाया गया छक्का अभी तक सभी को याद है। हाल ही के कुछ वर्षों में ऐसा ही एक कारनामा दिनेश कार्तिक ने भी किया और निदहास ट्रॉफी 2018 के फाइनल में सौम्य सरकार की आखिरी गेंद पर छक्का लगाकर भारत को जीत दिलाई थी। लिमिटेड ओवरों की क्रिकेट में ऐसा भी कई बार हुआ है, जब कम प्रसिद्ध खिलाड़ी ने छक्का जड़कर अपनी टीम को जीत दिलाई।

यह भी पढ़ें: आईपीएल की ऑलटाइम इलेवन पर एक नजर

इस आर्टिकल के माध्यम से हम ऐसे ही 3 कम चर्चित खिलाड़ियों के बारे में चर्चा करने जा रहे हैं जिन्होंने मैच की आखिरी गेंद पर छक्का लगाकर टीम को जीत दिलाई:

#3 जुल्फिकार बाबर बनाम वेस्टइंडीज (किंग्सटाउन टी20, 2013)

जुल्फिकार बाबर
जुल्फिकार बाबर

34 साल की उम्र में, जुल्फिकार बाबर ने पाकिस्तान के लिए वेस्टइंडीज के खिलाफ अंतर्राष्ट्रीय टी20 क्रिकेट में अपना डेब्यू किया। गेंद के साथ बाबर ने 23 रन देकर 3 विकेट लेने में सफलता हासिल की। वेस्टइंडीज ने 20 ओवर में पोलार्ड और सैमी की पारियों की मदद से 152 रन बनाये और पाकिस्तान को जीत के 153 रनों का लक्ष्य मिला।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी पाकिस्तान के लिए डेब्यू के करने वाले दूसरे खिलाड़ी में उमर अमीन के 47 रन और शाहिद अफरीदी की 46 रन की पारी के बावजूद 19 ओवर में 7 विकेट खोकर 145 रन बनाए थे। पाक को आखिरी ओवर में जीत के लिए 6 रन की दरकार थी। सैमुएल्स पारी का आखिरी ओवर डालने आये और उनकी पहली गेंद पर बाबर ने चौका लगाया। इसके बाद कुछ डॉट गेंदे और अजमल के रन आउट होने के बाद पाकिस्तान को आखिरी गेंद पर 1 रन चाहिए था। सैमुएल्स की फुल टॉस गेंद पर छक्का लगाकर बाबर ने पाकिस्तान को मैच जितवा दिया।

#2 चमारा कपुगेदरा बनाम भारत (2010 वर्ल्ड टी20, ग्रोस आइलेट)

चमारा कपुगेदरा
चमारा कपुगेदरा

चमारा कपुगेदरा भारत के खिलाफ ग्रोस आइलेट में 2010 के विश्व टी20 के लीग मुकाबले में श्रीलंका को जीत दिलाने के लिए याद किये जायेंगे। पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत ने सुरेश रैना के 63 और ओपनर गौतम गंभीर की 41 रनों की पारी के दम पर 5 विकेट पर 163 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाया।

जवाब में, सनथ जयसूर्या और महेला जयवर्धने सस्ते में आउट हो गए लेकिन तिलकरत्ने दिलशान ने 33 रनों का योगदान दिया और टीम को संभाला। कप्तान कुमार संगकारा और एंजेलो मैथ्यूज ने साझेदारी कर टीम को उबारा। आखिरी ओवर में श्रीलंका को जीत के लिए 13 रन चाहिए थे और गेंद आशीष नेहरा के हाथ में थी। मैथ्यूज ने पहली ही गेंद पर छक्का जड़ कर ओवर की शानदार शुरुआत की। मैथ्यूज इसके बाद रन आउट हो गए और टीम को आखिरी गेंद पर 3 रन चाहिए थे। कपुगेदरा ने स्वीपर कवर के ऊपर से छक्का जड़कर टीम को जीत दिला दी।

#1 रयान मैकलारेन बनाम न्यूजीलैंड (पोचेफस्ट्रूम वनडे, 2013)

रयान मैकलेरन
रयान मैकलेरन

रयान मैकलारेन ने यह कारनामा 2013 न्यूजीलैंड के खिलाफ तीसरे वनडे मैच में किया था। न्यूजीलैंड ने 50 ओवर में 260 रन बनाये थे। इसके जवाब में दक्षिण अफ्रीका के लिए स्मिथ ने 116 रन की पारी खेली। हालाँकि मैकलारेन ने दूसरे छोर से रन बनाकर टीम को चेस में बनाये रखा। आखिरी ओवर में टीम को जीत के लिए 8 रन चाहिए थे और गेंद जेम्स फ्रैंकलिन के हाथ में थी। फ्रैंकलिन ने शुरू की 5 गेंदों पर 4 रन दिए। स्टेन ने पांचवी गेंद पर एक रन लेकर मैकलारेन को स्ट्राइक पर ला दिया।

आखिरी गेंद पर 3 रन चाहिए थे और मैकलारेन ने शार्ट बॉल पर छक्का जड़कर दक्षिण अफ्रीका को एक यादगार जीत दिला दी।

Quick Links

App download animated image Get the free App now