Create

जड़ी-बूटियों में सबसे लोकप्रिय है अश्वगंधा, जानिये 5 फायदे - Benefits Of Ashwagandha

जड़ी-बूटियों में सबसे लोकप्रिय है अश्वगंधा, जानिये 5 फायदे (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
जड़ी-बूटियों में सबसे लोकप्रिय है अश्वगंधा, जानिये 5 फायदे (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
reaction-emoji
Vineeta Kumar

अश्वगंधा (Ashwagandha) आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति की एक महत्वपूर्ण जड़ी बूटी है। इसे भारतीय जिनसेंग (ginseng) या विंटर चेरी (winter cherry) के नाम से भी जाना जाता है। इसकी जड़ में एक विशिष्ट गंध होती है जो घोड़े के पसीने की तरह होती है, इसलिए इसे अश्वगंधा नाम दिया गया है। अश्वगंधा अपने रसायन (rejuvenating) और वात संतुलन गुणों के कारण तनाव और चिंता से जुड़ी समस्याओं के प्रबंधन में सहायता प्रदान करने के लिए जाना जाता है।

ये गुण मधुमेह प्रबंधन में भी मदद कर सकते हैं। इसमें कामोत्तेजक गुण भी होते हैं जो सहनशक्ति में सुधार करने में मदद करते हैं और स्तंभन दोष जैसी स्थितियों का इलाज करते हैं। अश्वगंधा की जड़ के चूर्ण को दूध के साथ लेने से पुरुष बांझपन और स्तंभन दोष को नियंत्रित करने में मदद मिलती है। यह लेख आपको अश्वगंधा के 5 फायदे (5 Benefits of Ashwagandha) बताने जा रहा है।

जड़ी-बूटियों में सबसे लोकप्रिय है अश्वगंधा, जानिये 5 फायदे - Benefits Of Ashwagandha In Hindi

1. एंग्जायटी और डिप्रेशन के लिए (Good for anxiety and depression)

अश्वगंधा में चिंताजनक (anxiety-relieving) गुण हो सकते हैं जो लोराज़ेपम (lorazepam) नमक दवा की तरह असरदार होते हैं। अश्वगंधा और लोराज़ेपम एंग्जायटी को कम करने में मदद कर सकते हैं। अश्वगंधा संभावित अवसादरोधी गुणों (antidepressant) को भी प्रदर्शित कर सकता है। यह इंगित करता है कि अश्वगंधा डिप्रेशन और एंग्जायटी के साथ मदद कर सकता है।

2. आर्थराइटिस में उपयोगी (Useful in Arthritis)

अश्वगंधा में संभावित गठिया-रोधी (anti-arthritic) गुण हो सकते हैं। अश्वगंधा तंत्रिका तंत्र को शांत करके दर्द को दूर करने में मदद कर सकता है। यह हर्बल फॉर्मूलेशन दर्द की गंभीरता को कम करने की क्षमता प्रदर्शित करता है।

3. तनाव और हाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करे (Control stress and high blood pressure)

अश्वगंधा तनाव और हाई ब्लड प्रेशर जैसी समस्याओं से निपटने की व्यक्ति की क्षमता में सुधार कर सकता है। तनाव एड्रेनोकोर्टिकोट्रोपिक हार्मोन (adrenocorticotropic hormone) के स्राव को बढ़ाता है जिससे शरीर में कोर्टिसोल के स्तर (stress hormone) में वृद्धि होती है। अश्वगंधा पाउडर कोर्टिसोल (cortisol) के स्तर को कम करता है और तनाव तथा इससे जुड़ी समस्याओं जैसे हाई ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करता है।

4. मधुमेह में मददगार (Helpful in diabetes)

अश्वगंधा इंसुलिन उत्पादन बढ़ाकर और इंसुलिन संवेदनशीलता में सुधार करके मधुमेह के रोगियों में रक्त शर्करा को नियंत्रित कर सकता है। अश्वगंधा कोशिकाओं को इंसुलिन के प्रति कम प्रतिरोधी बनाता है। यह इंसुलिन संवेदनशीलता में सुधार करता है और कोशिकाओं द्वारा ग्लूकोज के उपयोग को बढ़ाता है। अश्वगंधा इंसुलिन पैदा करने वाली कोशिकाओं की संख्या को भी बचाता है और बढ़ाता है जिससे इंसुलिन स्राव बढ़ता है। साथ में, यह मधुमेह के जोखिम को प्रबंधित करने में मदद करता है।

5. पार्किंसंस रोग में उपयोगी (Useful in Parkinson's disease)

पार्किंसंस रोग तंत्रिका कोशिकाओं की क्षति के कारण होता है जो शरीर की गति, मांसपेशियों के नियंत्रण और संतुलन को प्रभावित करता है। अश्वगंधा अपने एंटीऑक्सीडेंट गुण के कारण तंत्रिका कोशिकाओं को होने वाले नुकसान से बचाता है। यह पार्किंसंस और उससे जुड़ी समस्याओं के जोखिम को कम करता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Vineeta Kumar
reaction-emoji

Comments

comments icon
Fetching more content...