Create

नाभि में हींग लगाने के फायदे - Nabhi Mein Hing Lagane Ke Fayde

नाभि में हींग लगाने के फायदे (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
नाभि में हींग लगाने के फायदे (फोटो - sportskeedaहिन्दी)
reaction-emoji
Vineeta Kumar

हींग (Asafoetida) के अपने ही फायदे होते हैं जो कि खाने में ही नहीं बल्कि अन्य बीमारियों को दूर करने में भी सहायक होते हैं। हींग को आयुर्वेद में पाचन में सुधार करने वाली जड़ी-बूटी के रूप में जाना जाता है। हींग दिल, पेट और दांत से जुड़ी कई समस्याओं के लिए इस्तेमाल की जाती रही है। यह कफ, वात और पित्त के नियंत्रण को बढ़ावा देता है। पित्त दोष को बैलेंस करना पेट के लिए बहुत जरूरी है और हींग, पित्त दोष को बैलेंस करती है और डाइजेशन को बेहतर बनाने में मदद करती है। इस लेख में नाभि में हींग लगाने के फायदों के बारे में बताया गया है। इसका एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पेट की सूजन को दूर करता है और कई समस्याओं से बचाता है। आइये जानते हैं नाभि में हींग लगाने के फायदों के बारे में।

नाभि में हींग लगाने के फायदे - Nabhi Mein Hing Lagane Ke Fayde In Hindi

नाभि में सरसो के तेल के साथ हींग लगाएं (Hing With Mustard Oil)

हींग में एंटीइंफ्लेमेटरी गुण सबसे पहले सूजन को दूर करता है और फिर पेट में एसिड के प्रोडक्शन को कंट्रोल करने में मदद करता है। सरसो के तेल के साथ हींग मिलाकर लगाने से पेट संबंधित समस्या के लिए फायदे हो सकते हैं। गैस, एसिडिटी जैसी समस्या होने पर यह प्रभावी उपचार है। यदि पेट के बीच में दर्द महसूस हो या पेट फुला हुआ महसूस हो तो हींग और सरसों का तेल गरम करके सर्कुलर मोशन में नाभि में लगाएं और मालिश करें। मालिश ऐसे करें कि गैस नीचे की ओर आए। सीने में जलन होने पर भी हींग और सरसों के तेल के मिश्रण से राहत मिलती है, ऐसे में आप हींग और तेल को सीने से मलते हुए पेट की ओर लगाएं। आपको कुछ देर ही मालिश करके आराम महसूस होगा।

नाभि में लगाएं गरम पानी और हींग का लेप (Hing With Hot Water)

नाभि खिसकने (नाभि के स्थान पर नाड़ी का ऊपर या नीचे की ओर खिसकना ही नाभि खिसकना कहलाता है) पर हींग के साथ गरम पानी मिलाकर लेप बनालें। इस लेप को नाभि पर लगाएं और हल्के हाथों से नाभि के आस-पास मालिश करें, यह करने से दर्द से राहत मिल सकती हैं।

नाभि में घी और हींग लगाएं (Ghee With Hing)

पेट में ऐठन या दर्द होने पर घी और हींग को हल्का गरम करके नाभि के आस-पास लगाने से आराम मिलेगा। ऐसा आप मासिक धर्म में होने वाले दर्द में भी कर सकते हैं। अनियमित पीरियड्स और मासिक धर्म में ऐंठन ज्यादातर महिलाओं के लिए एक बुरा सपना होता है और ऐसे में हींग एक प्राकृतिक ब्लड थिनर होने के कारण, मासिक धर्म के दौरान रक्त के थक्कों को कम करता है, प्रवाह को सुचारू और आसान बनाता है। साथ ही गर्भवती महिलाओं के लिए भी ये नुस्खा बहुत फायदेमंद है। जब गर्भवती महिलाओं को गैस की समस्या होती है तो वे ये नुस्खा अपना सकती हैं। गर्भवती महिलाएं पेट की ऐंठन को कम करने के लिए नाभि पर इसे लगा सकती हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Vineeta Kumar
reaction-emoji

Comments

Fetching more content...