Create

कलौंजी खाने के फायदे और नुकसान- Kalonji Khane ke fayde aur nuksan

कलौंजी खाने के फायदे और नुकसान(फोटो:Hindikul)
कलौंजी खाने के फायदे और नुकसान(फोटो:Hindikul)

कलौंजी को मंगरैल भी कहते हैं। ये दिखने में जितना छोटा होता है सेहत के लिए उससे कहीं ज्यादा फायदेमंद होता है। कलौंजी में आयरन, पोटेशियम, फाइबर और कई सारे मिनरल्स पाए जाते हैं। इसमें अमीनो एसिड भी पाया जाता है। इसके बीज का भी कई कामों में उपयोग किया जाता है साथ ही इसका तेल भी बनता है। यह एक बेहतरीन एंटी-ऑक्सीडेंट भी माना जाता है।

कलौंजी खाने के फायदे- Benefits of Kalonji in Hindi

कलौंजी खाने से बढ़ती है स्मरण शक्ति (Memory power increases by eating Kalonji)

कलौंजी का बीज बुजुर्गों के अलावा युवाओं की सेहत के लिए भी फायदेमंद होता है। इससे स्मरण शक्ति बढ़ती है और काम में फोकस करने में आसानी होती है। कलौंजी के साथ थोड़ा शहद मिलाकर गर्म पानी के साथ सेवन करने से काफी लाभ मिलता है।

-अगर किसी को अस्थमा और खांसी आ रही है तो उसे कलौंजी का सेवन जरूर करना चाहिए। लगातार दो महीने तक इसका सेवन करने से काफी लाभ मिलता है।

-कलौंजी का सेवन हृदय रोगों से मुक्ति दिलाता है। आयुर्वेद की मानें तो बकरी या गाय के दूध के साथ कलौंजी का सेवन करने से एक हफ्ते में ही काफी आराम मिलता है।

-कलौंजी में ऐसे कई तत्व होते हैं, जो कोलेस्ट्रॉल को कम करने में सहायक होते हैं। तीन महीने तक (दो से तीन ग्राम) इसका सेवन करने से गुड कोलेस्ट्रॉल बढ़ऩे में मदद मिलती है।

-कलौंजी में एंटी-ओबेसिटी वाले गुण होते हैं, जो वज़न घटाने में काफी लाभकारी होते हैं। इसके तेल का इस्तेमाल वज़न घटाने वाले मसाज में किया जाता है।

-डायबिटीज रोगियों को शुगर कंट्रोल करने के लिए कलौंजी का सेवन ब्लैक टी के साथ करने से काफी लाभ मिल सकता है।

-कलौंजी किडनी के लिए भी अच्छा होता है। इसके लिए कलौंजी के तेल के साथ शहद, और गर्म पानी पीने की सलाह दी जाती है।

कलौंजी खाने के नुकसान- side Effects of Kalonji in Hindi

कलौंजी खाने के नुकसान के बारे में बात करें तो गर्भवती महिलाओं को इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

कलौंजी में थाइमोक्विनोन पाए जाते हैं और इसकी मात्रा बढ़ जाने से कई बार ब्लड क्लॉट हो जाता है। ऐसे में इसके सेवन से बचना चाहिए।

अगर किसी को पित्त की समस्या है और वह बहुत गर्मी बर्दाश्त नहीं कर पाता है तो उसे भी इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

पेट में बहुत जलन होने की समस्या में भी कलौंजी का सेवन नहीं करना चाहिए।

जिन महिलाओं को पीरियड देर से आने की समस्या है उन्हें इसके सेवन से बचना चाहिए।

जिन महिलाओं को अधिक पीरियड्स होते हैं उन्हें भी कलौंजी का सेवन नहीं करना चाहिए।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Ritu Raj
Be the first one to comment