Create
Notifications

5 भारतीय खिलाड़ी जो 2019 में अपना पहला विश्व कप खेल सकते हैं

Enter caption
Himanshu Kothari
visit

विश्वकप 2019 के लिए काफी कम समय बाकी है। इस टूर्नामेंट में शामिल होने वाली सभी टीमें अपनी सर्वश्रेष्ठ टीम कॉम्बिनेशन की तलाश में है। विश्वकप का बारहवां संस्करण 30 मई 2019 से शुरू होने वाला है, जिसकी मेजबानी इंग्लैंड के हाथों में है।

घर पर मौजूदा फॉर्म और अनुकूल परिस्थिति के चलते मेजबान इंग्लैंड अपने पहले विश्व कप खिताब जीतने के लिए एक मजबूत दावेदार होगा। इंग्लैंड के अलावा दो बार की विश्व विजेता टीम भारत भी विश्वकप 2019 में मजबूत दावेदारी पेश करेगी।

इस बेहद दबाव और रोमांचक टूर्नामेंट में कई सारे ऐसे खिलाड़ी होंगे जो अपना पहला विश्व कप खेलेंगे। ऐसे में आइए कुछ भारतीय खिलाड़ियों पर नजर डाली जाए जो 2019 में अपना पहला विश्व कप खेल सकते हैं और अपने दमदार प्रदर्शन से भारत को तीसरी बार विश्व चैम्पियन बनाने का माद्दा रखते हैं।

#5 केदार जाधव

Kedar Jadhav has been performing consistently for Team India

केदार जाधव की साल 2018 में बेहद खराब शुरुआत हुई क्योंकि वह आईपीएल के शुरुआती मैच में ही हैमस्ट्रिंग की चोट के कारण बाहर हो गए थे। इसने उन्हें पूरे आईपीएल सत्र से बाहर रखा और वह इंग्लैंड दौरे पर भी उपलब्ध नहीं थे।

हालांकि, उन्होंने एशिया कप टूर्नामेंट में टीम के लिए वापसी की, जहां उन्होंने उल्लेखनीय प्रदर्शन किया और भारत को खिताब डिफेंड करने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। उनका बल्लेबाजी में बेहतरीन प्रदर्शन था और परिस्थितियों की मांग के अनुसार उन्होंने महत्वपूर्ण रन बनाए। जाधव टीम इंडिया के लिए लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं और अपने छोटे ओडीआई करियर में उन्होंने 42.09 के औसत से 884 रन बनाए हैं।

वो अपनी जगह टीम में पक्की कर चुके हैं और चोट के अलावा कुछ भी उन्हें विश्व कप टीम में अपना स्थान लेने से नहीं रोक सकता।

यह भी पढ़ें: भारत के 5 क्रिकेट स्टेडियम जहां खेला जा सकता है 2023 के विश्व कप का फाइनल मैच

क्रिकेट की ब्रेकिंग न्यूज़ और ताज़ा ख़बरों के लिए यहां क्लिक करें

#4 कुलदीप यादव

Kuldeep Yadav is the third Indian to bag an ODI hat-trick

कुलदीप यादव सीमित ओवरों के मैच में भारत के लिए सबसे बड़े मैच विनर में से एक हैं। साल 2017 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे हैट-ट्रिक के बाद से इस चाइनामैन गेंदबाज ने अपने करियर में पीछे मुड़कर नहीं देखा है और लगातार भारतीय टीम के लिए अच्छी गेंदबाजी की है।

छोटे प्रारूपों में भारत के लिए सबसे बड़ा ट्रम्प कार्ड बनने में उन्हें बहुत लंबा समय नहीं लगा है। जून 2017 में उन्होंने अपने वनडे करियर की शुरुआत के बाद से 33 मैचों में 25.43 की स्ट्राइक रेट से 67 विकेट लिए हैं।

वह यजुवेंद्र चहल के साथ मिडिल ओवरों में गेंदबाजी करने आते हैं और विपक्षी टीम की कमर तोड़ कर रख देते हैं जिनकी गवाही उनके आंकड़े देते हैं। वह आने वाले विश्व कप में भारत की संभावनाओं की बहुत बड़ी कुंजी होंगे।

यह भी पढ़ें: 5 भारतीय क्रिकेटर जिनके लिए देश और टीम ही पहली प्राथमिकता रहे

#3 युजवेंद्र चहल

Yuzvendra Chahal in action

हरियाणा का ये खिलाड़ी पिछले दो सालों से सीमित ओवर प्रारूप में टीम इंडिया के लिए लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहा है। उन्होंने जून 2016 में अपनी वनडे करियर की शुरुआत की। तब से चहल ने 34 एकदिवसीय मैचों में 4.75 की प्रभावशाली इकॉनमी दर से 56 विकेट लिए हैं।

पिछले साल उनका दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ शानदार प्रदर्शन किया उन्होंने छह मैचों में19.5 की चौंकाने वाली स्ट्राइक रेट से 16 विकेट लिए। दक्षिण अफ्रीका में भारत को अपनी पहली वनडे श्रृंखला जीतने में उनका ये प्रदर्शन काफी महत्वपूर्ण था।

आईसीसी वनडे रैंकिंग में वर्तमान में वे पांचवें स्थान पर हैं। वह गेंद के साथ भारत के प्राथमिक खिलाड़ियों में से एक हैं। उनकी विकेट लेने की क्षमता इंग्लैंड में होने वाले वर्ल्ड कप एक बड़ा अंतर पैदा करेगी। ऐसे में चहल 2019 का विश्व कप भारत के लिए खेल सकते हैं।

यह भी पढ़ें: 11 गेंदबाज जिन्होंने विश्व कप में डाली आखिरी गेंद

#2 जसप्रीत बुमराह

Enter caption

जनवरी 2016 में अपनी करियर की शुरुआत के बाद से बुमराह ने सभी प्रारूपों में भारत के लिए शानदार प्रदर्शन किया है। वह बहुत ही कम समय के भीतर भारत के प्रमुख गेंदबाज बन गए और वर्तमान में वह नंबर 1 वनडे गेंदबाज हैं।

2016 में अपने वनडे करियर की शुरुआत के बाद से बुमराह ने 44 मैच खेला है, जहां उन्होंने 28.36 की स्ट्राइक रेट से 78 विकेट लिए और उनका इकॉनोमी रेट मात्र 4.45 का रहा है। वे बेहतरीन लाइन और लेंथ से गेंदबाजी करते हैं जो बल्लेबाजों के लिए कठिनाई का सबब बनता है। भारतीय गेंदबाजी लाइन-अप में बुमराह का कोई विकल्प नहीं है और यह लगभग निश्चित है कि वह विश्व कप खेलेंगे। उनकी गेंदबाजी विश्व कप में भारत के अभियान में निर्णायक भूमिका निभाएगी।

यह भी पढ़ें: 3 भुला दिए गए भारतीय क्रिकेटर जो वर्ल्ड कप के लिए टीम का बैकअप बन सकते हैं

#1 हार्दिक पांड्या

Hardik Pandya can be the X-factor for India in the World Cup

हार्दिक पांड्या टीम को एक अच्छा संतुलन प्रदान करते हैं। वह मध्य क्रम में कहीं भी बल्लेबाजी कर सकते हैं और अंत के ओवरों में बड़ी हिट लगा सकते हैं। बड़ौदा के इस खिलाड़ी ने 2016 में अपना वनडे पदार्पण किया और अब तक उन्होंने 42 मैचों की 27 पारियों में 114.53 की शानदार स्ट्राइक दर और लगभग 30 के औसत से स्कोर किया है। उनके नाम 40 विकेट भी हैं।

वर्तमान में वह अपनी पीठ की चोट के कारण आराम कर रहे हैं। एशिया कप 2018 टूर्नामेंट में पाकिस्तान के खिलाफ उन्हें यह चोट लगी थी। वहीं अब उनके जल्द ही ठीक होने की उम्मीद है, उनकी वापसी काफी महत्वपूर्ण होगी क्योंकि वह भारतीय टीम का एक ऐसा महत्वपूर्ण हिस्सा हैं जो विश्व कप में भारत के भाग्य के लिए काफी मायने रखता है।

यह भी पढ़ें: 5 भारतीय खिलाड़ी जिन्हें अगले साल आईपीएल में हिस्सा नहीं लेना चाहिए

लेखक: राजा

अनुवादक: हिमांशु कोठारी

Edited by निशांत द्रविड़
Article image

Go to article

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now