Create
Notifications

हथेली में पसीना आने की समस्या को दूर करने के उपाय : Hatheli mein pasina aane ki samasya ko dur karne ke upay

हथेली में पसीना आने की समस्या को दूर करने के उपाय (फोटो - Sportskeeda hindi)
हथेली में पसीना आने की समस्या को दूर करने के उपाय (फोटो - Sportskeeda hindi)
Shilki

कई बार कुछ लोगों को हथेली में पसीना आने की समस्या होती है। कभी-कभी हथेली में पसीना (Sweating) आना सामान्य बात होती है, लेकिन अगर भरी ठंड में भी हथेली में पसीना आए तो यह सामान्य नहीं है। कई लोगों मे यह दिक्कत हमेशा बनी रहती है। कई बार इसका कारण लो ब्लड प्रेशर (Low blood pressure) और तनाव का कारण भी होता है। हथेलियों में ज्यादा पसीना हाइपरहाइड्रोसिस (Hyperhidrosis) बीमारी का कारण भी हो सकता है। हाइपरहाइड्रोसिस होने के पीछे कई कारण हो सकते हैं। ये जेनिटिक भी हो सकती है। हाइपरहाइड्रोसिस से पीड़ित लोगों में पसीने की ग्रंथियां ज्यादा सक्रिय रहती हैं। इसलिए ऐसे लोगों को पसीना ज्यादा आता है।

हथेली में पसीना आने की समस्या को दूर करने के उपाय

नींबू के छिलके से करें पसीने का इलाज (Treat sweating with lemon peel) - हांथो के पसीने के लिए नींबू के छिलके बहुत कारगर उपाय है। नींबू के छिलको का हथेली पर घिसने से पसीने की समस्या बहुत हद तक कम की जा सकती है। नींबू में एंटीबैक्टीरीयल गुण होते हैं जो हथेली में बनने वाले बैक्टीरिया को खत्म करते हैं ।

टैल्कम पाउडर का करें उपयोग (Use talcum powder) - हांथो मे जब भी पसीना आए तो टेलकम पाउडर का उपयोग करें। टैल्कम पाउडर को हथेली पर लगा के रखें इससे पसीने से राहत मिलेगी। आप टैल्कम पाउडर को कहीं जाते वक्त अपने साथ बैग में भी रख सकती हैं।

एलोवेरा जेल (Aloe vera gel) - एलोवेरा जेल में एंटी इंफ्लेमेटरी और शीतलन गुण पाए जाते हैं. ये सनबर्न, दाने, संक्रमण, रेडनेस और खुजली को शांत करने में मदद करता है. इसके एंटीफंगल गुण दाने और रैशेज को कम करने में मदद कर सकते हैं. इस जेल को लगाने से त्वचा को हाइड्रेट रखने में मदद मिलती है। इसलिए एलोवेरा जेल का इस्तेमाल जिन लोगों को हथेली में पसीना आता हो, उन्हें भी करना चाहिए। इससे ठंडक मिलेगी और पसीने से राहत।

एप्पल साइडर विनेगर (Apple cider vinegar)- नारियल का तेल और एप्पल साइड विनेगर को साथ में मिलाकर हथेली पर लगाने से पसीना आना बहुत कम हो सकता है। दरअसल एप्पल साइडर विनेगर में एसिटिक एसिड की मात्रा काफी ज्यादा होती है, जिसमें कई विटामिन, एंजाइम, प्रोटीन और लाभ पहुंचाने वाले बैक्टीरिया मौजूद होते हैं। इसलिए जब इसको हाथों में मलते हैं तो यो खराब बैक्टीरिया को खत्म करता है।

बेकिंग सोडा (Baking soda) - बेकिंग सोडा और गर्म पानी को मिलाएं और इसमें 10 मिनट तक पानी में अपने हाथों को डुबोकर रखिए । फिर इस घोल से हाथ को निकाल के कुछ देर बाद, सादे पानी से हाथ धोलें, ऐसा करने से कई घंटो तक आपके हाथों में पसीना नहीं आएगा।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Shilki

Comments

Fetching more content...