Create
Notifications

मौजूदा दौर की सर्वश्रेष्ठ विश्व टेस्ट एकादश

जितेंद्र तिवारी

टेस्ट क्रिकेट का इतिहास सबसे पुराना है, ये क्रिकेट का सबसे लम्बा प्रारूप है। किसी भी खिलाड़ी की काबिलियत को आंकने में टेस्ट क्रिकेट सबसे प्रभावी है। लेकिन 21वीं सदी में टी-20 क्रिकेट के आने के बाद से इस प्रारूप की लोकप्रियता में कमी आई है। हालाँकि 50 ओवर और 20 ओवर के प्रारूप के ज्यादा लोकप्रिय होने के अलावा टेस्ट क्रिकेट आज भी दुनिया के कई कोने में लोकप्रिय है। आज हम आपको मौजूदा दौर की विश्व टेस्ट एकादश के बारे में बता रहे हैं: #1 डेविड वॉर्नर david-warner-1474104395-800 ऑस्ट्रेलिया के 29 वर्षीय बल्लेबाज़ डेविड वॉर्नर ने साल 2011 में न्यूज़ीलैंड के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू किया था। इस विस्फोटक ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज़ ने अबतक 48.63 के औसत और 77.27 के स्ट्राइक रेट से 4669 रन बनाये हैं। जिसमें 16 शतक और 21 अर्धशतक शामिल है। हाल ही में श्रीलंका के साथ सम्पन्न हुई टेस्ट सीरीज में वॉर्नर ने दो पारियों में 11 और 68 रन बनाये हैं। वॉर्नर ने अबतक 5 बार मैन ऑफ़ द मैच और 2 मैन ऑफ़ द सीरीज हासिल की है। साल 2015 में वॉर्नर ने न्यूज़ीलैंड के खिलाफ पर्थ में 253 रन की पारी खेली थी। #2 मिस्बाह-उल-हक़ दायें हाथ के पाकिस्तानी बल्लेबाज़ की तारीफ दुनिया भर के क्रिकेट पंडित कर चुके हैं। मिस्बाह ने 65 टेस्ट मैचों में 48.27 औसत से 4634 रन बनाये हैं। मिस्बाह इस पीढ़ी के ऐसे खिलाड़ी हैं। जो सिंगल्स पर भी भरोसा करते हैं। मिस्बाह ने बतौर कप्तान पाकिस्तान को 46 टेस्ट में से 22 में जीत हासिल की है। मिंवाली में पैदा होने वाले मिस्बाह के नाम 24 मिनट में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शतक बनाने का रिकॉर्ड है। मिस्बाह को अबतक 2 मैन ऑफ़ द मैच और 1 मैन ऑफ़ द सीरीज मिला है। #3 केन विलियमसन New Zealand v Sri Lanka - 2nd Test: Day 3 26 साल के न्यूज़ीलैंड के बल्लेबाज़ टेस्ट के विशेषज्ञ बल्लेबाज़ हैं। विलियमसन ने अबतक 52 टेस्ट में 51.08 के औसत से 4393 रन बना चुके हैं। श्रीलंका के खिलाफ 2015 में विलियमसन ने 242 रन की सर्वोच्च पारी खेली थी। इसके अलावा उनके नाम 14 शतक और 22 अर्धशतक दर्ज है। विलियम्सन के नाम 1 मैन ऑफ़ द मैच और 4 मैन ऑफ़ द सीरीज दर्ज है। #4 विराट कोहली दायें हाथ के बल्लेबाज़ और भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने अपना पहला टेस्ट 2011 में वेस्टइंडीज के खिलाफ खेला था। उसके बाद कोहली ने 45 मैचों में 3245 रन बनाये थे। 45.06 के औसत और 53.59 के स्ट्राइक रेट से ये रन बनाये हैं। इसके अलावा कोहली को 3 मैच ऑफ़ द मैच मिला है। रन मशीन कोहली की कप्तानी में 14 टेस्ट मैचों में भारत ने 7 जीते हैं और 2 में टीम को हार मिली है। #5 जो रूट 479907968 इंग्लैंड के 25 वर्षीय क्रिकेटर का आईसीसी बल्लेबाजी रैंकिंग में दूसरा स्थान है। साल 2012 में भारत के खिलाफ नागपुर में डेब्यू करने वाले रूट ने छठे नम्बर पर बल्लेबाज़ी करते हुए 229 गेंदों में 73 रन बनाये थे। रूट ने अबतक 84 पारियों में 4005 रन बनाये हैं। रूट का स्ट्राइक रेट 55.06 और औसत 54.86 है। इसके साथ ही रूट के नाम 10 शतक और 22 अर्धशतक दर्ज हैं। रूट का उच्च स्कोर 254 है, जो उन्होंने अभी हाल ही में पाकिस्तान के खिलाफ बनाया था। इसके अलावा रूट इस कैलेंडर वर्ष में 1000 रन भी बनाये हैं। #6 स्टीवन स्मिथ 27 वर्षीय ऑस्ट्रेलियाई कप्तान ने अपने करियर की शुरुआत बतौर आलराउंडर शुरू किया था। शुरू में वह लेग स्पिन गेंदबाज़ी और 7वें क्रम पर बल्लेबाज़ी करते थे। दुनिया के नम्बर एक बल्लेबाज़ ने साल 2010 पाकिस्तान के खिलाफ डेब्यू किया था। स्मिथ ने अबतक 44 मैचों में 58.55 के औसत से 4099 रन बनाये हैं। इसके अलावा स्मिथ तीन बार एशेज में मैन ऑफ़ द सीरीज बने हैं। साल 2014-15 में भारत के खिलाफ स्मिथ ने चार पारियों में शतक जड़े थे। इसके अलावा 38 पारियों में उनके नाम 16 विकेट भी दर्ज हैं। #7 सरफराज खान Pakistan v New Zealand - 2nd Test Day Four कामरान अकमल की जगह साल 2010 में सरफराज अहमद को पाकिस्तान का विकेटकीपर चुना गया था। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपना डेब्यू किया था। 29 वर्षीय सरफराज ने अबतक 25 टेस्ट मैचों में 1489 रन बनाये हैं और उनके नाम 3 शतक और 7 अर्धशतक दर्ज हैं। सरफराज ने न्यूज़ीलैंड के खिलाफ 2010-11 में पहला मैन ऑफ़ द मैच ख़िताब जीता था। इसके अलावा उन्होंने 17 स्टम्पिंग और 61 कैच भी पकड़े हैं। साथ ही उन्होंने 2015 में इंग्लैंड के खिलाफ एक पारी में 5 कैच का रिकॉर्ड भी बनाया है। #8 रविचंद्रन आश्विन भारत के मौजूदा समय के सबसे बेहतरीन ऑफस्पिनर आश्विन साल 2011 में डेब्यू करने के बाद 36 टेस्ट मैच अबतक खेले हैं। उनकी सफलता में एमएस धोनी का बड़ा हाथ है। अजन्ता मेंडिस के बाद आश्विन ने कैरम बॉल फेंकने में महारथ हासिल किया है। इसके आलावा इस स्पिनर ने एक मैच में 10 विकेट भी लिए हैं। चेन्नई का ये ऑफस्पिनर 18 विकेट लेते ही टेस्ट क्रिकेट में 100 विकेट पूरे हो जायेंगे। आश्विन के नाम 6 मैन ऑफ़ द सीरीज भी दर्ज है। #9 स्टुअर्ट ब्रॉड नाटिंघमशायर के इस तेज गेंदबाज़ का नाम इस लिस्ट में है। ब्रॉड ने जिस टेम्परामेंट से टेस्ट क्रिकेट में गेंदबाज़ी की है। वह काबिलेतारीफ है। ब्राड ने 2007 में कोलम्बो में श्रीलंका के खिलाफ डेब्यू किया था। 179 पारियों में 3.01 की इकॉनमी रेट से 358 विकेट लिए हैं। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 1.57 के इकॉनमी रेट से ब्राड ने अपने करियर का बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए 8 विकेट लिए थे। साल 2012 में वेस्टइंडीज के खिलाफ के मैच में ब्रॉड ने 10 विकेट लिए थे। पटौदी ट्राफी में पाकिस्तान के खिलाफ दुसरे टेस्ट में उन्हें पहला मैन ऑफ़ द मैच मिला था। साल 2010 में उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ 10 विकेट भी लिए थे। #10 मिचेल स्टार्क बाएं हाथ के इस ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज़ को भयावह बाउंसर के लिए जाना जाता है। 26 वर्षीय इस गेंदबाज़ ने साल 2011 में न्यूज़ीलैंड के खिलाफ अपना डेब्यू किया था। स्टार्क ने अबतक 53 पारियों में 115 विकेट लिए हैं। जहाँ उनका इकॉनमी रेट 3.42 है। सतर्क ने हाल ही में श्रीलंका के खिलाफ 4 के इकॉनमी रेट से 6 विकेट लिए थे। एक पारी में 7 और एक मैच में 10 विकेट लेने का कारनामा भी स्टार्क के नाम दर्ज है। शुरू में वह टीम में जगह बनाने के लिए संघर्ष करते थे। लेकिन अब वह नियमित सदस्य हैं। #11 यासिर शाह साल 2014 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपना डेब्यू करने वाले शाह ने 31 पारियों में 95 विकेट लिए हैं। उनका इकॉनमी रेट 3.06 है। अभी तक उन्होंने 16 मैच ही खेले हैं। हाल ही में उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ शानदार खेल दिखाया था। श्रीलंका के खिलाफ उन्होंने अपन बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए 2015 में एक पारी में 7 विकेट लिए थे। दिग्गज शेन वार्न शाह के बहुत बड़े फैन हैं। उनका गेंदबाज़ी एक्शन भी उनसे मैच करता है। साल 2015 में यासिर शाह को श्रीलंका के खिलाफ मैन ऑफ़ द सीरीज भी मिला था। लेखक-सौरव, अनुवादक-जितेन्द्र तिवारी

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...