Create

बैलन डी'ओर : जानें फुटबॉल के सबसे बड़े अवॉर्ड से जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें

मेसी रिकॉर्ड 7वीं बार बैलन डी'ओर जीतने वाले पहले फुटबॉल खिलाड़ी हैं।
मेसी रिकॉर्ड 7वीं बार बैलन डी'ओर जीतने वाले पहले फुटबॉल खिलाड़ी हैं।

अर्जेंटीना के फुटबॉल खिलाड़ी लियोनल मेसी ने सातवीं बार फुटबॉल के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी होने का खिताब बैलन डी'ओर के रूप में जीता है। बैलन डी'ओर का शाब्दिक अर्थ होता है सोने की गेंद यानि गोल्डन बॉल और ये अवॉर्ड सबसे ज्यादा बार जीतने का रिकॉर्ड भी मेसी के ही नाम है। लेकिन 65 साल पुराने इस अवॉर्ड से जुड़ी कुछ दिलचस्प बाते हैं जो हर फुटबॉल प्रेमी जानना चाहेगा -

1) फीफा नहीं देती ये अवॉर्ड

आपको लग सकता है कि बैलन डी'ओर दुनिया में फुटबॉल को चलाने वाली FIFA द्वारा दिया जाता है। लेकिन ऐसा नहीं है। बैलन डी'ओर फ्रैंच मैगजीन फ्रांस फुटबॉल की ओर से दिया जाने वाला सम्मान है जो 1956 में पहली बार दिया गया था। ये मैगजीन दुनिया की सबसे प्रतिष्ठित फुटबॉल मैगजीन में शामिल है। फीफा की ओर से साल 1991 में साल के सर्वश्रेष्ठ फुटबॉल खिलाड़ी को चुनने के लिए पहली बार FIFA World Player of the Year अवॉर्ड बनाया गया था। फिर साल 2010 से लेकर 2015 तक फ्रांस फुटबॉल मैगजीन और फीफा के बीच आपसी समझौते के तहत बैलन डी'ओर को फीफा बैलन डी'ओर के नाम से दिया गया। 2016 में फीफा और मैगजीन का आपसी तालमेल टूटा और फीफा ने अपने सालाना अवॉर्ड का नाम The Best FIFA Men's Player रख दिया जबकि बैलन डी'ओर का सफर जारी रहा। लेकिन यह सच है कि फुटबॉल प्रेमियों के बीच फीफा का सालाना अवॉर्ड बैलन डी'ओर से कम अहमियत रखता है।

2) पहले सिर्फ पत्रकार चुनते थे विजेता

साल 1956 से 2006 तक कुल 50 सालों तक फ्रांस फुटबॉल मैगजीन की ओर से साल के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले फुटबॉल खिलाड़ियों के लिए वोटिंग सिर्फ फुटबॉल पत्रकारों के द्वारा कराई जाती थी। लेकिन खेल के प्रतिनिधियों की भागीदारी बढ़ाने के लिए 2007 से फुटबॉल कोच और राष्ट्रीय फुटबॉल टीमों के कप्तानों को भी इस वोटिंग का अधिकार दिया गया।

3) सिर्फ यूरोपीय खिलाड़ियों को खिताब

ब्राजील के रोनाल्डो पहले दक्षिण अमेरिकी खिलाड़ी हैं जिन्होंने बैलन डी'ओर जीता।
ब्राजील के रोनाल्डो पहले दक्षिण अमेरिकी खिलाड़ी हैं जिन्होंने बैलन डी'ओर जीता।

1994 तक बैलन डी'ओर मुख्य रूप से सिर्फ यूरोप के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी को चुनने के लिए दिया जाता था। यूरोपीय क्लबों में खेलने वाले अन्य देशों के खिलाड़ियों को भी इसके लिए नामित नहीं किया जाता था। लेकिन 1995 के बाद इस परंपरा को बदला गया और यूरोपीय क्लबों में खेलने वाले अन्य देशों के खिलाड़ियों को भी इसमें शामिल किया जाने लगा। साल 2007 में इस अवॉर्ड का दायरा बढ़ाया गया और आज पूरे विश्व के किसी भी देश के प्रोफेशनल फुटबॉल खिलाड़ी को इसके लिए नामित किया जा सकता है। इसी वजह से 1995 में अफ्रीकी देश लाइबिरिया के जॉर्ज वीह इस खिताब को जीतने वाले पहले गैर-यूरोपीय खिलाड़ी बने। साल 1997 में ब्राजील के रोनाल्डो इस खिताब को जीतने वाले पहले दक्षिण अमेरिकी खिलाड़ी बने।

4) इंग्लैंड के नाम पहला खिताब

इंग्लैंड के स्टैनली मैथ्यूज साल 1956 में बैलन डी'ओर जीतने वाले पहले फुटबॉल खिलाड़ी बने। मैथ्यूज ब्लैकपूल नामक इंग्लिश फुटबॉल क्लब का हिस्सा थे। इसी साल दूसरे स्थान पर रहने वाले स्पेन के एलफ्रेडो डी स्टेफानो साल 1957 में इस खिताब को जीतने में कामयाब रहे। और 1956 में ही तीसरे स्थान पर रहे रेमण्ड कोपा साल 1958 में बैलन डी'ओर विजेता बने।

5) सबसे ज्यादा खिताब मेसी के नाम

मेसी हाल ही में इस खिताब को रिकॉर्ड सातवीं बार जीतने वाले दुनिया के पहले पुरुष फुटबॉल खिलाड़ी बने हैं। मेसी ने 2009, 2010, 2011, 2012, 2015, 2019 और अब 2021 में बैलन डी'ओर जीता है। क्रिस्टियानो रोनाल्डो दूसरे नबंर पर हैं और उन्होंने 5 बार साल 2008, 2013, 2014, 2016, 2017 में ये अवॉर्ड जीता है।

मेसी के 7 बैलन डी'ओर के सम्मान में पेरिस के ऐफिल टावर के सामने रखे 7 गोल्डन गोट।
मेसी के 7 बैलन डी'ओर के सम्मान में पेरिस के ऐफिल टावर के सामने रखे 7 गोल्डन गोट।

फ्रांसिसी फुटबॉलर माइकल प्लाटिनी, नीदरलैंड के जोहन क्रायफ और नीदरलैंड के ही मार्को वैन बास्टन ने 3-3 बार बैलन डी'ओर जीता है। मेसी 2010 में फीफा बैलन डी'ओर जीतने वाले पहले खिलाड़ी बने और लगातार तीन साल तक ये खिताब जीता। 2013 और 2014 में क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने ये खिताब जीता जबकि आखिरी खिताब 2015 में फीफा बैलन डी'ओर मेसी के नाम रहा।

6) सबसे ज्यादा बार दूसरे नंबर पर रोनाल्डो

क्रिस्टियानो रोनाल्डो बैलन डी'ओर की वोटिंग में दूसरे नंबर पर सबसे ज्यादा बार आने वाले खिलाड़ी हैं। रोनाल्डो 6 बार साल 2007, 2009, 2011, 2012, 2015 और 2018 में खिताब से चूक गए और दूसरे स्थान पर रहे।

7) 4 देशों के नाम सबसे ज्यादा अवॉर्ड

ब्राजील के काका ने 2007 में बैलन डी'ओर अपने नाम किया।
ब्राजील के काका ने 2007 में बैलन डी'ओर अपने नाम किया।

अर्जेंटीना, जर्मनी, नीदरलैंड और पुर्तगाल के खिलाड़ियों ने सबसे ज्यादा 7-7 बार ये खिताब जीता है। मेसी अर्जेंटीना की ओर से 7 बार ये अवॉर्ड जीत चुके हैं। अर्जेंटीना के अलावा ब्राजील और लाइबिरिया ऐसे गैर-यूरोपीय देश हैं जहां से बैलन डी'ओर विजेता आए हैं। क्लबों की बात करें तो बार्सिलोना के 6 खिलाड़ियों ने कुल 12 बार ये खिताब जीता है, वहीं रियाल मेड्रिड के 7 खिलाड़ियों ने 11 बार बैलन डी'ओर अपने नाम किया है।

8) सुपर बैलन डी'ओर के इकलौते विजेता

साल 1989 में फ्रैंच मैगजीन फ्रांस फुटबॉल द्वारा बैलन डी'ओर के 33 साल पूरे होने पर पुराने विजेताओं में से सुपर बैलन डी'ओर विजेता के रूप में एलफ्रेडो डी स्टेफानो को चुना गया। वहीं 1999 में फ्रांस फुटबॉल ने पेले को सदी का सर्वश्रेष्ठ फुटबॉल खिलाड़ी का अवॉर्ड दिया।

9) एक ही देश और क्लब से टॉप 3 खिलाड़ी

1972 में बैलन डी'ओर के टॉप तीन खिलाड़ियों में तीनों जर्मनी से थे। फ्रैंज बैकनबॉयर ने बैलन डी'ओर जीता जबकि उनके हमवतन जर्ड मूलर और गंथर नेट्सर क्रमश : दूसरे और तीसरे नंबर पर रहे। ऐसा ही 1981 में भी हुआ जब तीनो टॉप खिलाड़ी जर्मनी से थे। 1988 में तीनों खिलाड़ी नीदरलैंड से थे और एक ही फुटबॉल क्लब मिलान के लिए खेलते थे। 1989 में भी तीनों टॉप खिलाड़ी मिलान फुटबॉल क्लब के ही थे।

10) मेराडोना और पेले को विशेष बैलन डी'ओर

बैलन डी'ओर के पूर्व नियमों के मुताबिक गैर यूरोपीय खिलाड़ियों को इस खिताब के लिए नहीं चुना जाता था। यही वजह है कि अर्जेंटीना का मेराडोना और ब्राजील के पेले जैसे ऐतिहासिक खिलाड़ियों को इस खिताब के लिए नहीं चुना गया। इसलिए साल 1995 में मेराडोना और 2013 में पेले को विशेष बैलन डी'ओर दिया गया।

Quick Links

Edited by निशांत द्रविड़
Be the first one to comment