Create
Notifications

मैदा खाने के नुकसान : Maida Khane Ke Nuksan

मैदा खाने के नुकसान (source - sportskeeda hindi)
मैदा खाने के नुकसान (source - sportskeeda hindi)
Vineeta Kumar
visit

यदि आप कभी बेकरी गए हैं या पास्ता, भटूरे, बिस्कुट, मैग्गी, पिज़्ज़ा, बर्गर, चाऊमीन, मोमोस खाए है, तो संभव है कि आपने मैदा का सेवन कभी न कभी जीवन में किया हैं। मैदा (White flour) एक अत्यधिक परिष्कृत पदार्थ है जिसका उपयोग विभिन्न प्रकार के प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों और पके हुए माल में किया जाता है क्योंकि यह हल्का, हवादार और सस्ता होता है। दुर्भाग्य से, मैदे के पोषक तत्व पूरी तरह से छीन लिए जाते हैं, वस्तुतः कोई विटामिन, मिनरल या फैट्स मौजूद नहीं होते हैं।

मैदा हमारे आहार का हिस्सा बनता जा रहा है और यह हमारे स्वास्थ्य को काफी प्रभावित करता है। यह समझना बहुत जरूरी है कि मैदा हमारे स्वास्थ्य के लिए खराब क्यों है और इसे कम मात्रा में खाना चाहिए।

मैदा खाने के नुकसान : Maida Khane Ke Nuksan In Hindi

1. एसिडिटी (Acidity)

शोधन की प्रक्रिया के दौरान, सभी पोषक तत्व हटा दिए जाते हैं और मैदा अम्लीय (acidic) प्रकृति का हो जाता है। अम्लीय खाद्य पदार्थों में उच्च आहार जैसे फास्ट फूड अन्य सफेद आटे के उत्पाद शरीर को हड्डियों से कैल्शियम खींचने के लिए मजबूर करते हैं जो बदले में हड्डियों के घनत्व को प्रभावित करता है। अधिक एसिडिटी, पुरानी सूजन के प्राथमिक कारणों में से एक है, जो गठिया और अन्य पुरानी बीमारियों का कारण बन सकती है।

2. पाचन संबंधी समस्याएं (Digestive issues)

मैदे को "ग्लू ऑफ़ द गट" कहा गया है। आज की दुनिया में मैदे से बहुत सारा खाना बनता है और यह सब अक्सर आंतों में जम जाता है। इसमें फाइबर नहीं होता है, यह सिस्टम को कंजस्ट करता है, पाचन को धीमा कर देता है जो एक सुस्त मेटाबॉलिज्म बनाता है और अक्सर वजन बढ़ने, तनाव, सिरदर्द, माइग्रेन और कब्ज पैदा कर सकता है।

3. पोषक तत्वों की कमी (Nutrient deficient)

मैदे को आमतौर पर परिष्कृत किया जाता है इसलिए भीतरी रोगाणु परत और बाहरी चोकर हटा दिए जाते हैं। इस प्रक्रिया में, अधिकांश फाइबर और आवश्यक पोषक तत्व जैसे विटामिन (Vitamin) और मिनरल (Mineral) और फाइटोकेमिकल्स (phytochemicals) नष्ट हो जाते हैं। इसके अलावा, ब्लीचिंग प्रक्रिया रसायनों का उपयोग करके की जाती है जो मैदे को अपना विशिष्ट सफेद रंग देता है।

4. एल-सिस्टीन (L-cysteine)

यह एक नॉन-एसेंशियल अमीनो एसिड है जो बेक किये हुए पदार्थ जैसे पिज्जा का बेस, कुकीज़ और फास्ट फूड बन्स में जोड़ा जाता है।

5. मधुमेह पैदा करने वाला घटक (Diabetes causing ingredient)

इसमें एलोक्सन (alloxan) होता है जो आपके शरीर पर नकारात्मक प्रभाव डालता है। यह अग्न्याशय (pancreas) की बीटा-सेल्स को नष्ट करता है और शरीर के लिए विषैला भी होता है। यह एक संदूषक के रूप में भी जाना जाता है जो मधुमेह का कारण बन सकता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Vineeta Kumar
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now