Create

5 क्रिकेटर जो वनडे में लंबे करियर के बाद भी अब तक टिके हुए हैं

Sachin scored 49 hundred and 96 fifties in his 22-year ODI career

क्रिकेट के मैदान पर जब भी सबसे ज्यादा वक्त बिताने वाले खिलाड़ियों की बात होती है तो सबसे पहला नाम भारतीय टीम के पूर्व खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर का आता है। सचिन ने 22 साल 91 दिनों का समय इंटरनेशनल क्रिकेट को दिया है। इस दौरान उन्होंने वनडे में 18,426 रन बनाए हैं।

दिसंबर 1989 में सचिन ने डेब्यू मैच पाकिस्तान के खिलाफ खेला, जिसमें 0 के स्कोर पर वकार यूनिस ने उनका विकेट ले लिया था। इसके बाद सचिन ने दो दशक से भी ज्यादा के अपने करियर का आखिरी वनडे मैच भी सचिन ने पाकिस्तान के खिलाफ खेला था। मार्च 2012 में एशिया कप के दौरान सचिन ने ढाका में अपने आखिरी मैच में 52 रन क स्कोर बनाया था, जिसके बाद उन्होंने संन्यास ले लिया था।

अब यहां जानिए कुछ ऐसे क्रिकेटर्स के बारे में जिन्होंने अपना काफी लंबा समय इंटरनेशनल क्रिकेट के लिए खेलने में बिताया है और अभी भी अपनी टीम के लिए प्रदर्शन कर रहे हैं।

#5 मशरफे मुर्तजा-16 साल 334 दिन

England v Bangladesh - ICC Champions Trophy

बांग्लादेश के मशरफे मुर्तजा ने अपना वनडे डेब्यू 23 नवंबर 2001 को जिम्बाब्वे के खिलाफ खेला। इसके बाद उन्होंने अपने अबतक के करियर में कई उतार-चढ़ाव देखे हैं, जिसके बाद उन्हें टीम की कप्तानी भी सौंप दी गई। मुर्तजा ने अपने देश के लिए 199 वनडे मैच खेले हैं जिसमें 252 विकेट लिए हैं।

मुर्तजा ने सबसे शानदार प्रदर्शन 2006 में केन्या के खिलाफ किया था। इस मैच में उन्होंने 26 रन देते हुए 6 विकेट हासिल किए थे। 147 पारियों में मुर्तजा ने 1722 रन बनाए हैं। उनका सबसे ज्यादा स्कोर 51 रन रहा है। मुर्तजा ने अप्रैल 2017 में टी20 से अपने संन्यास का ऐलान कर दिया था।

यह भी पढ़ें: क्रिकेट इतिहास के ये 3 बड़े रिकॉर्ड तोड़ना है मुश्किल

क्रिकेट की ब्रेकिंग न्यूज़ और ताज़ा ख़बरों के लिए यहां क्लिक करें

#4 हैमिल्टन मसाकाद्जा- 17 साल 33 दिन

Zimbabwe v the United Arab Emirates - 2015 ICC Cricket World Cup

हैमिल्टन जिम्बाब्वे क्रिकेट टीम के कप्तान और सीनियर खिलाड़ी हैं। इन्होंने 23 सितंबर 2001 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ अपना वनडे डेब्यू किया था। इसके बाद से वो लगातार खेल रहे हैं।

वनडे के 17 साल 33 दिन के करियर में हैमिल्टन ने 204 मैच खेले हैं। हैमिल्टन ने अपना आखिरी मैच 26 अक्टूबर 2018 को बांग्लादेश के खिलाफ खेला था। इन्होंने अपने करियर में 5604 रन बनाए हैं, जिसमें उनका सबसे बड़ा स्कोर केन्या के खिलाफ 178 नबाद पारी का है।

जिम्बाब्वे की ओर से वनडे में सर्वोच्च स्कोर के मामले में हैमिल्टन चौथे नंबर पर आते हैं। हैमिल्टन टी20 और टेस्ट दोनों फॉर्मेट में भी खेल रहे हैं।

यह भी पढ़ें: 3 प्रतिभाशाली सलामी भारतीय बल्लेबाज जो टेस्ट क्रिकेट में शतक नहीं लगा पाए

#3 मार्लोन सैमुअल्स- 18 साल 28 दिन

Samuels failed to create an impact in the series against India

वेस्टइंडीज के ऑलराउंडर मार्लोन सैमुअल्स टी20 2016 के हीरो हैं और इन दिनों आईसीसी 2019 वर्ल्ड कप के लिए कमर कस रहे हैं। 37 साल का यह खिलाड़ी अभी तक के करियर के दौरान कई बार अनुशासनहीनता, मैच फिक्सिंग और दोषपूर्ण गेंदबाजी को लेकर विवादों में आ चुका है। हालांकि इसके बावजूद भी अपने हुनर और शानदार प्रदर्शन को लेकर सैमुअल्स की जगह टीम में बरकरार है।

204 मैचों में मार्लोन सैमुअल्स ने 33.14 की औसत से 5536 रनों का बेहतरीन स्कोर बनाया है। मार्लोन सैमुअल्स धाकड़ बल्लेबाजों में भी जाने जाते हैं। उनके इस स्कोर में 10 शतक और 30 अर्धशतक की पारियां भी शामिल है। वहीं गेंदबाजी की बात करें तो सैमुअल्स राइट हैंड ऑफ ब्रेक गेंदबाज हैं। वनडे में मार्लोन सैमुअल्स ने 89 विकेट लिए है।

यह भी पढ़ें: वनडे क्रिकेट में ये 3 धाकड़ बल्लेबाज बना सकते हैं 'तिहरा शतक'

#2 क्रिस गेल- 18 साल 320 दिन

Gayle is seen in T20 leagues more

टी20 में अपने प्रदर्शन को लेकर वेस्टइंडीज के खिलाड़ी ‘यूनीवर्सल बॉस’ क्रिस गेल की गिनती दुनिया के धुरंधर बल्लेबाजों में की जाती है। क्रिस गेल ने अपना वनडे डेब्यू भारत के खिलाफ 11 सितंबर 1999 को टोरंटो में किया था। इस मैच में रॉबिन सिंह ने 1 रन के स्कोर पर उनका विकेट झटक लिया था।

इसके बाद इंटरनेशनल करियर में क्रिस गेल ने कई रिकॉर्ड्स अपने नाम किए हैं। क्रिस गेल का सबसे शानदार रिकॉर्ड स्कोर 215 रन है। क्रिस गेल के नाम 23 शतक हैं। गेल की बल्लेबाजी औसत 37.34 की है। क्रिस गेल वनडे में 71 अर्धशतक बनाने वाले तीसरे वेस्टइंडीयन खिलाड़ी हैं। 2014 में गेल ने टेस्ट फॉर्मेट से संन्यास ले लिया था हालांकि बाकी फॉर्मेट में गेल अभी भी खेल रहे हैं।

यह भी पढ़ें: 3 भारतीय खिलाड़ी जो करियर के एकमात्र टेस्ट में नहीं ले पाए कोई विकेट

#1 शोएब मलिक- 19 साल 24 दिन

Malik is one of the most illustrated players

वनडे फॉर्मेट में अपने जबरदस्त प्रदर्शन के लिए मशहूर पाकिस्तान के 36 साल के ऑलराउंडर शोएब मलिक ने 14 अक्टूबर 1999 में वेस्टइंडीज के खिलाफ अपना वनडे डेब्यू किया था। शोएब मिडिल ओवर्स में मैच को पलटने के लिए जाने जाते हैं। शोएब ने अभी तक 272 वनडे में पाकिस्तानी टीम का प्रतिनिधित्व किया है।

इन मैचों में शोएब ने 35.56 की शानदार औसत के साथ 7256 रनों का स्कोर अपने नाम किया है। इन मौचों में उनका सबसे अच्छा स्कोर भारत के खिलाफ 143 रन है। ये स्कोर उन्होंने 2004 में एशिया कप में बनाया था।

गेंदबाजी की बात करें तो शोएब के नाम 156 विकेट हैं। गेंदबाजी में उनके करियर का सबसे अच्छा प्रदर्शन 19 रन देते हुए 4 विकेट है।

यह भी पढ़ें: 3 शानदार पारियां जिन्होंने भारतीय क्रिकेट के पैमाने को ही बदल दिया

लेखक: गोपाल मिश्रा

अनुवादक: हिमांशु कोठारी

Edited by सावन गुप्ता
Be the first one to comment