Create
Notifications

निमोनिया के 5 लक्षण और 7 घरेलू इलाज - 5 Symptoms And 7 Home Remedies of Pneumonia

निमोनिया के 5 लक्षण और 7 घरेलू इलाज (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
निमोनिया के 5 लक्षण और 7 घरेलू इलाज (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
reaction-emoji
Vineeta Kumar

बदलते मौसम की बात करे तो आज के समय में खांसी, छींकना, बुखार और गले में खराश होना आम है। इन्हीं लक्षणों की वजह से निमोनिया (pneumonia) जैसी गंभीर बीमारी हो सकती है। यदि इसका समय पर इलाज ना हो तो यह इन्फेक्शन जानलेवा हो सकता है। ऐसे में सावधानी और परहेज भी जरूरी होते हैं। निमोनिया फेफड़ों का संक्रमण होता है। आम तौर पर, फेफड़ों में छोटी थैली हवा से भर जाती है। निमोनिया से पीड़ित व्यक्ति के वायुकोश में मवाद और अन्य तरल पदार्थ भर जाते हैं। यह दो वर्ष की आयु से कम उम्र के बच्चों के लिए और 65 वर्ष के लोगों के लिए खतरनाक हो सकता है। इस लेख में निमोनिया के लक्षण और इलाज (Symptoms and treatment of pneumonia) के बारे में चर्चा की गयी है।

निमोनिया के 5 लक्षण और 7 घरेलू इलाज

निमोनिया के लक्षण : Symptoms of Pneumonia In Hindi

1. ठंड लगने के साथ तेज बुखार होना

2. लंबे समय तक खराश वाली खांसी के साथ कफ रहना

3. सांस लेने में तकलीफ महसूस करना

4. खांसने पर सीने में दर्द महसूस करना

5. ठंड के कारण अचानक तबीयत खराब होना

निमोनिया के घरेलू इलाज : Home Remedies for Pneumonia In Hindi

आप नीचे दी गयी सावधानियों और इलाज का पालन डॉक्टरी सहायता के साथ भी कर सकते हैं। यह निमोनिया में सहायक हैं। इनका कोई भी साइड-इफ़ेक्ट नहीं होता है।

1. हाइड्रेशन (Hydration)

जब किसी व्यक्ति को बुखार होता है, तो तरल पदार्थ और इलेक्ट्रोलाइट्स का सेवन डिहाइड्रेशन को रोकने में मदद कर सकता है। ठंडे पेय पदार्थ पीने या घर का बना आइस पॉप्सिकल्स खाने से शरीर को हाइड्रेट करने और इसे ठंडा रखने में मदद मिल सकती है। इसके परिणामस्वरुप निमोनिया जैसी बीमारी से बचाव होता है।

2. अदरक या हल्दी की चाय (ginger or turmeric tea)

निमोनिया में लगातार खांसी के कारण सीने में दर्द हो सकता है। ताजी अदरक या हल्दी की जड़ से बनी गर्म चाय पीने से इस दर्द को कम करने में मदद मिल सकती है। इन दोनों पौधों की जड़ों का शरीर में प्राकृतिक रूप से सूजन-रोधी प्रभाव हो सकता है।

3. कैफीन का सेवन (caffeine intake)

एक कप कॉफी या काली चाय जैसे कैफीन पेय पीने से फेफड़ों में वायुमार्ग को खोलने में मदद मिल सकती है। यह निमोनिया में एक व्यक्ति को अधिक आसानी से सांस लेने में मदद कर सकता है।

4. नमक-पानी से गरारे करना (Gargle with salt water)

गले और छाती में बलगम अधिक खांसी और जलन पैदा कर सकता है। खारे पानी से गरारे करने से गले में मौजूद बलगम या कीटाणुओं को खत्म करने में मदद मिल सकती है, जिससे इस समस्या में रोगी कुछ राहत पा सकता है।

5. सब्जियों का जूस पिएं (drink vegetable juice)

निमोनिया जैसी बीमारी में सब्जियों से बना जूस बहुत मददगार साबित होता है। सब्जियों में विटामिन A होता है और यह पोषक तत्व निमोनिया जैसी बीमारी से बचाव कर सकता है। इसके लिए, गाजर, टमाटर, ब्रोकली, पालक आदि को जूस के रूप में अपनी डाइट में शामिल करें।

6. आराम करें (Take rest)

शरीर में सेलुलर मरम्मत (cellular repair) के लिए आराम महत्वपूर्ण होता है, लेकिन यह सांस की तकलीफ के लिए भी विशेष रूप से फायदेमंद हो सकता है। निमोनिया से पीड़ित व्यक्ति को शारीरिक परिश्रम कम से कम करने से लाभ हो सकता है।

7. अतिरिक्त प्राकृतिक यौगिक को शामिल करें (Additional Natural Compounds)

कई घरेलू उत्पादों में ऐसे यौगिक होते हैं जो उपचार प्रक्रिया को बढ़ावा देने में मदद कर सकते हैं। उदाहरण के तौर पर :

  • लहसुन (Garlic)
  • शहद (Raw honey)
  • लाल मिर्च (cayenne pepper)
  • टी ट्री ऑयल (Tea tree oil)
  • एचिनासा (echinacea)

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Vineeta Kumar
reaction-emoji

Comments

Fetching more content...