NZ vs IND- भारत को न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में 2-0 से मिली शर्मनाक हार के बाद क्रिकेट जगत की प्रतिक्रियाएं

ऋषभ पंत पर फूटा गुस्सा
ऋषभ पंत पर फूटा गुस्सा

न्यूजीलैंड ने भारत को 2 टेस्ट मैचो की सीरीज में 2-0 से हराते हुए करारी शिकस्त दी। दोनों टीमों के बीच खेली गई सीरीज में पूरी तरह मेजबान टीम का दबदबा देखने को मिला। मैच के तीसरे दिन न्यूजीलैंड ने भारत को 7 विकेट से करारी शिकस्त दी और आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप में अपने स्थिति को मजबूत किया। भारत की बल्लेबाजी पूरी तरह से नाकाम रही, जोकि सीरीज में हार का मुख्य कारण रहा।

मैच के दूसरे दिन गेंदबाजों ने मैच में जरूर भारतीय टीम को वापसी कराई, लेकिन बल्लेबाजों के फ्लॉप शो के कारण टीम को एक और शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा।

यह भी पढ़ें: आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप अंक तालिका

भारत की करारी हार के बाद ट्विटर पर क्रिकेट जगत की जबरदस्त प्रतिक्रियाएं देखने को मिली:

(आईसीसी एक बार फिर विराट कोहली को केन विलियमसन को दिए गए जेंटल और हंबल सेंड ऑफ के लिए स्पिरिट ऑफ क्रिकेट अवॉर्ड देंगे। )

(न्यूजीलैंड टीम को भारतीय टीम के खिलाफ मिली बेहतरीन टेस्ट सीरीज जीत के लिए बधाई। भारतीय टीम अपने प्रदर्शन से काफी निराश होगी। )

(न्यूजीलैंड ने भारत को बुरी तरह हराया, जबिक दूसरे टेस्ट में बुमराह और इशांत पहले टेस्ट में पूरी लय में थे। हालांकि बड़ा फर्क ओपनिंग पार्टनरशिप ने पैदा किया)

(भारत के लिए सीख- न्यूजीलैंड में सीम बॉलर्स से ज्यादा स्विंग गेंदबाजों की जरूरत और ऐसे बल्लेबाज चाहिए जोकि ऐसे हालातों में खुद को ढाल सकें। याद कीजिए 5/3 वर्ल्ड कप सेमीफाइनल? एक बार फिर स्विंगिंग कंडीशन और विपक्षी टीम भी वो ही है। )

(2 फरवरी को न्यूजीलैंड टीम का टी20 में 5-0 से सफाया हुआ था। एक महीने के अंदर उन्होंने पहले वनडे और अब टेस्ट में भारत का सफाया किया। उन्हें अपने घर में लगातार छठी टेस्ट सीरीज जीतने के लिए बधाई)

(भारतीय टीम एक बार फिर घर के बाहर एक्सपोज हो गई। इसके साथ पाकिस्तान की टीम न्यूजीलैंड में आखिरी बार टेस्ट सीरीज जीतने वाली एशियाई टीम बनी हुई है। उन्होंने 2011 में 1-0 से जीत दर्ज की थी। न्यूजीलैंड को 2-0 से सीरीज जीतने के लिए बधाई। )

(ऋषभ पंत जितना अच्छा बोलते हैं, उसका आधी भी बल्लेबाजी कर लेते तो)

(दूसरी पारी में रहाणे के बल्लेबाजी करने का तरीका काफी खराब था, पुजारा काफी स्लो थे, जिससे दूसरे बल्लेबाजों पर दबाव आया और गेंदबाजों ने अपना दबदबना बनाया)

(पृथ्वी शॉ, ऋषभ पंत और अजिंक्य रहाणे को भारतीय टेस्ट टीम का हिस्सा नहीं होना चाहिए। वो विदेशों में कभी भारत को टेस्ट नहीं जिताएंगे। हमें अच्छी तकनीक वाले खिलाड़ियों को मौका देना चाहिए)

(अब ऋषभ पंत को भारत के लिए खेलते हुए नहीं देख सकते। वो काफी समय से टीम के साथ हैं और हमेशा ही वो निराश कर रहे हैं। वो टैलेंटिड खिलाड़ी हो सकते हैं, लेकिन अब उन्हें बहुत सारे मौके मिल चुके हैं)

Quick Links

App download animated image Get the free App now