AUS vs IND - 5 बड़े रिकॉर्ड जो इस सीरीज के दौरान बन सकते हैं

भारतीय कप्तान विराट कोहली और ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन 
भारतीय कप्तान विराट कोहली और ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन 

भारतीय टीम (Indian Cricket Team) और ऑस्ट्रेलिया (Australia Cricket Team) टीम 17 दिसंबर से शुरू होने वाली बॉर्डर-गावस्कर सीरीज के लिए पूरी तरह से तैयारियों में लगी हुयी हैं। इस बहुचर्चित सीरीज को शुरू होने में अब बस कुछ घंटो का ही समय रह गया है। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच यह सीरीज काफी रोचक होने की उम्मीद है क्योंकि दोनों ही टीमों के पास टेस्ट प्रारूप के शानदार खिलाड़ी मौजूद हैं।

पिछली बार जब दोनों टीमें बॉर्डर-गावस्कर सीरीज में एक दूसरे से भिड़ी थी तब उस सीरीज में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को हराकर पहली बार ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज जीतने का ऐतिहासिक कारनामा किया था। इस बार भी भारतीय टीम ट्रॉफी को बचाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेगी।

यह भी पढ़े: AUS v IND - ऑस्ट्रेलिया में भारत की 3 सबसे खास और यादगार टेस्ट जीत

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खिलाड़ियों के द्वारा कई रिकॉर्ड बनाये जा चुके हैं और आगामी सीरीज में भी कई खिलाड़ियों के पास भी यह मौका होगा। इस आर्टिकल में हम उन 5 रिकॉर्ड की बात करने जा रहे हैं जो इस सीरीज के दौरान बन सकते हैं।

5 बड़े रिकॉर्ड जो इस सीरीज के दौरान बन सकते हैं

#5 मोहम्मद शमी के पास ऑस्ट्रेलिया में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले टॉप 3 भारतीय गेंदबाज बनने का मौका

 मोहम्मद शमी
मोहम्मद शमी

अनुभवी तेज गेंदबाज इशांत शर्मा की गैरमौजूदगी में मोहम्मद शमी के ऊपर अतिरिक्त जिम्मेदारी होगी। शमी के पास इस सीरीज में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सबसे ज्यादा विकेट लेने के मामले में टॉप 3 गेंदबाजों की सूची में शामिल होने का सुनहरा मौका है।

सात टेस्ट मैचों में शमी ने 30.83 की औसत से 31 विकेट लिए हैं। अगर वह आगामी सीरीज में पांच विकेट चटकायेंगे तो ऑस्ट्रेलिया में सबसे अधिक टेस्ट विकेट लेने वाले भारतीय गेंदबाजों की सूची में तीसरे स्थान पर आ जायेंगे। अभी यह रिकॉर्ड बिशन सिंह बेदी के नाम है। बेदी ने ऑस्ट्रेलिया में 7 टेस्ट मैचों में 35 विकेट अपने नाम किये हैं।

#4 नाथन लियोन के पास हरभजन सिंह को पीछे छोड़ने का मौका

नाथन लियोन
नाथन लियोन

ऑस्ट्रेलिया के ऑफ स्पिनर नाथन लियोन के कन्धों पर आगामी सीरीज में बड़ी जिम्मेदारी होगी। लियोन बॉर्डर-गावस्कर सीरीज में चौथे सबसे सफल गेंदबाज हैं। लियोन ने बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के अंतर्गत खेले 18 टेस्ट मैचों में 85 विकेट चटकाए हैं और उनके पास आने वाली सीरीज में हरभजन सिंह को पीछे छोड़ कर तीसरे सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज बनने का मौका होगा। हरभजन के नाम 18 टेस्ट में 85 विकेट हैं।

#3 चेतेश्वर पुजारा के पास सहवाग को पीछे छोड़ने का मौका

चेतेश्वर पुजारा
चेतेश्वर पुजारा

2018-19 में भारत की बॉर्डर-गावस्कर सीरीज में चेतेश्वर पुजारा ने भारत के लिए सबसे ज्यादा रन बनाये थे और भारत की सीरीज जीत में अहम रोल निभाया था। आगामी सीरीज में बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी में सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में पुजारा के पास वीरेंदर सहवाग को पीछे छोड़ने का मौका होगा। पुजारा के पास 16 टेस्ट में 1622 रन हैं और सहवाग के नाम 22 मैचों में 1738 रन हैं। पुजारा अभी आठवें नंबर पर हैं और अगर वह 117 रन और बना देंगे तो सहवाग को पीछे छोड़ते हुए सातवें नंबर पर पहुँच जाएंगे।

#2 बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी में एक ऑस्ट्रेलियाई द्वारा सर्वाधिक शतक बनाने वाले बल्लेबाज बनने का मौका

स्टीव स्मिथ
स्टीव स्मिथ

वर्तमान समय के टेस्ट के दिग्गज बल्लेबाज स्टीव स्मिथ को बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी में ऑस्ट्रेलिया की तरफ से सबसे ज्यादा शतक बनाने वाले बल्लेबाज बनने के लिए दो शतकों की जरूरत है। स्मिथ के नाम बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के 10 टेस्ट मैचों में 7 शतक दर्ज हैं। ऑस्ट्रेलिया की तरफ से अभी यह रिकॉर्ड पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग के नाम है , जिनके नाम 29 मैचों में 8 शतक हैं। स्मिथ का भारत के खिलाफ सुनहरा टेस्ट रिकॉर्ड है , ऐसे में उनके पास इस रिकॉर्ड को अपने नाम करने का सुनहरा मौका होगा।

#1 एक कप्तान द्वारा सर्वाधिक अंतर्राष्ट्रीय शतक

विराट कोहली
विराट कोहली

आगामी टेस्ट सीरीज में विराट कोहली एक ही टेस्ट मैच में खेलेंगे, इसके बावजूद विराट के पास एक बड़ा रिकॉर्ड अपने नाम करने का सुनहरा मौका होगा। अगर विराट एडिलेड टेस्ट में शतक बनाते हैं तो वह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में कप्तान के रूप में सबसे ज्यादा शतक बनाने वाले खिलाड़ी बन जायेंगे। अभी कोहली और पोंटिंग दोनों के ही कप्तान के रूप में 41 शतक हैं।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar