Create

वात रोग का देसी इलाज : Vaat Rog Ka Desi Ilaj

वात रोग का देसी इलाज (फोटो - myupchar)
वात रोग का देसी इलाज (फोटो - myupchar)

आज के समय में लोगों की खराब लाइफस्टाइल और खानपान की वजह से शरीर के 'त्रिदोषों' पर असर पड़ रहा हैं। बता दें कि व्यक्ति का शरीर तीन एनर्जी वात, पित्त और कफ से मिलकर बना है। अगर यह इनबैलेंस हो गए तो आप तमाम बीमारियों के शिकार हो जाते हैं। आपने देखा होगा कई लोग ऐसे होते हैं जो अक्सर बीमार पड़ जाते हैं। एक बीमारी ठीक नहीं हुई कि दूसरी शुरू हो जाती है। इसके पीछे का कारण ये सब वात,पित्त और कफ का बैलेंस बिगड़ने से होता है।

वात दोष हवा से जुड़ा होता है। वात व्यक्ति के शरीर में ब्लड का फ्लो ठीक रखने में मदद करता है। इसके साथ ही यह किसी पोषक तत्व की कमी न हो वह वात काम करता है। इस दोष की वजह से व्यक्ति को घुटने में दर्द होना, हड्डियों में कैविटी, शरीर में तेज दर्द, पैर में ऐंठन होना, स्किन का रफ होना, शरीर कमजोर होना शामिल है। जानते हैं वात रोग (vata dosha treatment )का इलाज।

वात रोग का देसी इलाज : Vaat Rog Ka Desi Ilaj In Hindi

1 . वात रोग के इलाज के लिए हरसिंगार, पारिजात , निरगुंडी और एलोवेरा का जूस पीना चाहिए।

2 . हल्दी मेथी और सौंठ का पाउडर बनाकर पीने से वात रोग में लाभ होता है।

3 . लौकी का जूस पीने से लाभ होता है।

4 . नाशपती का सेवन करने से पेट की सभी समस्याओं से निजात।

5 . वात से ग्रसित लोग रात को दही और छाछ न खाएं। दोपहर में दही खा सकते हैं।

6 . फ्रेश एलोवेरा जूस का सेवन करें, लाभ होगा।

7 . मुलेठी को थोड़ा सा लेकर मुंह में डालकर चूस लें। ऐसा करने से वात रोग में लाभ मिलता है।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Naina Chauhan
Be the first one to comment