Create

5 मौके जब किसी खास बल्लेबाज और गेंदबाज के बीच हुए आपसी बैटल की वजह से मैच यादगार बना 

गेंदबाजों और बल्लेबाजों के बीच हुए कुछ दिलचस्प कांटेस्ट
गेंदबाजों और बल्लेबाजों के बीच हुए कुछ दिलचस्प कांटेस्ट
Ayushman Chaudhary

क्रिकेट में भारत पाकिस्तान (India vs Pakistan) का मुकाबला हो या फिर इंग्लैंड बनाम ऑस्ट्रेलिया (England vs Australia) के बीच एशेज का मुकाबला। चिर प्रतिद्वंदी टीमों के बीच प्रतिस्पर्धा को देखने के लिए दर्शक हमेशा उत्सुक रहते हैं। जिस प्रकार प्रतिद्वंदी टीमों के बीच मुकाबले रोमांचक होते हैं, उसी प्रकार खिलाड़ियों के बीच कई ऐसे बेहतरीन रोमांचक मुकाबले हुए हैं जिन्हें क्रिकेट जगत हमेशा याद रखेगा।

आज हम ऐसे ही उन मौकों की बात करने जा रहे हैं, जब किसी खास बल्लेबाज और गेंदबाज के बीच आपसी बैटल की वजह से मुकाबला खास बना।

इन बल्लेबाजों और गेंदबाजों के आपसी बैटल ने मुकाबले को बनाया यादगार

#1 स्टीव स्मिथ बनाम जोफ्रा आर्चर, लॉर्ड्स टेस्ट (2019 एशेज)

2019 एशेज के दूसरे टेस्ट के दौरान स्मिथ और आर्चर
2019 एशेज के दूसरे टेस्ट के दौरान स्मिथ और आर्चर

2019 एशेज के दूसरे टेस्ट की दूसरी पारी में ऑस्ट्रेलिया के स्टीव स्मिथ अर्धशतक बनाकर अच्छी लय में नजर आ रहे थे। तभी जो रूट ने उस मुकाबले में डेब्यू कर रहे तेज गेंदबाज जोफ्रा आर्चर को गेंद थमाई और फिर शुरू हुआ एक यादगार मुकाबला। एक तरफ जहां स्मिथ आर्चर की गेंदों को बाउंड्री के लिए भेज रहे थे, वहीं आर्चर स्मिथ के शरीर को टारगेट कर रहे थे। इसी बीच आर्चर की एक गेंद स्मिथ के हेलमेट से टकराई जिसके बाद स्मिथ को रिटायर्ड हर्ट होकर बाहर जाना पड़ा। स्मिथ कुछ देर बाद वापस मैदान पर आए और उन्होंने उस पारी में 92 रन बनाए थे।

दोनों ही खिलाड़ियों के बीच एक दिलचस्प मुकाबला देखने को मिला था और दर्शकों भी यह काफी पसंद आया था।

#2 आमिर सोहेल बनाम वेंकटेश प्रसाद (1996 वर्ल्ड कप)

विश्वकप में आमिर सोहेल और वेंकटेश प्रसाद के बीच हुई यादगार झड़प
विश्वकप में आमिर सोहेल और वेंकटेश प्रसाद के बीच हुई यादगार झड़प

भारत और पाकिस्तान के बीच मुकाबला काफी दबाव वाला होता है। दोनों ही टीम के खिलाड़ी किसी भी हालत में हार मानने को नहीं तैयार होते हैं। इसी वजह से मैदान में हमें खिलाड़ियों के बीच गर्मागर्मी भी देखने को मिल जाती। कुछ ऐसा ही हमें 1996 में खेले गए वर्ल्ड कप के दूसरे क्वार्टरफाइनल में पाकिस्तान के कप्तान आमिर सोहेल और भारतीय तेज गेंदबाज वेंकटेश प्रसाद के बीच देखने को मिला था।

यह वाकया पाकिस्तान की पारी के 15वें ओवर में घटा। जब प्रसाद की गेंद पर बाउंड्री लगाने के बाद आमिर सोहेल ने अपने बल्ले से गेंद की तरफ इशारा करते हुए प्रसाद को भड़काने की कोशिश की। इसके बाद अगली ही गेंद पर प्रसाद ने आमिर को बोल्ड आउट कर शानदार जवाब दिया और काफी आक्रामक तरह से जश्न मनाया।

#3 विराट कोहली बनाम मिचेल जॉनसन, मेलबर्न टेस्ट (2014 बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी)

बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी के दौरान विराट कोहली और मिचेल जॉनसन
बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी के दौरान विराट कोहली और मिचेल जॉनसन

2014 में ऑस्ट्रेलिया में खेली गई बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के तीसरे टेस्ट मैच के दौरान ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज मिचेल जॉनसन ने विराट कोहली को रन आउट करने के बहाने उनके शरीर पर गेंद मारी और उन दोनों के बीच काफी कहासुनी हुई।

विराट कोहली ने जॉनसन की स्लेजिंग का बदला कई शानदार बाउंड्री से लिया। आखिरकार विराट कोहली का विकेट लेकर जॉनसन ने इस मुकाबले का अंत किया लेकिन इस बीच कोहली 169 रनों की शानदार पारी खेल चुके थे और मैच को ड्रॉ कराने में अहम योगदान दिया था।

#4 शेन वॉटसन बनाम वहाब रियाज (2015 वर्ल्ड कप)

विश्वकप क्वार्टरफाइनल के दौरान वहाब रियाज और शेन वाटसन
विश्वकप क्वार्टरफाइनल के दौरान वहाब रियाज और शेन वाटसन

2015 वर्ल्ड कप के तीसरे क्वार्टरफाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलियाई ऑलराउंडर शेन वॉटसन और पाकिस्तानी तेज गेंदबाज वहाब रियाज के बीच बेहतरीन कांटेस्ट देखने को मिला था। पाकिस्तान की पारी के दौरान शेन वॉटसन ने वहाब रियाज को स्लेज किया था। इसका जवाब रियाज ने क्रिकेट इतिहास के सबसे बेहतरीन स्पेल में से एक के रूप में दिया।

ऑस्ट्रेलियाई ऑलराउंडर ने मैच में नाबाद 64 रन बनाये थे लेकिन जिसने भी वह मैच देखा होगा, अभी भी उसे अच्छे से याद होगा कि वॉटसन कितनी परेशानी में नजर आये थे और उनका रियाज की गेंदबाजी के दौरान एक कैच भी छूटा था। आज भी इस मुकाबले को वॉटसन बनाम रियाज की वजह से याद किया जाता है।

#5 सचिन तेंदुलकर बनाम शेन वार्न, चेन्नई टेस्ट (1998)

भारतीय दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर और ऑस्ट्रेलियाई स्पिनर शेन वॉर्न
भारतीय दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर और ऑस्ट्रेलियाई स्पिनर शेन वॉर्न

अपने समय के दो दिग्गज खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर और शेन वॉर्न के बीच हमेशा ही एक दिलचस्प आपसी बैटल होता था। ऐसा ही बैटल 1998 में ऑस्ट्रेलिया के भारत दौरे के दौरान हुआ जब उस दौरे को तेंदुलकर बनाम वॉर्न कांटेस्ट के लिए अहमियत दी जा रही थी।

पहले टेस्ट मुकाबले की पहली पारी में वॉर्न ने तेंदुलकर को मात्र 4 रनों के स्कोर पर आउट कर बढ़त बना ली थी लेकिन दूसरी पारी में सचिन तेंदुलकर ने अपनी क्लास दिखाते हुए सभी ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों के साथ-साथ शेन वॉर्न को भी निशाना बनाया 155 रनों की नाबाद पारी खेली थी। भारत ने इस मुकाबले को 179 रनों से अपने नाम किया था।


Edited by Prashant Kumar

Comments

Quick Links

More from Sportskeeda
Fetching more content...