Create
Notifications

Tokyo Olympics में भारत का नाम रौशन करने वाले नीरज चोपड़ा की फिटनेस और प्रैक्टिस पर एक नजर

फोटो: Olympics Twitter
फोटो: Olympics Twitter
Amit Shukla
visit

नीरज चोपड़ा (Neeraj Chopra) को टोक्यो ओलंपिक्स (Tokyo Olympics) में भारत के लिए ट्रैक एंड फील्ड के जेवलिन थ्रो में स्वर्ण पदक जीतने पर स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी की तरफ से बधाई और शुभकामनाएं। इस अभिनव पल को प्रदान करने के लिए उनको साधुवाद और उनके कठिन परिश्रम का अभिनंदन।

किसी भी जीत से पहले की मेहनत ही इंसान को विजेता या असफलता के रास्ते पर ले जाती है। जेवलिन थ्रो के क्षेत्र में आज भारत का नाम स्वर्णिम अक्षरों में लिखने वाले नीरज चोपड़ा के लिए ये सफर आसान नहीं था। बढ़े हुए वजन और कम उम्र में ही इसे प्राप्त करने के कारण इन्हें अपनी सेहत को सुधारने के लिए परिवार वालों का समर्थन मिला।

एक लंबी दूरी को तय करने के लिए किसी को भी छोटे छोटे लेकिन मजबूत कदम रखने होते हैं। नीरज ने अपने काम से 2016 वर्ल्ड यू20 चैंपियन होने का खिताब अपने नाम किया और फिर वो वर्ल्ड अंडर 20 में 86.48 मी का रिकॉर्ड स्थापित स्थापित करने में कामयाब रहे। इसके अलावा इन्होंने स्वयं खुद को चैलेंज करके एक कीर्तिमान स्थापित किया।

टोक्यो ओलंपिक्स में भारत का नाम रौशन करने वाले नीरज चोपड़ा की फिटनेस और प्रैक्टिस पर एक नजर

एक खिलाड़ी के लिए फिटनेस ही सबसे महत्वपूर्ण होती है और इस बात पर उन्होंने सबसे अधिक ध्यान दिया। उन्होंने अपने लिए चैलेंज सेट किए और हमेशा खुद को बेहतर करने का प्रयास करते रहे। इन्होंने 2016 साउथ एशियाई गेम्स में 84.23 मी की दूरी पर भाला फेंककर भारतीय नेशनल रिकॉर्ड की बराबरी कर ली।

इनका पूरा ध्यान इस साल भारत के लिए टोक्यो ओलंपिक्स के जेवलिन थ्रो में गोल्ड मेडल लाने पर था और अपने प्रदर्शन से उन्होंने इसको सच कर दिखाया। इसको प्राप्त करने के लिए इन्होंने खुद पर फोकस किया, अपने परिवार से दूर रहकर प्रैक्टिस की और अन्य ध्यान भटकाने वाली चीजों से दूरी बनाई।

दिमाग, शरीर और फुर्ती ही आपके सबसे बड़े साथी होते हैं और इन तीनों पर नीरज ने मार्च 2021 से ही काम करना शुरू कर दिया था। वो इससे पहले से इसके लिए तैयारी कर रहे थे लेकिन एक वीडियो के माध्यम से आप उनकी मेहनत, समर्पण, दृणनिष्ठा और फोकस को देख सकते हैं। ये बात साबित करती है कि 'कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।'

इस ऐतिहासिक जीत पर उन्हें सबसे पहले देश के प्रथम नागरिक, माननीय महामहिम राष्ट्रपति जी ने बधाई दी जिसके बाद प्रधानमंत्री एवं अन्य नेताओं ने उन्हें शुभकामनाएं दीं। दुनिया में सबसे अच्छी और अद्भुत भारतीय सेना ने भी अपने नायब सूबेदार को इस जीत की बधाई दी है। टोक्यो ओलंपिक्स से जुड़ी पल पल की खबर के लिए आप हमारे ट्विटर अकाउंट को फॉलो कर सकते है।

(नीरज चोपड़ा की अभूतपूर्व जीत! आपका भाला बाधाओं को तोड़ता है और इतिहास रचता है। आप अपने पहले ओलंपिक में भारत को पहली बार ट्रैक और फील्ड में स्वर्ण पदक दिलाते हैं। आपका खेल हमारे युवाओं को प्रेरणा देगा। भारत उत्साहित है! हार्दिक बधाई!)

(अभी हाल ही में @Neeraj_chopra1 से बात की और गोल्ड जीतने पर बधाई दी! उनकी कड़ी मेहनत और तप की सराहना की, जो #Tokyo2020 के दौरान पूरे प्रदर्शन में नजर आई है। वह बेहतरीन खेल प्रतिभा और खिलाड़ी भावना का परिचय देते हैं। उनके भविष्य के प्रयासों के लिए शुभकामनाएं।)

(#गर्व

जनरल एमएम नरवणे #COAS और #IndianArmy के सभी रैंकों ने सूबेदार नीरज चोपड़ा को #TokyoOlympics में 87.58 मीटर की थ्रो के साथ ओलंपिक में #भाला में देश का पहला #गोल्डमेडल जीतने पर बधाई दी।

#मिशन ओलिंपिक

#टोक्यो2020)

(#टोक्यो ओलिंपिक

सोना -

@नीरज_चोपरा1 (भाला फेंक) प्रथम स्थान

#नीरज चोपड़ा #ओलंपिक खेल #ओलंपिक #Tokyo2020

#भाला फेंक)

youtube-cover

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Amit Shukla
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now