Create
Notifications

वर्ल्ड कप 2019: 5 बल्लेबाज जो टूर्नामेंट में सबसे ज़्यादा रन बना सकते हैं

Enter caption
शारिक़ुल होदा Shariqul Hoda
visit

आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 शुरू होने में अब ज़्यादा दिन नहीं बचे हैं, इस टूर्नामेंट में दुनिया का बेहतरीन बल्लेबाज़ अपनी छाप ज़रूर छोड़ना चाहेगा। इंग्लिश मैदान में किसी भी बाहरी देश के बल्लेबाज़ के लिए बड़ी पारी खेलना एक बड़ी चुनौती माना जाता है। बेहद क़ाबिल खिलाड़ी ही इंग्लैंड की पिच पर नई गेंद का मज़बूती से सामना कर सकता है।

हांलाकि साल 2015 के वर्ल्ड कप के बाद इंग्लैंड के मैदान में बैटिंग करना थोड़ा आसान हुआ है। इसकी वजह ये है कि इंग्लैंड की पिचों को समतल बनाया गया है और बाउंड्री को छोटा किया गया है। यही वजह है की वहां के मैदानों में अब 300 से ज़्यादा के स्कोर आसानी से बन रहे हैं।

इसके अलावा आईसीसी इस बात की निगरानी कर रहा है कि वर्ल्ड कप की पिच ऐसी हो जिसमें कम से कम 90 ओवर का मैच भी आसानी से हो पाए। अब बेहद मुमकिन है कि आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 के ज़्यादातर मैच में बड़े स्कोर बन पाएंगे। हम यहां ऐसे 5 ग़ैर-अंग्रेज़ी बल्लेबाज़ों की चर्चा कर रहे हैं जो इस साल वर्ल्ड कप में सबसे ज़्यादा रन बना सकते हैं।


#1 शिखर धवन (भारत)

Enter caption

शिखर धवन एक ऐसे खिलाड़ी हैं जो मुश्किल हालात में भी मैच को अगले स्तर पर ले जाने की ताक़त रखते हैं। इंग्लैंड में शिखर धवन ने 976 रन बनाए हैं, इनमें सबसे ज़्यादा रन 2 चैंपियंस ट्रॉफ़ी में अपने नाम किए हैं। साल 2013 और 2017 की आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफ़ी में धवन ने शानदार बल्लेबाज़ी की थी। यही वजह है कि आने वाले वर्ल्ड कप में धवन से काफ़ी उम्मीदें हैं।

पिछले वर्ल्ड कप के बाद शिखर धवन ने इंग्लैंड में 57.25 की औसत से कुल 458 रन बनाए हैं। ओवल के मैदान में श्रीलंका के ख़िलाफ़ शिखर ने रोहित शर्मा के साथ मिलकर 138 रन की ओपनिंग साझेदारी की थी। हांलाकि धवन के लिए इंग्लैंड के मैदान में बल्लेबाज़ी करना इतना आसान नहीं था, फिर भी उन्होंने शतक लगाया। लेकिन ये शतकीय पारी बेकार गई और श्रीलंका ने मैच 7 विकेट से जीत लिया।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्टसकीड़ा पर पाएं

#2 विराट कोहली (भारत)

Enter caption

विराट कोहली जब वर्ल्ड कप में भारतीय टीम को लेकर जाएंगे तो करोड़ों देशवासियों की दुआएं उनके साथ होगी। बल्लेबाज़ी हमेशा से टीम इंडिया की ताक़त रही है। विराट कोहली का प्रदर्शन साल दर साल बेहतर होते जा रहा है। इंग्लैंड के मैदान में वनडे क्रिकेट के दौरान उनकी बल्लेबाज़ी का औसत 54.46 रहा है। लेकिन साल 2015 के बाद 8 पारियों में उनका औसत 89.90 पहुंच गया है। पिछले वर्ल्ड कप के बाद विराट ने इंग्लैंड में कोई शतक नहीं लगाया था। उनका सर्वाधिक स्कोर (96*) बांग्लादेश के ख़िलाफ़ था जो उन्होंने बर्मिंघम में बनाया था।

साल 2017 की आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफ़ी में विराट कोहली ने पाकिस्तान के ख़िलाफ़ 68 गेंदों में नाबाद 81 रन बनाए थे, इसकी बदौलत में टीम इंडिया ने 319 रन का स्कोर खड़ा किया। लेकिन इसी पाक टीम के ख़िलाफ़ फ़ाइनल में कोहली ने महज़ 5 रन पर पवेलियन लौट गए थे, उन्हें मोहम्मद आमिर ने आउट किया था। उस फ़ाइनल की हार के ज़ख़्म आज भी ताज़ा हैं, आने वाले वर्ल्ड कप में उस हार का बदला लेने को टीम इंडिया बेताब है।

#3 रॉस टेलर (न्यूज़ीलैंड)

Enter caption

कीवी बल्लेबाज़ रॉस टेलर की क़ाबिलियत पर कभी भी सवाल नहीं किया जा सकता है, हांलाकि 2015 के वर्ल्ड कप तक उनका प्रदर्शन उतार-चढ़ाव से भरा हुआ था। लेकिन उसके बाद टेलर ने वनडे में 68.85 की औसत से 2892 रन बनाए हैं। पिछले 4 सालों में इंग्लैंड के मैदान में उन्होंने 74.71 की औसत से 523 रन अपने नाम किए हैं। साल 2015 में उन्होंने इंग्लैंड के ख़िलाफ़ 5 मैचों की सीरीज़ में लगातार शतक लगाए थे।

इनमें से एक शतक ओवल के मैदान में महज़ 87 गेंदों जड़ा थ। इस दौरान उन्होंने केन विलियमसन के साथ मिलकर 100 रन की साझेदारी की थी। इसकी बदौलत कीवी टीम ने इंग्लैंड के ख़िलाफ़ 398 रन का स्कोर खड़ा किया था। साउथैंप्टन में खेले गए अगले मैच में टेलर ने विलियमसन के साथ 200 रन से ज़्यादा पार्टनरशिप की और न्यूज़ीलैंड को सीरीज़ में 2-1 से बढ़त दिला दी थी।

#4 रोहित शर्मा (भारत)

Enter caption

रोहित शर्मा के करियर का ग्राफ़ 2013 की चैंपियंस ट्रॉफ़ी के साथ ही ऊपर चढ़ना शुरू हो गया था। वो अपने चाहने वालों की उम्मीदों पर खरे उतरने लगे थे, इसकी वजह ये है कि वो बतौर ओपनर उनका प्रदर्शन क़ाबिल-ए-तारीफ़ रहा है। इससे पहले वो अपने फ़ॉम को लेकर जद्दोजहद कर रहे थे, फिर धोनी ने उनसे ओपनिंग करानी शुरू कर दी, उसके बाद रोहित ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा।

साल 2015 के वर्ल्ड कप के बाद रोहित शर्मा ने इंग्लैंड में 76.33 की औसत से 458 रन बनाए हैं। इस दौरान उन्होंने 2 शतक लगाए हैं, जिसमें एक सेंचुरी उन्होंने बांग्लादेश और एक इंग्लैंड के ख़िलाफ़ बनाई है। बांग्लादेश के ख़िलाफ़ शतक आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफ़ी के दौरान लगाया था, उस वक़्त 264 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए रोहित ने भारत को जीत दिलाई थी। इसके अलावा इंग्लैंड के ख़िलाफ़ पिछले साल रोहित ने 137* रन की पारी खेली थी।

#5 केन विलियमसन

Enter caption

केन विलियमसन ने पिछले वर्ल्ड कप से लेकर अब तक कई ऊंचाइयों को छुआ है। वो एक ऐसे चुनिंदा खिलाड़ियों की लिस्ट में शामिल हैं जो किसी भी फ़ॉर्मेट में शानदार खेल दिखाना जानते हैं। वो आज कीवी टीम के सबसे अहम खिलाड़ी बन चुके हैं। ग़ैर अंग्रेज़ी खिलाड़ियों में विलियमसन ने 2015 के वर्ल्ड कप के बाद सबसे ज़्यादा रन बनाए हैं। उन्होंने 80 की औसत से 640 रन अपने नाम किए हैं।

उन्होंने ओवल मैदान में 93 रन की पारी खेली थी, जिसकी बदौलत कीवी टीम ने इंग्लैंड के ख़िलाफ़ 398 रन का स्कोर खड़ा किया था। इसके बाद साउथैंप्टन में उन्होंने 118 रन बनाए थे और इस मैच में न्यूज़ीलैंड ने इंग्लैंड के ख़िलाफ़ 303 रन के लक्ष्य को आसानी से पार किया था। 2017 की आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफ़ी में उन्होंने एक मैच में 97 रन बनाए थे। तकनीक के मामले में वो बेहतरीन है और आने वाले वर्ल्ड कप में वो सबसे ज़्यादा रन बना सकते हैं।

लेखक- ब्रोकन क्रिकेट

अनुवादक- शारिक़ुल होदा

Edited by मयंक मेहता

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...
Article image

Go to article
App download animated image Get the free App now