Create
Notifications

सुनील छेत्री ने लियोनेल मेसी के साथ तुलना पर दिया बड़ा बयान

सुनील छेत्री
सुनील छेत्री
Vivek Goel

भारतीय फुटबॉल टीम के कप्‍तान सुनील छेत्री ने कहा कि जो लोग फुटबॉल को समझते हैं, वो जानते हैं कि अर्जेंटीना के स्‍ट्राइकर लियोनेल मेसी और उनके बीच कोई तुलना नहीं है। सुनील छेत्री ने अपने खाते में एक गजब की उपलब्धि जोड़ी, जब वह दूसरे सर्वश्रेष्‍ठ अंतरराष्‍ट्रीय गोलस्‍कोरर बने और लियोनेल मेसी को पछाड़ दिया।

सुनील छेत्री ने दोहा में अल साद क्‍लब के जासिम बिन हमाद स्‍टेडियम में बांग्‍लादेश के खिलाफ भारत को 2-0 से जीत दिलाने के दौरान यह उपलब्धि हासिल की। विश्‍व कप क्‍वालीफायर के इस मुकाबले में छेत्री ने दोनों गोल दागे थे।

भारतीय कप्‍तान ने कहा, 'यह लोगों का विचार है और ठीक है क्‍योंकि सभी के अपने विचार होते हैं। अगर आप इस बारे में मेरी राय जानना चाहे तो मेरे और मेसी के बीच कोई तुलना नहीं। मेरी तो किसी भी खिलाड़ी से तुलना नहीं। मेरे से 1000 और 1000 खिलाड़ी बेहतर हैं और वो सभी मेसी के फैंस हैं। यह सच्‍चाई है। जो लोग फुटबॉल समझते हैं, वो जानते हैं कि मेरे और मेसी के बीच कोई तुलना नहीं।'

छेत्री ने आगे कहा, 'मुझे फुटबॉल का अच्‍छा ज्ञान है तो मुझे पता है कि कोई तुलना नहीं। मुझे गर्व इस बात का है कि मैंने देश के लिए 100 से ज्‍यादा मैच खेले। जो भी गोल स्‍कोरिंग चार्ट को देखे, उसे मेरी सलाह यही होगी कि बस पांच सेकंड के लिए खुश रहो। बस। मेरी और मेसी की कोई तुलना नहीं। पूरी दुनिया मेसी की दीवानी है, लेकिन कोई भी इस लिस्‍ट में हो, कोई तुलना नहीं, यह सच्‍चाई है।'

मैं हर मैच जीतने के लिए खेलता हूं: सुनील छेत्री

यह पूछने पर कि खेल के प्रति इतना जुनूनी कैसे हैं तो छेत्री ने जवाब दिया, 'मैं इसका कई तरीकों से जवाब दे सकता हूं, लेकिन आज के लिए मैंने एक जवाब सोचा है। अगर मैं आपको राष्‍ट्रीय टीम की जर्सी दूं और अपना सर्वश्रेष्‍ठ प्रदर्शन करने को कहूं तो आप ऐसा करोगे मेरे दोस्‍त। मुझे राष्‍ट्रीय टीम की जर्सी खेलने के लिए जुनूनी बनाती है। देश में 1.4 बिलियन लोग हैं और मैं उन खिलाड़‍ियों में से एक हूं, जो देश का प्रतिनिधित्‍व कर रहा है।'

उन्‍होंने आगे कहा, 'कुछ दिन मैं गोल कर पाता हूं और कुछ दिन नहीं। मैं अपना सर्वश्रेष्‍ठ देने का प्रयास करता हूं। देश के लिए खेलना उतना मुश्किल नहीं, जितना इस पड़ाव तक पहुंचना है। मैं बस खेलना चाहता हूं और जीतना चाहता हूं। ऐसा नहीं कि मैं जिस भी मैच में खेलूं, वो हम जीतेंगे। यह शानदार जिंदगी है, जो मैं जी रहा हूं। मैंने देश के लिए 100 से ज्‍यादा मैच खेले हैं। यह मेरे लिए गर्व की बात है।'


Edited by Vivek Goel

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...