Create
Notifications

सीने में जलन के कारण: seene me jalan ke kaaran

फोटो: news18
फोटो: news18
Amit Shukla

सीने में जलन एक बेहद आम परेशानी है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि लोग अपने खानपान का ध्यान नहीं रखते हैं। सेहत में होने वाले छोटे से बदलाव से शरीर पर बड़ा बदलाव होता है और ये सभी आपके खाने पीने से सीधे ताल्लुख़ रखते हैं। अगर आपकी सेहत अच्छी है और आपको कोई परेशानी नहीं हुई है तो ये अच्छी बात है लेकिन अगर आप सही तरह से खाना नहीं खा रहे हैं तो परेशानी होना तय है।

ये भी पढ़ें: कोलेस्ट्रॉल कम करने का रामबाण इलाज: Cholesterol ko kam karne ka ilaaj

ऐसे में जरूरी है कि आप अपने खाने पीने का ध्यान रखें क्योंकि बदलते समय के साथ खाना ही जीवन में सभी खुशियों की कुंजी है। अगर आप अच्छा महसूस नहीं कर रहे हैं तो आप चाहे कुछ भी खाएं उससे आपको कोई फायदा नहीं होगा। ऐसे में जरूरी है कि आप खुद पर ध्यान दें और उसके लिए खाने पर ध्यान देना सबसे महत्वपूर्ण है।

ये भी पढ़ें: benefits of walking for good mental Health: सुबह-शाम इसलिए चलना चाहिए पैदल

ये कोशिश करें कि आप ज्यादा तला भुना ना खाएं और कोई भी ऐसा भोजन ना करें जो आपकी सेहत को खराब कर सकता हो। ऐसे कई लोग हैं जिनको तीखा नहीं पसंद होता है क्योंकि कुछ भी तीखा खाते ही उन्हें पेट में परेशानी महसूस होती है। अगर आप भी उन लोगों में हैं तो अपनी सेहत का ध्यान रखें क्योंकि एक परेशानी आपको डॉक्टर की क्लीनिक तक ले जा सकती है।

ये भी पढ़ें: सर के बाल की लंबाई को बढ़ाने के लिए इनको अपने खानपान का हिस्सा बनाएं

सीने में जलन के कारण

सीने में जलन को रोकने के लिए आप इन आदतों को जीवन का हिस्सा बनाएं:

सिगरेट पीना बंद करें - अगर आप सिगरेट पीते हैं तो वो सीने में जलन का एक कारण हो सकता है। सिगरेट में मौजूद तत्व सेहत के लिए अच्छे नहीं होते हैं। अगर आप इसे छोड़ने का प्रयास करेंगे तो आपको सफलता भी मिलेगी और अच्छा भी महसूस होगा।

बढ़ा हुआ वजन - एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत में लगभग 72 प्रतिशत लोग मोटापे से जूझ रहे हैं। अगर आप भी उन लोगों में हैं जिन्हें मोटापे के कारण जिंदगी में अपना वजन जरूरत से ज्यादा लगता है तो अब समय है उसे ठीक स्तर पर ले आने का प्रयास करने का क्योंकि ये सीने में जलन का एक प्रमुख कारण है।

तीखा खाना बंद करें - तीखा एक सीमा तक ही खाना चाहिए क्योंकि शरीर में मौजूद ग्रंथियाँ सिर्फ सेहत को बेहतर करने के लिए हैं। अगर आप तीखा खाते हैं तो आप खुद के शरीर की ग्रंथियों को नुकसान पहुँचा रहे हैं। इससे आपको नुकसान होगा और ये कहीं से भी सही नहीं है।


Edited by Amit Shukla

Comments

Fetching more content...