Create

PCOS भी बन सकता है महिलाओं में दिल की बीमारियों का कारण : PCOS Ban Sakta Hai Mahilaon Mei Dil Ki Bimari Ka Karan 

PCOS भी बन सकता है महिलाओं में दिल की बीमारियों का कारण (फोटो - sportskeeda hindi)
PCOS भी बन सकता है महिलाओं में दिल की बीमारियों का कारण (फोटो - sportskeeda hindi)

आज के समय में लोगों में दिल से जुड़ी बीमारियों का सबसे बड़ा कारण धूम्रपान, शराब का सेवन, मोटापा और डायबिटीज की समस्या और खराब लाइफस्टाइल को माना जाता है। लेकिन महिलाओं में PCOS के कारण दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। आज के समय में महिलाओं में PCOS यानी पॉलीसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम की समस्या तेजी से बढ़ रही है। जानते हैं महिलाओं में पीसीओएस के कारण दिल से जुड़ी बीमारियों के खतरे और PCOS और दिल की बीमारियों के बीच संबंध के बारे में।

PCOS की समस्या और दिल की बीमारी के बीच संबंध (PCOS Effects on Heart Health in Hindi)

पीसीओएस यानी पॉलीसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम महिलाओं में हॉर्मोन के असंतुलित होने की बीमारी है। इसके कारण महिलाओं में अनियमित पीरियड्स, चेहरे पर बाल उगना, डिप्रेशन, तनाव जैसी कई गंभीर समस्याएं हो सकती हैं। इस समस्या में शरीर में हॉर्मोन का असंतुलन होता है और इसकी वजह से स्ट्रेस बढ़ता है, मरीज को मानसिक समस्याओं का सामना करना पड़ता है जो हार्ट को गंभीर रूप से प्रभावित करता है।

PCOS से बचाव के टिप्स (PCOS Prevention Tips in Hindi)

पीसीओएस के कारण लोगों में टाइप 2 डायब‍िटीज का खतरा बढ़ सकता है। इसे जीवनशैली से जुड़ा रोग माना जाता है क्‍योंक‍ि वजन बढ़ने के कारण, अनहेल्‍दी खाने के कारण आद‍ि आदतों से ये बीमारी होती है। पीसीओएस का इलाज करने के लिए कम कार्ब वाली चीजें खानी चाह‍िए और अपनी डाइट में ऐसी चीजों को शाम‍िल करना चाह‍िए ज‍िसमें कम ग्‍लाइसेम‍िक इंडेक्‍स हो।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।+-

Edited by Naina Chauhan
Be the first one to comment