Create

आलूबुखारा के 4 उपयोग, 5 फायदे और 2 नुकसान- Alubukhara Ke Upyog, Fayde Aur Nuksan

आलूबुखारा के उपयोग, फायदे और नुकसान(फोटो-Sportskeeda hindi)
आलूबुखारा के उपयोग, फायदे और नुकसान(फोटो-Sportskeeda hindi)
Rakshita Srivastava

आलूबुखारा (Plum) एक फल है, जो खाने में खट्टा मीठ और काफी स्वादिष्ट लगता है। लेकिन क्या आप जानते हैं ये फल सिर्फ स्वाद में ही भरपूर नहीं होता है बल्कि आलूबुखारा औषधीय गुणों से भी भरपूर होता है। आलूबुखारा का सेवन करने से स्वास्थ्य संबंधी कई परेशानियां दूर होती है। क्योंकि आलूबुखारा में विटामिन ए, के, कैल्शियम, मैग्नीशियम, फोस्फोरस, कॉपर, आयरन, पोटेशियम और फाइबर भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। जो स्वास्थ्य के लिहाज से काफी लाभदायक साबित होते हैं। लेकिन आलूबुखारा का अधिक मात्रा में सेवन नहीं करना चाहिए, क्योंकि अधिक सेवन स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकता है। आइए जानते हैं आलूबुखारा के क्या-क्या फायदे और नुकसान होते हैं।

आलूबुखारा के 4 उपयोग, 5 फायदे और 2 नुकसान

आलूबुखारा के उपयोग

1- आलूबुखारा का जूस बनाकर पिया जा सकता है।

2- आलूबुखारा की चटनी बनाई जा सकती है।

3- आलूबुखारे को काटकर सलाद, दही, स्मूदी में मिलाकर खाया जा सकता है।

4- सूखे आलूबुखारे को सीधे तौर पर खाया जा सकता है।

आलूबुखारा के फायदे

1- ह्रदय (Heart) शरीर का महत्वपूर्ण अंग है, इसलिए इसको स्वस्थ रखना जरूरी होता है। ह्रदय को स्वस्थ रखने के लिए आलूबुखारा का सेवन काफी फायदेमंद साबित होता है। क्योंकि आलूबुखारा एंटी ऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर होता है, जो ह्रदय रोगों के जोखिम को कम करने में मदद करता है।

2- कैंसर (Cancer) जैसी घातक बीमारी के खतरे को कम करने के लिए आलूबुखारा का सेवन काफी फायदेमंद साबित होता है। क्योंकि आलूबुखारा में एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं, जो पेट, मुंह और ब्रेस्ट कैंसर के खतरे को कम करने में मदद करते हैं।

3- जिन लोगों की इम्यूनिटी (Immunity) कमजोर होती है, उनका शरीर आसानी से किसी भी वायरस और बैक्टीरिया की चपेट में आ जाता है। लेकिन अगर आप आलूबुखारा का सेवन करते हैं, तो इससे इम्यूनिटी मजबूत होती है। क्योंकि आलूबुखारा में विटामिन सी की भरपूर मात्रा पाई जाती है।

4- आलूबुखारा का सेवन ब्लड प्रेशर (Blood Pressure) वाले मरीजों के लिए काफी फायदेमंद साबित होता है। क्योंकि आलूबुखारा में पोटैशियम मौजूद होता है, जो ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में मददगार साबित होता है।

5- आलूबुखारा का नियमित सेवन करने से पाचन (Digestion) क्रिया बेहतर रहती है। क्योंकि आलूबुखारा में फाइबर पाया जाता है, जो पाचन तंत्र को मजबूत बनाकर पाचन संबंधी बीमारियों को दूर करने में मदद करता है।

आलूबुखारा के नुकसान

1- जिन लोगों को गुर्दे में पथरी (Stone) की शिकायत है, उन्हें आलूबुखारा का सेवन नहीं करना चाहिए।

2- आलूबुखारा का अधिक मात्रा में सेवन करने से पेट में सूजन और गैस की शिकायत हो सकती है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Rakshita Srivastava

Comments

Fetching more content...