Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

5 सफल कोच जिन्होंने एक भी अंतर्राष्ट्रीय मैच नहीं खेला  

इंग्लैंड के विश्व कप जीतने के बाद ट्रॉफी के साथ मुख्य कोच ट्रेवर बेलिस 
इंग्लैंड के विश्व कप जीतने के बाद ट्रॉफी के साथ मुख्य कोच ट्रेवर बेलिस 
Fambeat Hindi
ANALYST
Modified 29 Aug 2019, 13:19 IST
न्यूज़
Advertisement

क्रिकेट के मैदान में किसी भी टीम की सफलता में जब पूरी टीम का गुणगान किया जाता है तो जरूरी है कि कोच को भी सर्वोच्च स्थान दिया जाना चाहिए। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में अब तक कई ऐसे कोच रहे हैं जिन्होंने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में तो बड़ा नाम कमाया लेकिन कोचिंग के मामले में उन्हें वैसी सफलता हासिल नहीं हुई जैसी खिलाड़ी के रूप में मिली। कपिल देव और ग्रेग चैपल जैसे दो दिग्गज खिलाड़ी इसके उदाहरण कहे जा सकते हैं।

यह भी पढ़े: 3 टूर्नामेंट जिन्हें आईसीसी को फिर से शुरू करने पर विचार करना चाहिए

लेकिन ऐसा नहीं है कि एक सफल खिलाड़ी ही सफल कोच बन सकता है। इस आर्टिकल में हम उन पांच कोच के बारे में बताने जा रहे जिन्होंने कोई अंतर्राष्ट्रीय मैच नहीं खेला लेकिन कोच के रूप में जबरदस्त कामयाबी हासिल की:

#5 ग्राहम फोर्ड

ग्राहम फोर्ड
ग्राहम फोर्ड

ग्राहम फोर्ड ने 31 साल की उम्र में ही कोचिंग शुरू कर दी थी। वर्ष 1999 में उन्हें दक्षिण अफ्रीका का असिस्टेंट कोच चुना गया और वो बॉब वूल्मर के साथ काम करते थे । उनकी देख-रेख में दक्षिण अफ्रीका ने विश्व कप में सेमीफाइनल का सफर तय किया। इसके बाद फोर्ड को वूल्मर के स्थान पर मुख्य कोच के तौर पर जगह दी गई। इसके अलावा फोर्ड को 2012 और 2016 में दो बार श्रीलंका के कोच के रूप में काम करने का मौका मिला और वो 2017 में आयरलैंड के कोच बने।

ग्राहम फोर्ड ने अपने करियर में केवल 7 प्रथम श्रेणी मैच खेले, जिसमें उन्होंने 13.50 के औसत से ही रन बनाए।खिलाड़ी के रूप में कुछ खास नहीं कर सके ग्राहम फोर्ड ने कोच के रूप में शानदार काम किया।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्टसकीड़ा पर पाएं।

1 / 3 NEXT
Published 29 Aug 2019, 13:17 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit