कुवैत को हराकर भारत 9वीं बार बना SAFF चैंपियन, पेनेल्टी शूटआउट में दी मात

टूर्नामेंट की ट्रॉफी, मेडल और चेक के साथ टीम इंडिया के सभी खिलाड़ी।
टूर्नामेंट की ट्रॉफी, मेडल और चेक के साथ टीम इंडिया के सभी खिलाड़ी।

भारतीय पुरुष फुटबॉल टीम ने लगातार दूसरी बार दक्षिण एशियाई फुटबॉल फेडरेशन की ओर से आयोजित SAFF चैंपियनशिप का खिताब जीत लिया है। फाइनल में टीम इंडिया ने कुवैत के खिलाफ 1-1 से ड्रॉ खेलने के बाद पेनेल्टी शूटआउट में 5-4 से जीत दर्ज की और रिकॉर्ड 9वीं बार इस ट्रॉफी को हासिल किया।

बेंगलुरु के कांतिवीरा स्टेडियम में हुए मुकाबले में कुवैती टीम ने बेहतर शुरुआत की और 14वें मिनट में शबैब अल-खल्दी ने गोल कर टीम को भारत पर 1-0 की बढ़त दिला दी। इस गोल के बाद स्टेडियम में मौजूद हजारों भारतीय समर्थक निराश हो गए। लेकिन भारतीय विंगर लालियानजुआला चांगते ने 36वें मिनट में बराबरी का गोल कर भारतीय खेमे को खुश कर दिया। फुल टाइम और एक्स्ट्रा टाइम के बाद भी यह स्कोर बराबर ही रहा जिसके बाद मुकाबला पेनेल्टी शूटआउट में गया।

पेनेल्टी शूटआउट बेहद रोमांचक रहा। कुवैत ने अपनी पहली पेनेल्टी मिस की और अन्य चार सही से दागी जबकि भारतीय टीम ने शुरुआती तीन पेनेल्टी सुनील छेत्री, संदेश झिंगन और चांगते के कारण सफलता से दागी जबकि चौथी पेनेल्टी में उदांता सिंह असफल रहे।

भारत के लिए पांचवी पेनेल्टी शुभाषिष बोस ने सफलता से ली। 5 प्रयास के बाद स्कोर 4-4 से बराबर था। अब सडन डेथ में महेश सिंह ने सफलता के साथ स्कोर किया। कुवैत के छठे प्रयास में खालिद हिजायेह के प्रयास को भारतीय गोलकीपर गुरप्रीत सिंह संधू ने रोका और भारत विजेता बन गया।

टूर्नामेंट में भारतीय कप्तान सुनील छेत्री ने सर्वाधिक 5 गोल किए। इस वर्ष लेबनॉन और कुवैत जैसे देशों के टूर्नामेंट में भाग लेने के कारण इसका स्तर पूर्व के संस्करणों से बेहतर माना जा रहा है। भारत ने साल 1993, 1997, 1999, 2005, 2009, 2011, 2015, 2021 और अब 2023 में यह खिताब हासिल किया है। टीम की जीत के बाद देशभर से मशहूर हस्तियों और फुटबॉल फैंस का प्यार सोशल मीडिया पर बरस रहा है।

Quick Links

Edited by Rahul VBS
App download animated image Get the free App now