Create

अविपत्तिकर चूर्ण के 3 फायदे: Avipattikar Choorna Ke 3 Fayde 

फोटो: Only My Health
फोटो: Only My Health

अविपत्तिकर चूर्ण (Avipattikar Powder) शरीर में मौजूद सबसे बड़े और महत्वपूर्ण अंग पेट (Stomach) को ठीक रखने में मदद करता है। अगर आप पेट से जुड़ी किसी परेशानी से दो चार हो रहे हैं तो आज ही इसका सेवन करें। इसका सेवन करना आसान है लेकिन सही मात्रा में ही चीजों का सेवन करना चाहिए।

इसके नाम में ही इसके असर से जुड़ी जानकारी है। विपत्ति (Problem) का मतलब है परेशानी और कर (Do) का मतलब है होना। इसका मतलब है कि विपत्तिकर का अर्थ है परेशानी करना, लेकिन आगे अ (Un) लगे होने से इसका अर्थ बदल जाता है। इसका अर्थ हो जाता है कि परेशानी को दूर करना (Undo Problem)।

जब नाम ही इस बात की पुष्टि कर रहा है तो तत्व तो लाभकारी होगा ही। यही वजह है कि आपको अगर पेट से जुड़ी परेशानी को ठीक करना है तो आप इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे कभी भी कोई नुकसान या साइड इफेक्ट नहीं होगा जो एक अच्छी बात है। आइए आपको उन फायदों के बारे में बताते हैं जो आपको इसके सेवन से प्राप्त होते हैं।

अविपत्तिकर चूर्ण के 3 फायदे: Avipattikar Choorna Ke 3 Fayde

आतों की सूजन और अल्सर को दूर करे: Cures Inflated Intensines and Ulcer in Hindi

आंवला, हरड़, पिप्पली, त्रिफला, अदरक, तेज पत्ता, त्रिकटु इत्यादि जड़ी बूटियों को मिलाकर बनने वाले इस चूर्ण से आप अपनी आतों में होने वाली सूजन और अल्सर को ठीक कर सकते हैं। आंतें पेट और शरीर के लिए बेहद जरूरी हैं और इनमें होने वाली दिक्कत शरीर को परेशानी में ड़ाल देती है।

पेट में एसिड बनने और फूलने की समस्या को खत्म करे: Cures Acid, Acid Reflux, and Stomach Inflation issues in Hindi

पेट में एसिड होता है जिसकी मदद से खाने को और छोटे टुकड़ों में तोड़ा जाता है और उसमें मौजूद जरूरी मिनरल्स को खून का हिस्सा बनाया जाता है। जब ये एसिड खराब खाने की आदतों या गलत खाने के कारण परेशानी का कारण बन जाए तो उस स्थिति में ये चूर्ण फायदा करता है। ऐसे कई लोग हैं जिन्हें पेट में गैस बनने की समस्या का सामना करना पड़ता है और ये बहुत अधिक मात्रा में बनने लगती है। इस स्थिति में भी आप इस चूर्ण का सेवन कर सकते हैं।

सीने की जलन को ठीक करे: Cures heartburn in Hindi

सीने में जलन दो ही कारणों से हो सकती है। एक तो तब जब आप किसी के बारे में कुछ ज्यादा अच्छा सुनकर यकीन ना कर सकें या फिर जब आप खान पान को खराब कर लें। इन दोनों ही स्थितियों में होने वाली परेशानी में से खान पान वाली परेशानी को ये चूर्ण ठीक कर सकता है जबकि दूसरे को ठीक करने के लिए आपको अपने आचार विचार को ठीक रखना चाहिए।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Amit Shukla
Be the first one to comment