न्यूज़ीलैंड के बल्लेबाज ने रचा इतिहास, 37 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ा

Photo Courtesy : AFP/Getty Images
Photo Courtesy : AFP/Getty Images

पाकिस्तान और न्यूज़ीलैंड (PAK v NZ) के बीच कराची के नेशनल स्टेडियम में टेस्ट सीरीज का पहला मुकाबला खेला जा रहा है। मेजबान टीम ने कप्तान बाबर आजम (Babar Azam) और युवा बल्लेबाज आगाह सलमान (Agha Salman) के शानदार शतकों की बदौलत पहली पारी में 438 रन बनाये। इस बड़े स्कोर के सामने बल्लेबाजी करने उतरी कीवी टीम को सलामी बल्लेबाज टॉम लैथम (Tom Latham) और डेवोन कॉनवे (Devon Conway) ठोस शुरुआत दी। पहले दिन 100 से अधिक रनों की साझेदारी की लेकिन दूसरे दिन डेवोन कॉनवे अपने शतक से चूक गए। नौमान अली ने उन्हें 92 रनों पर पगबाधा आउट किया लेकिन उससे पहले कॉनवे ने एक बड़ा कीर्तिमान अपने नाम कर लिया था।

न्यूज़ीलैंड की तरफ से पारियों के हिसाब से सबसे तेज 1000 टेस्ट रन बनाने की लिस्ट में डेवोन कॉनवे पहले स्थान पर आ गए हैं। उन्होंने 37 साल पहले बने इस बड़े कीर्तिमान को अपने नाम कर लिया है। डेवोन कॉनवे ने यह इतिहास 19 पारियों में हासिल किया, जबकि 37 साल पहले उनके देश के जॉन रीड ने 20 पारियों में यह उपलब्धि हासिल की थी। जॉन रीड ने साल 1985 में पाकिस्तान के खिलाफ ही 158 रनों की नाबाद पारी खेलते हुए 20 पारियों में 1000 टेस्ट रन पूरे किये थे। लेकिन उनका यह कई साल पुराना रिकॉर्ड अब डेवोन कॉनवे ने अपने नाम कर लिया है।

पाकिस्तान के खिलाफ कराची टेस्ट की पहली पारी में डेवोन कॉनवे ने 92 रनों की महत्वपूर्ण पारी खेली, जिसमें 14 चौके शामिल रहे उन्होंने टॉम लैथम के साथ पहले विकेट के लिए 183 रन भी जोड़े। हालांकि वह अपने शतक से चूक गए लेकिन मेहमान टीम को एक ठोस शुरुआत दे गए जिसका लाभ बाकी बल्लेबाजों ने उठाया है। डेवोन कॉनवे के साथी सलामी बल्लेबाज टॉम लैथम ने शानदार शतक जड़ा और 113 रनों की पारी खेली, जबकि पूर्व कप्तान केन विलियमसन अपने शतक की तरफ बढ़ रहे हैं।

Quick Links

Edited by Rahul VBS
App download animated image Get the free App now