Create

खून को साफ़ करेगा ये इकलौता आसान सा तरीका: Khoon Ko Saaf Karega Ye Iklauta Aasaan Sa Tarika 

फोटो: Ethix
फोटो: Ethix

ये बात हम सबने कई बार सुनी होगी कि किसी इंसान का खून खराब है। यहाँ बात उसके खानदान की नहीं हो रही है बल्कि उसके शरीर के अंदर मौजूद खून में अशुद्धियों की हो रही है। हम सब इस बात को कई बार देखते हैं कि कुछ लोगों को पिम्पल्स (Pimples) होते हैं और वो बहुत बार होते हैं।

ऐसे कई लोग हैं जिनकी त्वचा हमेशा खराब रहती है या उन्हें स्किन एलर्जी (Skin Allergy) रहती है। ऐसे में डॉक्टर उन्हें दवाई दे देते हैं। ऐसे कई डॉक्टर हैं जो एलर्जी का इलाज करने के लिए कई महीनों का वक्त लगा देते हैं। होम्योपैथी (Homeopathy) और आयुर्वेद (Ayurveda) में काफी समय लगता है लेकिन ये परेशानी को जड़ से ही खत्म कर देते हैं।

ये बात सच है कि एलोपैथी (Allopathy) में बीमारियों का इलाज जल्दी हो जाता है लेकिन उससे कई बार अन्य विकार होने की संभावना रहती है। ऐसे में एक बड़ा सवाल ये है कि इंसान ऐसा क्या करे कि उसको ऐसी कोई परेशानी ना पेश आए और वो बेहतर महसूस करे और साथ ही उसका खून भी साफ हो जाए। खून से इम्प्योरिटी (Blood Impurities) को दूर करने के लिए जो उपाय हम आपको बताने वाले हैं वो आपके बेहद काम आएगा।

खून को साफ़ करेगा ये इकलौता आसान सा तरीका: Khoon Ko Saaf Karega Ye Iklauta Aasaan Sa Tarika

नीम का करें इस्तेमाल: Use Neem to clean blood in Hindi

शरीर में जितने भी कीटाणु हैं वो नीम के सामने बेअसर हैं। नीम को गुणों का भंडार कहा जाता है। इसकी छाल, जड़, फल और पत्तियाँ सभी सेहत के लिए लाभकारी हैं। ऐसे में एक बड़ा सवाल ये है कि इनमें से किस चीज का सेवन करके आप शरीर के अंदर खून से इम्प्योरिटी यानी गंदगी को हटा सकते हैं।

नीम की पत्तियों का इस तरह करें इस्तेमाल: Use neem leaves in this manner to get results in Hindi

जब आप नीम की बात करते हैं तो इसकी पत्तियों को औषधि माना जाता है। इसमें भी दो प्रकार की पत्तियाँ होती हैं। एक वो जो हरी होती हैं और एक वो जिनका रंग कुछ ज्यादा ही गाढ़ा होता है। अगर आपको नार्मल हरे रंग की पत्तियाँ मिल जाएं तो उनका सेवन करें और अगर वो ना मिलें तो ही आप गाढ़े हरे रंग वाली पत्तियों का सेवन करें।

इनका सेवन खाली पेट करना है और कम से कम पाँच पत्तियों का सेवन करना है। अब ये आप एक साथ कर सकते हैं या एक एक पत्ती का सेवन कर सकते हैं। आप पाँच से ज्यादा पत्तियों का भी सेवन कर सकते हैं। अगर आप खाली पेट पाँच पत्तियों का सिर्फ पाँच दिन भी सेवन करेंगे तो वो एक अच्छी शुरुआत होगी। वैसे तो आप इसका सेवन सालभर कर सकते हैं।

नीम की पत्तियों के फायदे: Benefits of Neem Leaves in Hindi

नीम की पत्तियों के सेवन से आपके शरीर का खून साफ हो जाता है। चूँकि इसमें किसी भी बाहरी तत्व का इस्तेमाल नहीं होता है इसलिए ये बेहद लाभकारी होता है। चेहरे पर पिम्पल्स हों या फोड़े एवं फुंसी, शरीर में खुजली हो या फिर आलस की आदत हो, ये सब इसके सेवन से दूर हो जाती हैं। दोपहर में अगर नींद आने की परेशानी हो तो आप खाली पेट पाँच पत्तियों का सेवन करें और आपको दोपहर में नींद नहीं आएगी।

नीम की पत्तियों के नुकसान: Side effects of Neem Leaves in Hindi

वैसे तो इसके कोई साइड इफेक्ट नहीं हैं लेकिन अगर आपको हल्का सा भी कड़वा खाने में तकलीफ हो या कोई और परेशानी हो तो फिर आप इसका सेवन ना करें। ये आपकी तरफ से लिया गया एक गलत फैसला होगा क्योंकि जब नीम का कोई साइड इफेक्ट नहीं है तो इसका इस्तेमाल क्यों ना किया जाए।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Amit Shukla
Be the first one to comment