Create

''28 साल पहले आज के दिन मेरा जीवन ही बदल गया था''

Rahul
Photo- Cricket Australia
Photo- Cricket Australia

साल 1993 आज ही के दिन ऑस्ट्रेलिया (Australia Cricket Team) के महान स्पिनर शेन वॉर्न (Shane Warne) ने अपना पहला एशेज टेस्ट मैच खेला और पहली गेंद पर एक ऐतिहासिक और यादगार लम्हा रच दिया। इंग्लैंड (England Cricket Team) के खिलाफ पहला ओवर करने उतरे 23 वर्षीय वॉर्न ने जब गेंद फेंकी, तो वह 'बॉल ऑफ़ द सेंचुरी' (Ball of the Century) के नाम से जानी गई। शेन वॉर्न ने इस गेंद पर माइक गेटिंग को क्लीन बोल्ड किया। शेन वॉर्न ने लेग स्टंप्स पर गेंद को फेंका, जो टर्न करते हुए माइक गेटिंग को चकमा दे गई और उनके ऑफ स्टंप पर जाकर लगी। शेन वॉर्न ने इन्स्टाग्राम पर उस यादगार पल का वीडियो शेयर किया।

यह भी पढ़ें - एमएस धोनी के WC 2019 के रनआउट पर NZ के ऑलराउंडर ने दिया बड़ा बयान, फैन्स हुए नाराज

शेन वॉर्न ने वीडियो अपलोड करते हुए कैप्शन में लिखा कि 28 साल पहले इस दिन के बाद मेरा जीवन ही बदल गया। मैं जब 23 वर्ष का था और अपना पहला एशेज टेस्ट मैच खेलने उतरा था और यह मेरी पहली बॉल भी थी। मुझे अभी भी भरोसा नहीं होता यह सब हुआ था। मैं अब माइक गेटिंग का भी धन्यवाद देना चाहता हूँ, जिन्होंने यह बॉल मिस कर दी थी और उनकी वजह से इस गेंद को एक प्रसिद्ध नाम से जाने जाना लगा, जिसे बॉल ऑफ़ द सेंचुरी कहा गया है। शेन वॉर्न के इस वीडियो पर भारत के दिग्गज ऑलराउंडर रहे युवराज सिंह ने भी कमेन्ट किया और लिखा,' बॉल ऑफ़ द सेंचुरी'।

शेन वॉर्न ने ट्विटर पर भी कई स्पोर्ट्स वेबसाइट और आईसीसी द्वारा इस यादगार लम्हे को रिट्वीट किया। उन्होंने आईसीसी के ट्वीट पर लिखा कि क्या दिन था वो! उस गेंद को मिस करने के लिए धन्यवाद गेट (माइक गेटिंग), साथ ही एक स्पोर्ट्स वेबसाइट को उन्होंने लिखा कि hahaha!! हाँ यह एक यादगार पल था! मैं आभार हूँ। शेन वॉर्न ने इस यादगार पल के बाद एशेज 2005 में भी एक शानदार गेंद डाली, जिसको भी बॉल ऑफ़ द सेंचुरी के रूप में जाना गया है। उनकी इस गेंद पर इंग्लैंड के एंड्रू स्ट्रॉस आउट हुए थे।

Quick Links

Edited by Rahul
Be the first one to comment