Create
Notifications

पान खाने के 6 फायदे-Paan Khane Ke 6 Fayde

पान खाने के 6 फायदे(फोटो-Sportskeeda hindi)
पान खाने के 6 फायदे(फोटो-Sportskeeda hindi)
Rakshita Srivastava

पान के पत्ते (Betel leaf) को खाने के अलावा पूजा-पाठ में इस्तेमाल किया जाता है। पान खाने में थोड़ी कसैली होती है। लेकिन क्या आप जानते हैं, पान का सेवन स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। पान खाने से कई बीमारियां दूर होती है। क्योंकि पान में एंटी-इंफ्लामेटरी, एंटी-इंफेक्टिव, एंटी-सेप्टिक गुण पाए जाते हैं। साथ ही पान में विटामिन-सी, थियामिन, राइबोफ्लेविन, नियासिन और केरोटिन जैसे तत्व मौजूद होते हैं। जानिए पान खाने के क्या-क्या फायदे होते हैं।

पान खाने के 6 फायदे (Paan Khane Ke 6 Fayde In Hindi)

पेट के लिए फायदेमंद

पान का सेवन पेट के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। इसके सेवन से पेट संबंधी कई बीमारियां दूर होती है। साथ ही पाचन तंत्र भी मजबूत होता है और कब्ज (Constipation) जैसी समस्या से भी छुटकारा मिलता है।

माउथ फ्रेशनर का करता है काम

पान में कई ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो बैक्टीरिया के प्रभाव को कम करते हैं। इसलिए इसके सेवन से मुंह की दुर्गंध जैसी समस्याओं से छुटकारा मिलता है। पान माउथ फ्रेशनर (Mouth Freshner) का भी काम करता है।

सर्दी-खांसी की शिकायत होती है खत्म

पान सर्दी-खांसी (Cold And Cough) जैसी बीमारी को ठीक करने में काफी फायदेमंद साबित होता है। अगर किसी को सर्दी-खांसी की शिकायत हो, तो उसे पान के पत्तों को पानी में उबालकर सेवन करना चाहिए।

मसूड़े के लिए फायदेमंद

मसूड़े में खून आने पर भी पान का सेवन काफी लाभदायक साबित होता है। अगर किसी को मसूड़े में दर्द या खून आने की शिकायत हो, तो उसे पान को चबा चबाकर खाना चाहिए। इससे दांत भी मजबूत होते हैं।

मुंह के छाले होते है ठीक

मुंह में छाले (Mouth Ulcer) की शिकायत होने पर पान का सेवन काफी फायदेमंद माना जाता है। अगर किसी को मुंह में छाले की शिकायत हो, तो उसे पान चबाकर खाना चाहिए। इससे मुंह के छाले से छुटकारा मिल जाता है।

एसिडिटी की शिकायत होती है खत्म

पान के सेवन से एसिडिटी (Acidity) की शिकायत से छुटकारा पाया जा सकता है। अगर किसी को एसिडिटी की शिकायत हो, तो उसे रोजाना पान का सेवन करना चाहिए।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Rakshita Srivastava

Comments

Fetching more content...