Create
Notifications

बैठने से पीठ दर्द को कैसे दूर करें- Baithne se peeth dard ko kaise door karen

बैठने से पीठ दर्द को कैसे दूर करें
बैठने से पीठ दर्द को कैसे दूर करें
Ritu Raj

How to Relieve Back Pain from Sitting in hindi: पीठ के निचले हिस्से में दर्द की समस्या से लगभग हर कोई गुजरा होता है। जब हम बैठते हैं तो इस दर्द का अनुभव उस दौरान तेज होता है। निचले हिस्से में दर्द की वजह कई हो सकती है। झटका, खिंचाव, ज्यादा भारी सामान उठाने से, गलत सोने के साथ ही कई अन्य कारण हैं। इस समस्या को अनदेखा नहीं करना चाहिए। वरना आगे चलकर ये समस्या बढ़ सकती है। ऐसे में आज हम बात करेंगे, बैठने से पीठ दर्द को कैसे दूर करें।

बैठने से पीठ दर्द को कैसे दूर करें

सक्रिय रहना (stay active to Relieve Back Pain)

बैठने से पीठ दर्द को कैसे दूर करने के लिए सबसे अच्छा तरीका है सक्रिय रहना। अपनी बॉडी को एक्टिव रखें।

हॉट-कोल्ड थेरेपी (Hot-cold therapy for Back pain)

पीठ के निचले हिस्से में दर्द की समस्या कम नहीं हो रही है, तो फिर हॉट और कोल्ड थेरेपी ले सकते हैं। ये दोनों ही बेहद लाभकारी हैं। इनकी मदद से इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं। इसके लिए आप चाहे तो गर्म पानी से नहा सकते हैं या फिर बोतल में भर कर दर्द वाली जगह पर सिकाई कर सकती है।

स्ट्रेचिंग और व्यायाम (stretching and exercise)

व्यायाम और स्ट्रेच पीठ के निचले हिस्से को मजबूत बनाने और दर्द को रोकने में मदद कर सकते हैं। कोर, या पेट, मांसपेशियों पर काम करने पर, ध्यान केंद्रित करने वाली दिनचर्या भी पुरानी पीठ के निचले हिस्से के दर्द से तेजी से ठीक होने में मदद कर सकती है। इसके लिए तैराकी या फिर टहलना भी फायदेमंद होता है।

भुजंगासन/कोबरा पोज (Bhujangasana/Cobra Pose for back pain)

भुजंगासन को कोबरा पोज कहते हैं। ये योग कमर दर्द की समस्या से छुटकारा दिलाने में काफी मदद कर सकता है। अगर आप नियमित रूप से इसे करते हैं, तो बहुत जल्द ही कमर दर्द की समस्या दूर हो सकती है। इसको करने के लिए पेट के बल लेट जाएं और अपने दोनों हाथों को सीने के पास रखें और उसके सहारे गहरी सांस लेते हुए अपने सीने को ऊपर उठाएं। नियमित रूप से इसे करने से काफी लाभ मिल सकता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Ritu Raj

Comments

Fetching more content...